Covid-19 Update

59,032
मामले (हिमाचल)
57,473
मरीज ठीक हुए
984
मौत
116,748,718
मामले (भारत)
11,192,088
मामले (दुनिया)

क्या है शरीर में कैल्शियम की कमी के लक्षण, पहचानें  

क्या है शरीर में कैल्शियम की कमी के लक्षण, पहचानें  

- Advertisement -

कैल्शियम (Calcium) को आमतौर पर हड्डियों (Bones) की हेल्थ से ही जोड़ा जाता है। अमूमन महिलाओं के शरीर में आमतौर पर तीस की उम्र के बाद कैल्शियम कम होने लगता है और उन्हें कई बीमारियां भी घेर लेती है। इसमें हड्डियों की कमजोरी, थकान और हड्डियों का भुरभुराना प्रमुख है।  हड्डियों के टूटने-भुरभुराने को औस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis) कहते हैं। अब सवाल यह है कि  क्या कैल्शियम की जरूरत सिर्फ हड्डियों के लिए ही होती है। सच तो यह है कि कैल्शियम हमारी एक-एक कोशिका (Cell) के लिए जरूरी है। अगर हमारे शरीर में कैल्शियम की कमी हो जाती है, तो इसका हमारे शरीर पर बहुत विपरीत प्रभाव पड़ता है। कैल्शियम की कमी किसी भी उम्र में व किसी भी इंसान को हो सकती है। शरीर में कैल्शियम की कमी के कारण कुछ लक्षण (Symptoms) दिखने लगते हैं, जिनके चलते आसानी से पता चल सकता है कि आप कैल्शियम की कमी के शिकार हो रहे हैं..

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Chennel…

– जब हमारे हाथ पैर सुन्न होने लगते हैं और थोड़ी देर के लिए एक जगह पर बैठ जाते हैं, तो हमारे पैरों और हाथों में सुन्नपन महसूस होता है। यह कैल्शियम की कमी के कारण होता है।

-हमारे दांत भी कमजोर होकर टूटने और हिलने लग जाते हैं। वहीं कैल्शियम की कमी के कारण हमें परेशानी अनुभव होने लगती है। हमारे मसूड़ों में कमजोरी आ जाती है और वे सूज जाते हैं।

-हमारी हड्डियां कमजोर हो जाती हैं और चलने या बैठने के वक्त उन में आवाज आने लग जाती हैं। नाखून भी टूटने लग जाते हैं। अगर हमारे शरीर में कैल्शियम की कमी है तो हमारे नाखूनों पर सफेद-सफेद निशान भी दिखाई देने लगते हैं।

-हमारी त्वचा रूखी-सूखी दिखाई देने लगती है. इसकी कमी से हमारी त्वचा पर खुजली भी होती है।  व्यक्ति का स्वभाव भी चिड़चिड़ा हो जाता है।

-कैल्शियम की कमी का हमारे बालों पर भी अत्यधिक प्रभाव पड़ता है।  इसकी कमी से हमारे बाल रूखे हो जाते हैं और टूटने लगते हैं।

– हमें थकान महसूस होती है और हमारा पूरा शरीर दर्द करता रहता है। व्यक्ति हमेशा तनाव में रहता है। हम अच्छी नींद भी नहीं ले पाते हैं।

– अगर बच्चों में कैल्शियम की कमी होती है तो बच्चों को बार-बार खांसी, जुकाम, बुखार आदि की शिकायत रहती है। अगर लंबे समय तक कैल्शियम की बनी रहे, तो मोतियाबिंद और औस्टिओपोरोसिस का खतरा बढ़ सकता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group … … 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है