Covid-19 Update

1,42,510
मामले (हिमाचल)
1,04,355
मरीज ठीक हुए
2039
मौत
23,340,938
मामले (भारत)
160,334,125
मामले (दुनिया)
×

गरमाएगी Dharmashala की राजनीति, तेज होगी जुबानी जंग

गरमाएगी Dharmashala की राजनीति, तेज होगी जुबानी जंग

- Advertisement -

धर्मशाला। चुनावी वर्ष में पूरे प्रदेश की राजनीति धीरे-धीरे गरमा रही है और अब धर्मशाला विधानसभा क्षेत्र भी इस गरमाहट से अछूता नहीं रहा है। कुछ समय पहले यहां पर विपक्ष यानी बीजेपी नजर ही नहीं आ रही थी। ऐसा लग रहा था कि स्थानीय विधायक एवं प्रदेश सरकार में शहरी विकास, आवास और नगर नियोजन मंत्री सुधीर शर्मा के सामने बीजेपी बौनी होकर रह गई है। जैसे ही धर्मशाला को शीतकालीन राजधानी बनाने की बात उठी, मानो उससे निष्क्रिय पड़ी बीजेपी में अचानक से जान आ गई।


  • किशन कपूर कर रहे सुधीर पर सीधे हमले, जवाब में उतरे सुधीर के समर्थक 

यहां से पूर्व विधायक और बीजेपी के वरिष्ठ नेता किशन कपूर अचानक काफी अधिक सक्रिय हो गए। अब हालात यह हैं कि कभी कभार मौजूदा मंत्री के खिलाफ बात करने वाले कपूर आए दिन नए सवालों से मंत्री को घेर रहे हैं और धर्मशाला की जनता को गुमराह करने के आरोप लगा रहे हैं।


किशन कपूर द्वारा जारी हमले और भी तेज होंगे इसके संकेत खुद किशन कपूर ने भी दे दिए हैं। कपूर की खामोशी से धर्मशाला के बीजेपी कार्यकर्ता भी पशोपेश में थे और शायद यही वजह थी की धर्मशाला में बीजेपी में नेतृत्व परिवर्तन की बातें आम हो गईं थीं। कभी जेपी नड्डा तो कभी किसी और के यहां से चुनाव लड़ने की भी अटकलें अक्सर लगाई जा रही थीं, लेकिन अब कपूर के इस आक्रामक रुख के बाद यह अटकलें नजर ही नहीं आ रहीं। बीजेपी कार्यकर्ताओं में भी एक नया जोश देखने को मिल रहा है और इसका नजारा बुधवार को मंडल कार्यसमिति की बैठक में उपस्थित भीड़ देखकर सामने आया। बीजेपी की बैठकों में कार्यकर्ताओं की इतनी भीड़ एक लंबे समय बाद देखने को मिली। बीजेपी के लिए यह एक सुखद पहलू होगा, तो कहीं न कहीं कांग्रेस के लिए खतरे का संकेत है। किशन कपूर के आरोपों पर फिलहाल सुधीर शर्मा खामोश हैं, लेकिन उनके समर्थक कपूर को जवाब देने के लिए आगे आए हैं। कपूर जहां धर्मशाला में विकास नहीं होने की बात दोहरा रहे हैं तो वहीं सुधीर समर्थकों ने भी कपूर को धरातल पर हुए कार्य देखने की चुनौती दी है। इस सबसे साफ़ है कि आने वाले समय में धर्मशाला में बीजेपी और कांग्रेस के बीच जुबानी जंग और तेज होगी और धर्मशाला की राजनीति और अधिक गरमाएगी।

सुधीर शर्मा जब से बैजनाथ छोड़कर धर्मशाला आए हैं तब से उन्होंने सिर्फ एक बार ही सीधे तौर पर किशन कपूर पर हमला बोला था। धर्मशाला को नगर निगम घोषित करने के विरोध के बाद बीजेपी नगर निगम चुनावों को जब सत्ता का सेमीफाइनल मानकर चल रही थी, तब सुधीर शर्मा ने पहली बार कपूर पर प्रत्यक्ष तौर पर निशाना साधा था। वह पहली मर्तबा था जब हमेशा मुस्कुराने वाले सुधीर शर्मा का चेहरा गुस्से से तमतमा उठा था और उन्होंने बीजेपी नेता पर तीखे शब्दबाण छोड़े थे। सुधीर के उस रुख का असर नगर निगम चुनावों में भी देखने को मिला और बीजेपी धर्मशाला में सत्ता का यह सेमीफाइनल बुरी तरह हार गई। अब जिस तरह से सुधीर पर आरोपों की झड़ी लग रही है उससे सुधीर का वही रूप जल्द ही एक बार फिर सामने आने की उम्मीद है। जिस दिन भी यह होगा निश्चित तौर पर धर्मशाला की राजनीति में नई हलचल जरूर होगी। ऐसा कब होगा यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा मगर फिलहाल तो बीजेपी तकरीबन हर दिन नए जोश के साथ यहां कांग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोलती नजर आ रही है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है