Covid-19 Update

58,457
मामले (हिमाचल)
57,233
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,046,432
मामले (भारत)
113,097,102
मामले (दुनिया)

Rathore बोले- बागवानों के धैर्य की परीक्षा लेने की कोशिश ना करे #bjpgovt

बागवानी उपकरणों की खरीद पर मिलने वाली ग्रांट बंद करने की आलोचना

Rathore बोले- बागवानों के धैर्य की परीक्षा लेने की कोशिश ना करे #bjpgovt

- Advertisement -

शिमला। कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर (Kuldeep Singh Rathore) ने प्रदेश बीजेपी सरकार की बागवानी विरोधी नीतियों की कड़ी आलोचना करते हुए कहा है कि वह बागवानों के धैर्य की परीक्षा लेने की कोशिश ना करे। उन्होंने कहा है कि पूर्व कांग्रेस सरकार द्वारा बागवानी विकास के लिए दिए जाने वाले सभी प्रोत्साहन बंद करके बीजेपी सरकार (#bjpgovt) का किसान व बागवान विरोधी चेहरा फिर से सामने आ गया है। उन्होंने कहा है कि बीजेपी कोटगढ़ में 22 जुलाई 1990 के जैसे आंदोलन के लिए बागवानों को मजबूर करने की कोशिश ना करे, जब तत्कालीन बीजेपी सरकार के राज में बागवानों ने सेब के समर्थन मूल्य की मांग पर आंदोलन करते हुए अपने पांच बागवानों को खोना पड़ा था। इस कलंक से बीजेपी कभी बच नहीं सकती।

यह भी पढ़ें: राठौर के निशाने पर HPU में नियुक्तियां, धांधली का जड़ा आरोप- आंदोलन को चेताया

राठौर ने हॉर्टिकल्चर टेक्नोलॉजी मिशन (Horticulture Technology Mission) के तहत बागवानी उपकरणों की खरीद पर दी जाने वाली ग्रांट बंद करने की सरकार की कड़ी आलोचना की है। उन्होंने कहा है कि बागवानों को फफूंद व कीट नाशक पर मिलने वाले अनुदान को भी प्रदेश सरकार ने खत्म करके एक बड़ा बागवानी विरोधी निर्णय लिया है। उन्होंने कहा है कि बीजेपी हमेशा ही बागवान विरोधी रही है और अब यह बागवानों की दमनकारी भी बन गई है।

यह भी पढ़ें: महेंद्र के बाद अब Bindal के खिलाफ नारेबाजी, आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप

राठौर ने कहा कि 1982 में जब प्रदेश में पहली बार स्केब ने दस्तक दी थी तो तत्कालीन कांग्रेस सरकार (Congress Govt) ने बागवानों को सस्ते दामों पर तुरंत ही फफूंद व कीट नाशक उपलब्ध करवाने की एक बड़ी योजना शुरू की थी। इसके तहत समय से पहले ही बागवानों को उत्तम गुणवत्ता के कीट व फफूंद नाशक उपलब्ध करवाए जाते थे और बागवान समय पर इन दवाओं का छिड़काव करते थे। उन्होंने कहा है कि आज प्रदेश सरकार ने परिस्थितियों को पूरी तरह बदल कर रख दिया है। ना तो कीट नाशक समय पर मिल रहें है और ना ही फफूंद नाशक। सरकार ने इन पर मिलने वाली आर्थिक सहायता को पूरी तरह बंद कर दिया है।

अधिकारियों व कर्मचारियों को डराया जा रहा- पठानिया

पंचायती राज संस्थाओं के चुनाव में बीजेपी सरकारी तंत्र का खुल कर दुरुपयोग कर रही है। अधिकारियों व कर्मचारियों पर दबाव बना कर उन्हें डराया धमकाया जा रहा है। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता कुलदीप सिंह पठानिया ने आज यहां कहा कि नगर निकाय चुनावों में बीजेपी (BJP) ने सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया। बावजूद उसे अधिकतर जगहों पर हार का मुंह देखना पड़ा है। उन्होंने कहा कि बीजेपी अब निर्दलीयों को प्रलोभन देकर उन्हें अपना बनाने की पूरी कोशिश कर रही है। कई जगह तो कांग्रेस के जीते हुए पार्षदों को भी प्रलोभन दिए जा रहे हैं। पठानिया ने चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर सवाल उठाते हुए कहा है कि आयोग आदर्श आचार संहिता पर अपनी आंखे मूंदे बैठा है।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी Youtube Channel  

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है