×

देश में पहली बार कालिया मुर्गे की शादी सुंदरी से, कलेक्टर को न्योता

देश में पहली बार कालिया मुर्गे की शादी सुंदरी से, कलेक्टर को न्योता

- Advertisement -

रायपुर। अभी तक आपने बारिश करने के लिए मेंढक-मेंढकी के बीच शादी करने के चलन के बारे में ही सुना होगा। लेकिन छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में एक मुर्गे कालिया की शहदी आज सुंदरी नाम की मुर्गी से हो रही है। शादी के लिए आमंत्रित 250 से ज्यादा लोगों में कलेक्टर भी शामिल हैं। देश में पहली बार इस तरह की शादी हो रही है। असल में ये सारा तामझाम राज्य में कड़कनाथ मुर्गों को बढ़ावा देने के लिए किया गया है। कड़कनाथ मुर्गों का जीआई टैग एमपी के पास है, लेकिन छत्तीसगढ़ के आदिवासी भी मुर्गे की इस ख़ास प्रजाति पर अपने हक जताते रहे हैं।


शादी की रस्म हीरानार में लुदरू व कासोली में मुर्गी की शादी की रस्म सुकालू के घर में होगी। शुक्रवार सुबह से ही दोनों ही घरों में महुआ, आम के पत्तों का छप्पर व टहनियों से मंडप सजाया गया। गोबर से आंगन को लीपकर रंगोली बनाई गई। महिलाओं ने कालिया को गोद में बैठाकर हल्दी लगाई। इसके बाद ग्रामीणों ने भी हल्दी खेली। नगाड़ों-शहनाइयों की थाप पर कालिया को गोद में लेकर महिलाओं ने पारंपरिक नृत्य भी किया। इस अनोखी शादी को देखने न केवल हीरानार कड़कनाथ हब बल्कि ग्राम हीरानार व कासोली के ग्रामीण भी आए थे। वहीं कसोली में सुंदरी को भी देर शाम महिलाओं ने हल्दी लगाई। बारात 5 मई को दंतेवाड़ा एसबीआई चौक से कालिया की बारात निकलेगी। यहां ई-रिक्शा चलाने व कड़कनाथ पालन करने वाली महिलाएं पहुंचेंगी। इसकी विशेषता यह रहेगी कि महिलाएं ई-रिक्शा में मुर्गों को बैठाकर बारात में शामिल होंगी।

ताकि देश के लोग जानें…

कालिया कड़कनाथ के पिता लुदरूराम कड़कनाथ ने कहा कि कड़कनाथ मुर्गा की शादी की रस्म देशभर में पहली बार हो रही है। यह सिर्फ इसलिए कि देश के लोग ये जान सकें कि दंतेवाड़ा में भी कड़कनाथ का पालन किसान कर रहे हैं। यह आजीविका का सबसे बड़ा स्त्रोत है।

बारात में डीएम भी होंगे

पिछले सप्ताह कालिया और सुंदरी की सगाई हुई है। इस शादी में डीएम और पुलिस अधिकारियों के साथ 250 से अधिक लोगों को आमंत्रण भेजा गया है। इस शादी में 150 से अधिक पोल्ट्री संगठनों के लोग शामिल होंगे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है