Covid-19 Update

1,35,782
मामले (हिमाचल)
99,400
मरीज ठीक हुए
1925
मौत
22,992,517
मामले (भारत)
159,607,702
मामले (दुनिया)
×

JP University में पढ़ रहे हमीरपुर के छात्र ने पंखे से लटककर किया Suicide, गुस्साए छात्रों ने विवि में तोड़ी गाड़ियां

JP University में पढ़ रहे हमीरपुर के छात्र ने पंखे से लटककर किया Suicide, गुस्साए छात्रों ने विवि में तोड़ी गाड़ियां

- Advertisement -

दयाराम कश्यप/ सोलन। जेपी यूनिवर्सिटी में तीसरे सेमेस्टर में पढ़ने वाले हमीरपुर के छात्र ने पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली है। सूचना मिलते ही कंडाघाट थाने से पुलिस टीम ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। बता दें कि हमीरपुर के समीरपुर का अनमोल ठाकुर (20) पुत्र राकेश ठाकुर जेपी यूनिवर्सिटी में तीसरे सेमेस्टर में पढ़ता था। वह यहां पेइंग गेस्ट के रूप में रहता था।


आज सुबह युवक ने रस्सी के सहारे अपने कमरे में लगे फंसे से लटक कर आत्महत्या कर ली। कंडाघाट पुलिस को इसकी सूचना करीब 12 बजे मिली। सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंची और मामले की जांच शुरू कर दी। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है और पोस्टमार्टम करवाने की प्रक्रिया पूरी की जा रही है।

वहीं, युवक के पिता राकेश ठाकुर ने यूनिवर्सिटी प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया है। एसपी सोलन मोहित चावला ने युवक द्वारा आत्महत्या किए जाने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि युवक ने यह कदम क्यों उठाया, इसका तो अभी तक पता नहीं चल पाया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। शव का पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा। 

गुस्साए छात्रों ने जेपी यूनिवर्सिटी में बोला हल्ला

वहीं, छात्र की मौत के बाद जेपी यूनिवर्सिटी में माहौल तनावपूर्ण हो गया। सैकड़ों छात्रों ने यूनिवर्सिटी में हंगामा कर दिया। इस दौरान छात्रों ने गाड़ियों के शीशे भी तोड़ दिए। सूचना मिलते ही पुलिस दल मौके पर पहुंच गया है और स्थिति पर काबू पाते हुए जेपी यूनिवर्सिटी प्रबंधन व छात्रों के बीच बातचीत चली हुई है। बताया जा रहा है कि छात्र निदेशक व एक डॉक्टर को सस्पेंड किए जाने की मांग कर रहे हैं। यह मांग छात्र लंबे अरसे कर रहे हैं, लेकिन छात्र की मौत के बाद छात्रों के सब्र का बांध टूट गया और उन्होंने हंगामा कर दिया। प्रदर्शनकारी छात्रों ने विवि प्रबंधन को छात्र की मौत का कारण करार दिया है। सूत्रों की माने तो यह युवक अनमोल ठाकुर बीटेक तीसरे सेमेस्टर का छात्र था, जिसे विश्विद्यालय प्रशासन से डिटेंन किया हुआ था, जिसकी वजह से वह विश्वविद्यालय में अपनी रजिस्ट्रेशन को लेकर मानसीक रूप से काफी परेशान था। जोकि आत्महत्या करने का अहम कारण माना जा रहा है । छात्र के पिता ने बताया कि अगर विश्वविद्यालय ने उसे डिटेंन किया था, तो उसकी जानकारी उन्हें दी जानी चाहिए थी। अगर विश्वविद्यालय प्रशासन सही समय पर उन्हें जानकारी देता तो उनके बेटे की जान बच सकती थी।

Car की चपेट में आने से घायल हुए मासूम ने PGI में तोड़ा दम

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है