Covid-19 Update

2,00,282
मामले (हिमाचल)
1,93,850
मरीज ठीक हुए
3,423
मौत
29,881,965
मामले (भारत)
178,960,779
मामले (दुनिया)
×

मध्य प्रदेश में बीजेपी की जीत बनी कमलनाथ सरकार के लिए संजीवनी बूटी

मध्य प्रदेश में बीजेपी की जीत बनी कमलनाथ सरकार के लिए संजीवनी बूटी

- Advertisement -

नई दिल्ली। लोकसभा चुनावों में बीजेपी की प्रचंड जीत के बाद से मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार (kamalnath govt) पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं, लेकिन क्या आप को इस बात का तनिक भी अंदाजा है कि बीजेपी (BJP) की यही जीत कमलनाथ सरकार के लिए संजीवनी बूटी का काम कर सकती है। दरअसल हुआ कुछ यूं हैं मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के रतलाम से बीजेपी विधायक (MLA) लोकसभा चुनाव में विजयी होकर सांसद (MP) बन गए। जिसके कारण अब विधायक जीएस दामोर को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ेगा। जिसका प्रभाव ये पड़ेगा कि यहां विधानसभा में कांग्रेस की स्थिति थोड़ी और मजबूत हो जाएगी।

यह भी पढ़ें :- ‘राहुल का कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटना होगा आत्मघाती, फंस जाएंगे BJP के जाल में’

बता दें कि अब समीकरण कुछ ऐसा बन रहा है कि अगर दामोर विधायक पद से इस्तीफा देते हैं तो विधानसभा में संख्याबल 229 का हो जाएगा (कुल 230 सीटे हैं)। यह स्थिति कम से कम अगले छह महीने तक रहनी है, जबकि झाबुआ सीट पर उपचुनाव होना है। ऐसे में कांग्रेस के पास 115 विधायकों के संख्याबल के साथ विधानसभा में पर्याप्त सीटें होंगी और उसे फिलहाल बाहर से किसी के समर्थन की जरूरत नहीं पड़ेगी। वहीं इस मसले पर विपक्ष के नेता भार्गव कहते हैं, ‘इस बात की अब कोई संभावना नहीं है। वे (कांग्रेस) खुद डरे हुए हैं। हमें कुछ करने की जरूरत ही नहीं है। उनके भीतर ही दिग्गज कांग्रेसी नेताओं के बीच टकराव जारी है और जब यह खुलकर सामने आएगा तो सरकार खुद ही गिर जाएगी।’



हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है