Covid-19 Update

1,61,072
मामले (हिमाचल)
1,24,434
मरीज ठीक हुए
2348
मौत
24,965,463
मामले (भारत)
163,750,604
मामले (दुनिया)
×

#Farmer’s_Protest : खाप पंचायत ने भी किया #Delhi कूच, बोले – सरकार नहीं मानी तो नहीं भेजेंगे दूध-फल-सब्जी

किसान नेता घर-घर जाकर लोगों से कर रहे दिल्ली चलने की अपील

#Farmer’s_Protest : खाप पंचायत ने भी किया #Delhi कूच, बोले – सरकार नहीं मानी तो नहीं भेजेंगे दूध-फल-सब्जी

- Advertisement -

गुरुग्राम। कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली कूच पर निकले किसानों का आंदोलन उग्र रूप लेने वाला है। इस प्रदर्शन का सीधा असर दिल्लीवासियों पर पड़ने वाला है। हरियाणा (Haryana) के जींद में खाप पंचायतों (Khap panchayats) ने दिल्ली कूच शुरू कर दिया है। पंचायतों का कहना है कि अगर 3 दिसंबर को सरकार से बात नहीं बनती है, तो फिर वो दिल्ली जाने वाले फल, दूध, सब्जियों की सप्लाई बंद कर देंगे। यहां किसान नेता घर-घर जाकर लोगों से दिल्ली चलने की अपील कर रहे हैं। उधर, दिल्ली-यूपी बॉर्डर (Delhi-UP border) पर आज किसानों ने फिर बैरिकेड्स गिरा दिए। वे दिल्ली के जंतर-मंतर में प्रदर्शन पर अड़े हुए हैं। महामाया फ्लाईओवर से होते हुए किसान सेक्टर-14 चिल्ला जाना चाह रहे थे तो पुलिस ने उन्हें रोका। जब किसान नहीं माने तो पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में ले लिया।


यह भी पढ़ें: #Farmer’s_Protest: किसानों की सरकार से बैठक बेनतीजा रहने के बाद, दिल्ली यात्रा करने वालों को ये पढ़ लेना चाहिए

 


 

सिंधु और टिकरी बॉर्डर के साथ-साथ नोएडा चिल्ला बॉर्डर को भी सील कर दिया गया। चिल्ला बॉर्डर की ओर से बड़ी संख्या में किसान दिल्ली में प्रवेश करने की कोशिश कर रहे हैं। मंगलवार को दिल्ली के विज्ञान भवन में किसान संगठन के नेताओं और केंद्र सरकार के बीच बातचीत हुई, लेकिन इसमें कोई ठोस नतीजा नहीं निकला। अब तीन दिसंबर को एक बार फिर वार्ता होगी।उधर, चंडीगढ़ में यूथ कांग्रेस और NSUI ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर खट्टर के खिलाफ हल्ला बोल दिया है। यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं की डिमांड है कि सीएम को किसानों से माफी मांगनी चाहिए, जिस तरह हरियाणा में किसानों पर बल प्रयोग किया गया है वो गलत है। इस दौरान पुलिस ने यूथ कांग्रेस के लोगों पर पानी की बौछारों का इस्तेमाल किया।

किसानों ने दिल्ली और हरियाणा की जनता से मांगी माफी

सिंधु बॉर्डर पर बैठे किसानों ने दिल्ली और हरियाणा की जनता से माफी मांगी है। उन्होंने कहा कि वह दिल्ली और हरियाणा की जनता से माफी मांगते हैं क्योंकि उनकी वजह से रास्ते बंद हो गए हैं जिससे आम लोगों को परेशानी हो रही है। वहीं, किसानों ने जनता से शुक्रिया भी कहा है कि उनके आंदोलन में लोग उनकी मदद कर रहे हैं। लोग उन्हें खाना उपलब्ध कराने से लेकर अपने घरों तक का इस्तेमाल करने की इजाजत दे रहे हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है