Covid-19 Update

58,777
मामले (हिमाचल)
57,347
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,122,986
मामले (भारत)
114,822,832
मामले (दुनिया)

child Labour छुड़वाई,स्कूल में admission करवाया

child Labour छुड़वाई,स्कूल में admission करवाया

- Advertisement -

Labor childrens: फेसबुक के माध्यम से धनखड़ को मिली थी जानकारी

Labor childrens: रोहतक। कृषि मंत्री ओपी धनखड़ को एक व्यक्ति द्वारा काम कर रहे प्रवासी नाबालिग बच्चों के बारे में फेसबुक के जरिए जानकारी दी गई। ओपी धनखड़ के संज्ञान में आते ही उन्होंने अपने स्टाफ के माध्यम से इन बच्चों की सुध लेकर उनकी स्कूल में एडमिशन करवाई और साथ ही उनके लिए पुस्तकों की भी व्यवस्था की। इससे एक साथ 11 बच्चों को स्कूल जाने का मौका मिला है।

गांव चुलियाना के सोमबीर ने 12 मार्च को खेतों में काम करने वाले छोटे बच्चों को देख कृषि मंत्री ओपी धनखड़ को फेसबुक के माध्यम से मैसेज किया। मामला कृषि मंत्री ओपी धनखड़ के संज्ञान में आया तो उन्होंने नवदीप दहिया को इस मामले में पड़ताल करने को और इसकी पूरी जानकारी प्राप्त करने को कहा। बाल मजदूरी करने वाले इन बच्चों के अभिभावकों से संपर्क साधा कर बच्चों को पढ़ाने के लिए प्रेरित किया गया। साथ ही आश्वासन दिया कि उनकी फीस व पुस्तकों आदि की व्यवस्था करेंगे। जिसके बाद इन सभी छोटे बच्चों का दाखिला करवा दिया गया। 

लखीमपुर और बुलंदशहर के रहने वाले हैं बच्चे

ये सभी यूपी के लखीमपुर और बुलंदशहर के रहने वाले हैं। इन बच्चों के अभिभावक यहा मजदूरी का काम करते हैं। अब ये सभी 11 बच्चे गांव चुलियाणा के स्कूल में आते हैं। इनको सभी पुस्तकें व अन्य सामग्री भी आज मिल गई। उधर, कृषि मंत्री धनखड़ ने सोमबीर को जहां संदेश भेजने के लिए बधाई दी साथ ही सभी अभिभावकों से आह्वान किया है कि वे अपने बच्चों का स्कूल में दाखिला अवश्य कराएं। उन्होंने कहा कि जो प्रवासी यहां रोजगार की तलाश में आते हैंए वे भी अपने बच्चों को स्कूल अवश्य भेंजेए ताकि उनका भविष्य बन सके। उन्होंने कहा कि सरकार राजकीय स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को समुचित सुविधाएं प्रदान करती है।

यह भी पढ़ें – हैवानियत ! पिता ने नाबालिग को बनाया हवस का शिकार

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है