Covid-19 Update

2,06,027
मामले (हिमाचल)
2,01,270
मरीज ठीक हुए
3,505
मौत
31,653,380
मामले (भारत)
198,295,012
मामले (दुनिया)
×

एशियन गेम्स : इन अनजान से खेल में 2 ब्रांज जीते हैं कर्नाटक की मालाप्रभा ने

एशियन गेम्स : इन अनजान से खेल में 2 ब्रांज जीते हैं कर्नाटक की मालाप्रभा ने

- Advertisement -

जकार्ता। यहां खेले जा रहे 18 वें एशियन गेम्स में कर्नाटक की एक खिलाड़ी ने अनजान से खेल में ब्रांज जीकर देश का सीना चौड़ा किया है। यह खेल है कुराश। इसके बारे में भारत में भी बहुत कम लोग जानते हैं। यहां तक कि ब्रांज जीतने वाली मलाप्रभा जाधव के किसान पिता को भी इस खेल की जानकारी नहीं है।

मालाप्रभा ने 52 किलो वर्ग में ब्रॉन्ज मेडल जीता। वे सेमीफाइनल में उज्बेकिस्तान की खिलाड़ी से मुकाबला हार गई। इससे पहले उन्होंने 28 अगस्त को भी ब्रॉन्ज जीता था। गौर करने वाली बात ये है कि मलाप्रभा के पिता को इस खेल की जानकारी तक नहीं है।


क्या होता है कुराश?

कुराश भारत के देसी खेल पहलवानी जैसा ही है। कुराश रेसलिंग के लिए उपयोग होने वाले तुर्की टर्म में से एक है। ये उजबेकिस्‍तान से निकली पारंपरिक मार्शल आर्ट शैली है। कुराश में न तो कमर से नीचे पकड़ा जाता है और न ही हिट और किक मारी जाती है। कुराश में ग्राउंड रेसलिंग नहीं होती, न इसमें आर्मलॉक्‍स किया जाता है और न ही इसमें चोकिंग तकनीक का इस्‍तेमाल किया जाता है।

खेल के नियम

इस खेल में खिलाड़ी को अपने विपक्षी को ग्राउंड पर थ्रो करना होता है। अगर वो अपने विपक्षी को उसके बैक पर मजबूती से थ्रो करता है तो इसे हलाल कहा जाता है और उसे बाउट का विजेता घोषित कर दिया जाता है। मुकाबला पुरुषों के लिए चार मिनट और महिला खिलाड़ी के लिए तीन मिनट का होता है।

अगर खिलाड़ी अपने विपक्षी को उसकी तरफ थ्रो करता है तो उसे योनबोश अंक दिया जाता है और दो योनबोश से मिलकर एक हलाल बनता है। मुकाबले का लोअर अंक चाला होता है, जब खिलाड़ी अपने विपक्षी को उसकी ही तरफ हल्‍के से थ्रो करता है। जिस भी खिलाड़ी के सबसे ज्‍यादा अंक होते हैं, उसे विजेता घोषित किया जाता है।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है