मंडीः कोटरोपी प्रभावितों ने अनदेखी पर सरकार को बोला थेंक्स

पक्ष में की नारेबाजी, बोले, सरकार हमें भूल गई, सरकार का बहुत-बहुत धन्यवाद

मंडीः कोटरोपी प्रभावितों ने अनदेखी पर सरकार को बोला थेंक्स

- Advertisement -

मंडी। कोटरोपी हादसे के प्रभावितों ने उनकी सुध न लेने पर राज्य और केंद्र सरकार का आभार जताया है। गुरुवार को कोटरोपी के सभी प्रभावित मंडी जिला मुख्यालय पहुंचे और सेरी मंच पर इकट्ठा हुए। यहां इन्होंने एक पोस्टर के माध्यम से सरकार पर कटाक्ष किया और सरकार के पक्ष में जिंदाबाद के नारे लगाए। हालांकि इस दौरान इन्हें पुलिस ने अनुमति न होने पर रोकने का प्रयास भी किया लेकिन बाद में इन्हें यहां खड़े होकर प्रदर्शन की अनुमति दे दी गई। प्रभावित फुली राम और कमला देवी सहित अन्य लोगों ने बताया कि उन्हें घर से बेघर हुए डेढ़ वर्ष बीतने जा रहा है, लेकिन सरकार इनकी कोई सुध नहीं ले रही है।

कोटरोपी हादसे में 13 परिवार घर से बेघर हुए थे और इनकी उपजाऊ जमीन इस भीषण भूस्खलन की चपेट में आ गई थी। यह परिवार इधर-उधर शरण लेकर जैसे-तैसे अपना जीवन यापन कर रहे हैं। प्रभावितों का कहना है कि इन्होंने कई बार सरकार के समक्ष अपनी आवाज उठाई, लेकिन फाइल शिमला में होने की बात कहकर इस बात से किनारा कर दिया जाता है। इन्होंने सरकार से मांग उठाई है कि जल्द से जल्द इन प्रभावितों को जमीन और घर बनाने के लिए पैसा दिया जाए, ताकि यह सही ढंग से अपना जीवन यापन कर सकें।

इन प्रभावितों के साथ आए समाजसेवी संजय शर्मा ने कहा कि आज प्रभावितों ने सरकार का धन्यवाद किया है, क्योंकि सरकार ने इन्हें संत महात्माओं की तरह खुले में जीना सिखा दिया है। उन्होंने कहा कि अब वह बारे में शिमला जाकर जांच पड़ताल करेंगे कि इन प्रभावितों की फाइल कहां पर है और सरकार इसमें विलम्ब क्यों कर रही है।

बता दें कि 13 अगस्त 2017 की रात को मंडी जिला के कोटरोपी में हिमाचल के इतिहास का सबसे बड़ा भूस्खलन हुआ था। इस भूस्खलन की चपेट में एचआरटीसी की दो बसें आई थी जिसमें सवार 48 लोगों की मौत हो गई थी। भूस्खलन के कारण 13 परिवार घर से बेघर हो गए थे, लेकिन अभी तक इनके पुर्नवास का कोई प्रावधान नहीं हो सका है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है