Covid-19 Update

2,05,874
मामले (हिमाचल)
2,01,199
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,579,651
मामले (भारत)
197,642,926
मामले (दुनिया)
×

औचक निरीक्षण में खामियां, संयुक्त निदेशक उच्च शिक्षा सख्त

औचक निरीक्षण में खामियां, संयुक्त निदेशक उच्च शिक्षा सख्त

- Advertisement -

Flaws In Surprise Inspections: दिशा-निर्देशों के बावजूद अधूरे परफोर्मा पर संस्थानों की निरीक्षण रिपोर्ट भेजी

Flaws In Surprise Inspections: धर्मशाला। सरकारी शैक्षणिक संस्थानों में शिक्षा विभाग द्वारा किए जा रहे औचक निरीक्षण में खामियों का लेकर संयुक्त निदेशक उच्च शिक्षा ने सख्ती दिखाई है। शैक्षणिक संस्थानों में तय दिशा-निर्देशों के अनुसार रिपोर्ट नहीं पेश करने पर संयुक्त निदेशक ने सभी उच्च शिक्षा उपनिदेशकों (निरीक्षण) को दोबारा अपने खर्चे पर शैक्षणिक संस्थानों का निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं। जानकारी के अनुसार संयुक्त निदेशक ने जारी पत्र में कहा है कि सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के बावजूद भी अधूरे परफोर्मा पर शैक्षणिक संस्थानों की निरीक्षण की रिपोर्ट भेजी है, जो नियमों की उल्लंघना है। इस पत्र में कहा गया है कि कुछ उच्च शिक्षा उपनिदेशक (निरिक्षण) स्वयं ही निरीक्षण पर जा रहे हैं, जबकि उन्हें उपलब्ध स्टाफ को लेकर निरीक्षण करना चाहिए।

वहीं, बच्चों की लिखने और पढ़ने की क्षमता के मूल्यांकन को लेकर भी लापरवाही बरती गई है और कई अन्य विशेषताओं को भी दरकिनार कर रिपोर्ट भेजी गई है, जो सीधे तौर पर दर्शाए गए दिशा-निर्देशों का उल्लंघन है। संस्थानों में फंड जारी होने और उसके इस्तेमाल को लेकर भी रिपोर्ट में कई खामियां हैं। स्कूलों को एसएसए, आरएमएसए, राज्य बजट, लोगों से मिलने वाली डोनेशन को लेकर भी कोई सही जानकारी नहीं दी गई है। कैश बुक और लेजर की स्थिति भी किसी निरीक्षण रिपोर्ट में शामिल नहीं की गई है।


उच्च शिक्षा उपनिदेशकों (निरीक्षण) को अपने खर्चे पर निरीक्षण को कहा

एमएस और ओई के तहत खरीदे गए फर्नीचर, अचल संपत्तियां और स्टॉक का ब्यौरा भी सही ढंग से नहीं दिया गया है। वहीं, संबंधित संस्थान के प्रमुख का नोट भी निरीक्षण रिपोर्ट से गायब है। निरीक्षण के दौरान दिए गए परफोर्मा को आधा अधूरा भरा गया है, जिसे लेकर संयुक्त निदेशक उच्च शिक्षा ने सख्ती दिखाई है। लिहाजा आदेशों की सही ढंग से अनुपालना नहीं करने के लिए उन सभी उच्च शिक्षा उपनिदेशकों (निरीक्षण) को निर्देश दिए हैं कि अब उन्हें दिए गए परफोर्मा पर दोबारा इंस्पेक्शन रिपोर्ट बना कर भेजनी होगी, वो भी अपने खर्चे पर।

संयुक्त निदेशक उच्च शिक्षा ने स्पष्ट किया है कि दोबारा निरीक्षण के लिए किसी भी प्रकार का टीए डीए नहीं दिया जाएगा। वहीं, इस बारे उच्च शिक्षा उपनिदेशक के के गुप्ता का कहना है कि संयुक्त निदेशक कार्यालय से निर्देश प्राप्त हुए हैं। इन आदेशों के तहत निरीक्षण स्टाफ को आगामी कार्रवाई करने के लिए कहा गया है।

यह भी पढ़ें – शर्मनाकः Medical Officer Health ने की महिला कर्मचारी से छेड़छाड़

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है