Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,526,622
मामले (भारत)
196,707,763
मामले (दुनिया)
×

कचौड़ी का स्वाद चखने यहां रोज आता है एक लंगूर, पढ़े कहां है यह किस्सा

राजस्थान के भरतपुर में लंगूर व दुकानदार की दोस्ती है मशहूर

कचौड़ी का स्वाद चखने यहां रोज आता है एक लंगूर, पढ़े कहां है यह किस्सा

- Advertisement -

इंसान व जानवरों की दोस्ती की कई मिसालें दी जाती है। जहां कुत्ता सबसे वफादार जानवर माना जाता है वहीं बंदर या व इंसान के किस्से भी कम नहीं है। कुछ समय पहले यूपी के शाहजहांपुर में भी पान खाने वाले लंगूर का किस्सा मशहूर हुआ था। लेकिन यहां हम बात कर रहे हैं कचौड़ी वाले व लंगूर (langur)की यारी की। मामला राजस्थान के भरतपुर ( Bharatpur of Rajasthan) का है। यहां पर एक लंगूर कचौड़ी वाले की दुकान ( Kachori shop) पर आता है और वह स्वादिष्ट कचौड़ी का नाश्ता करते चला जाता है। दोनों के बीच यह सिलसिला काफी समय से चल रहा है।

यह भी पढ़ें: पहाड़ पर पीछे पड़ा भालू, स्कीयर ने क्या किया… देखें Video

जब कभी कचौड़ी वाले की दुकान पर भीड़ होती है तो यह लंगूर बाकायदा अपनी बारी का इंतजार करता है और जब उसकी बारी आती है तो वह वह कचौड़ी खाकर चला जाता है। दुकानदार को भी लंगूर के आने का समय पता है। उसने इस लंगूर का नाम रखा है भोले। दुकानदार का कहना है कि वह लंगूर को हनुमानजी का स्वरुप मानता है। यह लंगूर कहां से आता है ये तो पता नहीं पर वह किसी को नुकसान नहीं पहुंचाता। ना ही लोग उसे देखकर डरते हैं। वह शांति से कचौड़ी खाता है और वापस चला जाता है। इतना ही नहीं आसपास के दुकान वाले भी उसे कुछ न कुछ खाने को देते हैं। दोनों की दोस्ती लोगों के लिए एक मिसाल है।


हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है