Covid-19 Update

59,118
मामले (हिमाचल)
57,507
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,228,288
मामले (भारत)
117,215,435
मामले (दुनिया)

कभी फास्ट बॉलर बनना चाहते थे सचिन, लिली की सलाह के बाद बन गए ‘भगवान’

कभी फास्ट बॉलर बनना चाहते थे सचिन, लिली की सलाह के बाद बन गए ‘भगवान’

- Advertisement -

नई दिल्ली। क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) कभी फ़ास्ट बॉलर बनना चाहते थे लेकिन ऑस्ट्रेलिआई (Australian) फ़ास्ट बॉलर डेनिस लिली (Dennis Lillee) की सलाह ने उन्हें मास्टर ब्लास्टर और क्रिकेट का ‘भगवान’ बना दिया। एक फ़ास्ट बॉलर बनने की तमन्ना दिल में लिए सचिन मुंबई (Mumbai) से चेन्नई (Chennai) एमआरएफ पेस एकेडमी में डेनिस लिली के पहुंचे। लिली ने उन्हें बॉलिंग के वजाए बल्लेबाजी पर ध्यान देने को कहा और यहीं से सचिन ने नई शुरुआत कर क्रिकेट की दुनिया में नई बुलंदियों को छुआ।

यह भी पढ़ें- बजरंग पूनिया ने एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप में जीता गोल्ड

मास्टर ब्लास्टर सचिन आज 24 अप्रैल को अपना 46वां जन्मदिन (Birthday) मना रहे हैं। ऐसे में हम आपको उनकी जिंदगी की कुछ महत्वपूर्ण उपलब्धियों के बारे में बताने जा रहे हैं।

सचिन ने सिर्फ 12 साल की उम्र में की उम्र में अंडर-17 हैरिस शील्ड में अपने स्कूल की ओर से खेलते हुए पहला शतक लगाया था। 14 साल की उम्र में सचिन ने विनोद कांबली के साथ 664 रनों की पार्टनरशिप कर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था। हाल ही में सचिन ने बिना आउट हुए 207, 329 और 346 का स्कोर बनाया।

यह भी पढ़ें- इस बल्लेबाज ने 25 गेंदों में ठोका शतक, 39 बॉल में बनाए 147 रन

15 साल की उम्र में सचिन ने तत्कालीन बंबई के लिए फर्स्ट क्लास में अपने डेब्यू (Debout) मैच के दौरान शतक (Century) जड़ा था। उन्होंने 16 साल की उम्र में पाकिस्तान (Pakistan) के खिलाफ कराची (1989) में टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) में डेब्यू किया। 17 साल की उम्र में उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में इंग्लैंड (England) के खिलाफ 1990 का ओल्ड ट्रैफर्ड टेस्ट हार से बचाते हुए अपना पहला शतक जमाया।

सचिन साल 2000 तक 50 इंटरनेशनल शतक (International Centuary) बनाने वाले पहले बल्लेबाज हैं। उन्होंने 2003 के वर्ल्ड कप (World cup) में 673 रन बनाए, यह रिकॉर्ड वर्ल्ड कप के इतिहास का सबसे बड़ा रिकॉर्ड है। सचिन ने साल 2008 में टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने के मामले में ब्रायन लारा (Brian Lara) को भी पीछे छोड़ा है। उन्होंने 2009 में 14,000 टेस्ट रन, 30,000 इटरनेशनल रन और 90 अंतरराष्ट्रीय शतक पूरे किए हैं।

यह भी पढ़ें- आईपीएल में चौथी बार अकड़ा स्टंप, गेंद लगी पर न बेल्स गिरीं न स्टंप उखड़े

36 साल की उम्र में उन्होंने वनडे इंटरनेशनल का पहला दोहरा शतक जमाकर इतिहास रचा। दिसंबर 2012 में सचिन वनडे से रिटायर हो गए। इससे पहले उन्होंने 100 इंटनेशनल शतकों का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Like करें हिमाचल अभी अभी का Facebook Page…. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है