Covid-19 Update

2,27,195
मामले (हिमाचल)
2,22,513
मरीज ठीक हुए
3,831
मौत
34,587,822
मामले (भारत)
262,656,063
मामले (दुनिया)

कंट्रोवर्सी से हिमाचली गर्ल का है गहरा नाता: ‘पद्म श्री’ कंगना का आजादी पर कुतर्क, जानें विवादित बयानों की हिस्ट्री

वरूण गांधी ने कंगना के आजादी वाले बयान पर कहा- गांधी का किया अपमान

कंट्रोवर्सी से हिमाचली गर्ल का है गहरा नाता: ‘पद्म श्री’ कंगना का आजादी पर कुतर्क, जानें विवादित बयानों की हिस्ट्री

- Advertisement -

नई दिल्ली। बॉलीवुड क्वीन कंगना रनौत (Kangna Ranaut) ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। उनका यह बयान सुनकर लोग उन्हें व्हाट्सएप यूनिवर्सिटी में प्रोफेसरी ज्वाइन करने की सलाह दे रहे हैं। आज हम आपको ‘पद्म श्री’ कंगना रनौत के उन कथित ज्ञान से वाकिफ करवाते हैं, जिसे देकर वे सुर्खियों में आई हैं। आप इतिहास में गोते लगाने से पहले पद्म श्री कंगना का प्रजेंट टाइम्स में दिया बयान पढ़ लें। एक सम्मिट के दौरान कंगना रनौत ने कहा कि देश को 1947 में आजादी भीख में मिली थी और देश को असली आजादी साल 2014 में मिली।

कोरोना काल में पद्म श्री का ज्ञान

कोरोना काल की दूसरी लहर में यूपी के पूर्वांचल इलाके और बिहार के बक्सर जिले में गंगा नदी में उतराती मिली सैंकड़ों लाशों को पद्म श्री कंगना रनौत ने नाजीरिया का बताया था। उन्होंने अपने कैप्शन में लिखा, ‘यह फर्जी तस्वीर नाइजीरिया की है, जोकि गंगा बताकर वायरल की जा रही है।

कांग्रेस के हैंडल से यह तस्वीरें वायरल हो रही है जोकि बिल्कुल भी मासूम नहीं है।’ वहीं, उन्होंने कहा था कि इन दिनों एक तस्वीर वायरल हो रही है जिसमें गंगा नदी में लाशे तैरती हुई दिख रही हैं, अभी पता चला कि वह नाइजीरिया की हैं। ये सब यहां के ही लोग हमारी पीठ में छुरा भोंक रहे हैं।”

ऋतिक रौशन पर लगाए थे गंभीर आरोप

साल 2016 में कंगना ने कहा था कि वे ऋतिक रोशन को डेट कर रही थी। फिल्म कृष 3 की शूटिंग के दौरान वे दोनों बेहद करीब आ गए थे। दोनों रिलेशनशिप में थे। ऋतिक रौशन ने उनसे शादी का वादा भी किया था, लेकिन बाद में इस रिश्ते को अपनाने से इनकार कर दिया था। जबकि ऋतिक ने इन दावों को झूठा बता दिया था। जिसके बाद टीवी पर एक इंटरव्यू में कंगना कई बातें कही, जो लंबे वक्त तक बॉलीवुड की गॉशिप में शुमार रही।

डायरेक्टर व प्रड्यूसर करण जौहर को बताया मूवी माफिया

कॉफी विद करण शो में तो उन्होंने करण जौहर को ऑन शो मूवी माफिया कह दिया था। कंगना ने कहा कि करण नेपोटिजम के फ्लैग बियरर हैं और मूवी माफिया हैं। जिसके बाद बॉलीवुड में तकरार बढ़नी शुरू हो गई।

आत्महत्या को मर्डर बताया

कंगना ने एक वीडियो जारी कर कहा था कि सुशांत ने आत्महत्या नहीं की है, बल्कि उनकी हत्या की गई है। उन्होंने ट्वीट कर कहा था कि जरूर सुशांत इंडस्ट्री के कुछ ऐसे राज जानता था जिसकी वजह से उसकी हत्या की गई है, मैं यह खुलासे कर ना सिर्फ अपना करियर बल्कि जिंदगी खतरे में डाल रही हूं, मुझे सरकार से सुरक्षा चाहिए।

महाराष्ट्र को बता दिया पीओके

उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि महाराष्ट्र पीओके की तरह है। उनके इस बयान के बाद जबरदस्त विवाद हुआ था और बाद में बीएमसी ने कंगना के ऑफिस को विवादित ढांचा बताते हुए तोड़ दिया गया था।

ट्विटर ने किया बैन

कंगना ट्विटर पर बैन होने से पहले खूब एक्टिव रहती थी। इंस्टाग्राम से पहले वे ट्विटर पर लंबी लंबी फेंकती थी। उन्होंने अपने एक ट्वीट में कहा था कि पीएम मोदी को साल 2002 वाला अपना विराट रूप दिखाना चाहिए ताकि वह ममता बनर्जी को समझा सकें। उनके इस ट्वीट के बाद ट्विटर के नियमों के उल्लंघन को लेकर उनका ट्विटर हमेशा के लिए बैन करवा दिया गया।

पागलपन या देशद्रोह 

बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने कंगना रनौत के बयान की वीडियो की क्लीप के साथ लिखा कि कभी महात्मा गांधी जी के त्याग और तपस्या का अपमान, कभी उनके हत्यारे का सम्मान, और अब शहीद मंगल पाण्डेय से लेकर रानी लक्ष्मीबाई, भगत सिंह, चंद्रशेखर आज़ाद, नेताजी सुभाष चंद्र बोस और लाखों स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानियों का तिरस्कार. इस सोच को मैं पागलपन कहूं या फिर देशद्रोह?

गिरफ्तार करने की मांग 

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री व एनसीपी नेता नवाब मलिक ने अभिनेत्री कंगना रणौत के आजादी वाले बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि हम अभिनेत्री कंगना रणौत के बयान की कड़ी निंदा करते हैं। उन्होंने स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान किया है। केंद्र को उनसे पद्मश्री वापस लेना चाहिए और उन्हें गिरफ्तार करना चाहिए।

देश का अपमान फिर भी मिल रहा पद्म सम्मान 

वहीं कांग्रेस नेता वीरेंद्र वशिष्ठ ने कंगना के बयान पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने लिखा कि भारत की आज़ादी की लड़ाई में जो लोग गांधी, सुभाष और भगत सिंह की शान्ति और क्रान्ति की विचारधारा के साथ अंग्रेज़ी हुकूमत से लड़ रहे थे वे सभी 15 अगस्त 1947 को आज़ाद हो गए थे। अभिनेत्री कंगना कह रही है की आज़ादी 2014 में मिलीं। देश का अपमान फिर भी मिल रहा हैं पद्म सम्मान।

 

 

- Advertisement -

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है