Covid-19 Update

58,645
मामले (हिमाचल)
57,332
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,111,851
मामले (भारत)
114,541,104
मामले (दुनिया)

भारत की इस जगह में है एशिया का सबसे बड़ा Red Light Area, दर्द भरी है बच्चियों की कहानी

भारत की इस जगह में है एशिया का सबसे बड़ा Red Light Area, दर्द भरी है बच्चियों की कहानी

- Advertisement -

सोनागाछी। भारत एक विशाल देश है, जिसके पास कई वर्ल्ड रिकॉर्ड (World Records) भी हैं, लेकिन भारत के पास कई ऐसे रिकॉर्ड भी हैं, जो भारत के लिए एक धब्बा भी हैं। आज बात करते हैं उसी की। भारत ही नहीं बल्कि एशिया (Asia) के सबसे बड़े रेड लाइट एरिया (Largest Red Light Area) की जहां मात्र 12 से 17 की उम्र में की बच्चियों को ही वैश्या बना दिया जाता है। ये जगह है कोलकाता (Kolkata) में और इसका नाम सोनागाछी (Sonagachi)। सोनागाछी का मतलब होता है सोने का पड़े, लेकिन ये जगह लड़कियों (Girls) के लिए अभिशाप से कम नहीं है।

यह भी पढ़ें: इस गांव में मर्द पहनते हैं औरतों के कपड़े, जानिए क्या है इसके पीछे की वजह

सोनागाछी के रेड लाइट एरिया पर बॉर्न इंटू ब्रॉथेल्स नाम के एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म भी बनाई गई थी। ये फिल्म 2005 में सर्वश्रेष्ठ डॉक्यूमेंट्री का पुरस्कार भी जीत चुकी है। बताया जाता है कि यहां पर महज 12 से 17 साल की उम्र में ही लड़कियों को वैश्वावृति के धंधे में उतार दिया जाता है। इसके अलावा सोनागाछी के इस स्लम एरिया मे किसी बाहरी व्यक्ति की एंट्री नहीं चाहे कोई पत्रकार हो या फोटोग्राफर।

जानकारी के अनुसार स्लम एरिया की 12 हजार लड़कियां देह व्यापार में शामिल हैं, जिनकी उम्र अभी 18 साल से कम है। कहा जाता है कि इस जगह पर पैदा होने वाली लड़की पैदाइश से ही वैश्या बन जाती है। भले ही देह व्यापार के लिए देश में बहुत से कानून हों, लेकिन एक सच्चाई सोनागाछी जैसी जगह की भी हैं जहां पढ़ने-लिखने की उम्र में बच्चियां वैश्यावृति के धंधे में उतरने को मजबूर हैं।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है