Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,571,295
मामले (भारत)
197,365,402
मामले (दुनिया)
×

पत्थरबाजों पर नकेल, 300 Whatsapp Group हुए बंद

पत्थरबाजों पर नकेल, 300 Whatsapp Group हुए बंद

- Advertisement -

stone-pelters: उधमपुर। घाटी में इंटरनेट सेवाएं बंद करने के बाद 300 Whatsapp Group बंद हुए हैं। कश्मीर में पत्थरबाजों को बुलाने और उन्हें एकत्रित करने के लिए इन व्हाट्स एप ग्रुप्स का इस्तेमाल होता था। लेकिन अब पुलिस ने इन ग्रुप्स के खिलाफ कार्रवाई करना शुरु कर दिया है। पत्थरबाजों के लिए संचालित 300 से ज्यादा व्हाट्स एप ग्रुप्स में से 90 फीसदी तक बंद हो चुके हैं। एक पुलिस अधिकारी ने बताया है कि हर एक ग्रुप्स में तकरीबन 250 सदस्य थे।

stone-pelters: सुरक्षा बलों के अभियानों को बाधित करने के लिए जुटाई जाती थी भीड़

अधिकारी ने बताया कि कैसे पथराव करने वाली भीड़ को मुठभेड़ स्थलों पर जुटाकर सुरक्षा बलों के अभियानों को बाधित करने का प्रयास किया जा रहा है। इनमें से 90 फीसदी ग्रुप्स के खिलाफ कार्रवाई की जा चुकी है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि ऐसे ग्रुप्स की पहचान कर उनके एडमिन और सदस्यों को बुलाया जा रहा है। इस पहल में पुलिस को अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। उन्होंने कहा कि इंटरनेट बंद कर देने से पत्थरबाजी की घटनाओं के बंद होने में सकारात्मक नतीजे देखने को मिल रहे हैं।


बिगड़ते हालात को लेकर पीएम से मिलेंगी महबूबा

जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती दिल्ली में पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मिलकर घाटी में बिगड़ते हालात को लेकर चर्चा करेंगी। वहीं केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर में महबूबा सरकार से सख्त नाराज है। बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार राज्य में कानून व्यवस्था के लगातार खराब होते हालात के बीच दूसरे विकल्पों पर विचार कर रही है। महबूबा सरकार से समर्थन वापसी के हालात में राज्य में राज्यपाल शासन लगाने और नए गवर्नर की नियुक्ति समेत तमाम विकल्पों पर भी विचार चल रहा है।

पत्थरबाजी की घटनाएं बढ़ीं, घाटी में School-College बंद

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है