Covid-19 Update

2,00,043
मामले (हिमाचल)
1,93,428
मरीज ठीक हुए
3,413
मौत
29,821,028
मामले (भारत)
178,386,378
मामले (दुनिया)
×

Lockdown में सुंदरनगर फंसा कोलकाता का परिवार तीन माह बाद नम आंखों से हुआ विदा- जाने क्यों

Lockdown में सुंदरनगर फंसा कोलकाता का परिवार तीन माह बाद नम आंखों से हुआ विदा- जाने क्यों

- Advertisement -

सुंदरनगर। लॉकडाउन के कारण पिछले तीन माह से सुंदरनगर (Sundernagar) में फंसे कोलकाता के एक परिवार (family of kolkata) को जब वापस अपने घर जाने का मौका मिला तो परिवार के चेहरे पर खुशी कम और दुख ज्यादा था। यह दुख यहां के लोगों के बिछड़ने का था। तीन महीनों के बाद आज यह परिवार सरकार और प्रशासन के प्रयासों के बाद अपने घर के लिए रवाना हुआ। बता दें कि पश्चिम बंगाल के कोलकाता निवासी स्वजल मंडल का परिवार तीन महीने पहले हिमाचल (Himachal) घूमने आया था, लेकिन लॉकडाउन (Lockdown) के कारण यहीं पर फंस गया। दो महीनों से अधिक समय तक प्रशासन ने इनके रहने-खाने की व्यवस्था की और बाद में पुलिस कर्मी प्रकाश चंद बंसल ने इस परिवार को अपने घर पर पनाह दी।

यह भी पढ़ें: Corona Breaking: कांगड़ा जिला में तीन और मामले, सभी दिल्ली रिटर्न


आज जब इस परिवार के जाने का समय आया तो जाने वाले और विदा करने वालों की आंखें भर आईं। स्वजल मंडल ने कहा कि वह कभी हिमाचल के लोगों की तरफ से मिले प्यार को नहीं भूला पाएंगे। वहीं उनकी पत्नी रूपाली मंडल ने नम आंखों से सभी का आभार जताया और कहा कि यहां उन्हें एक परिवार की तरह रखा गया, जिसे वह जिंदगी में कभी नहीं भूल पाएंगी। अपने घर पर इस परिवार को पनाह देकर उनका पूरा ध्यान रखने वाले प्रकाश चंद बंसा और उनके पूरे परिवार ने इस परिवार के सभी सदस्यों को पहाड़ी टोपी और सुंदरनगर शहर की तस्वीर (Sundernagar City Photo) भेंट स्वरूप दी। प्रकाश चंद बंसल ने उम्मीद जताई कि यह परिवार अपने साथ यहां की हसीन यादों को लेकर जाएगा और वापिस यहां घूमने जरूर आएगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है