Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,944,783
मामले (भारत)
179,349,385
मामले (दुनिया)
×

पोस्ट कोड  556ः  सफल अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र जारी करने पर रोक

पोस्ट कोड  556ः  सफल अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र जारी करने पर रोक

- Advertisement -

लेखराज धरटा/शिमला। प्रदेश प्रशासनिक ट्रिब्यूनल ने जूनियर ऑफिस असिस्टेंट (Junior Office Assistant) (पोस्ट कोड 556) के सफल अभ्यर्थियों (Successful Candidates) को नियुक्ति पत्र (Appointment letter) जारी करने पर रोक लगा दी है। ट्रिब्यूनल अध्यक्ष न्यायाधीश वीके शर्मा ने प्रार्थी सपना ठाकुर व अन्यों द्वारा दायर याचिका की सुनवाई के पश्चात सरकार को आदेश दिए कि वह जूनियर ऑफिस असिस्टेंट (पोस्ट कोड 556) के मामले में नियुक्ति पत्र जारी करने पर यथा स्थिति बरकरार रखें। ट्रिब्यूनल (Tribunal) में इन मामलों पर अगली सुनवाई 7 मार्च को होगी।

यह भी पढ़ें:  बिग ब्रेकिंगः अढ़ाई साल बाद भरे JOA पोस्ट कोड 556 के पद, फाइनल रिजल्ट घोषित

उल्लेखनीय है कि हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग (Himachal Pradesh Staff Selection Commission) ने शनिवार 23 फरवरी को जूनियर ऑफिस असिस्टेंट (Junior Office Assistant) (पोस्ट कोड 556) का अंतिम परिणाम करीब अढ़ाई साल बाद घोषित किया था। आयोग ने 1156 पदों के लिए ली गई इस परीक्षा में 596 अभ्यर्थियों को सफल घोषित किया था जबकि शेष अभ्यर्थीयों को अयोग्य घोषित कर दिया गया। प्रार्थियों के अनुसार आयोग को जल्दबाजी में इस पोस्ट कोड के परिणाम घोषित नहीं करने चाहिए थे, क्योंकि इस पोस्ट कोड के मामले अदालतों में लंबित है। ट्रिब्यूनल ने इन मामलों में मुख्य सचिव को प्रतिवादी बनाते हुए आयोग व मुख्य सचिव को नोटिस जारी कर एक सप्ताह के भीतर स्पष्टीकरण मांगा है। प्रार्थियों का आरोप है कि आयोग ने परिणाम बनाते समय न्यूनतम योग्यता की आड़ में कम्प्यूटर शिक्षा में उच्च डिग्रियां व डिप्लोमा प्राप्त अभ्यर्थियों को अयोग्य घोषित कर दिया। आयोग ने विभिन्न संस्थाओं से मान्यता प्राप्त डिग्री व डिप्लोमा धारकों को भी बिना कारण अयोग्य घोषित कर दिया है। इसके परिणामस्वरूप लिखित व टाइपिंग परीक्षा में उनसे कम अंक हासिल करने वाले अभ्यर्थियों का चयन कर लिया गया।
ट्रिब्यूनल में पहले से लंबित याचिकाओं में आरोप लगाया गया है कि जूनियर ऑफिस असिस्टेंट के पदों को भर्ती एवं पदोन्नति नियमों के विपरीत भरा जा रहा है। हाईकोर्ट ने इन पदों को भरने के लिए जारी विज्ञापन के तहत दर्शाए गए भर्ती एवं पदोन्नति नियमों के अनुरूप ही भरने को कहा था और ट्रिब्यूनल को इन मामलों का निपटारा मैरिट के आधार पर करने के आदेश पारित किए थे। इससे पहले की इन मामलों पर मैरिट के आधार पर फैसला आता, कर्मचारी चयन आयोग ने इस भर्ती परीक्षा का परिणाम घोषित कर दिया। प्रार्थियों के अनुसार आयोग के सचिव ने अदालत की अवमानना भी की है। अतः उनके खिलाफ अवमानना का मामला भी दायर किया जाएगा। ट्रिब्यूनल में इन मामलों पर फैसला 7 मार्च को होगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है