Covid-19 Update

1,99,467
मामले (हिमाचल)
1,92,819
मरीज ठीक हुए
3,404
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

कल रात बिजली चली गई थी…

कल रात बिजली चली गई थी…

- Advertisement -

जैसलमेर से बीकानेर बस रुट पर….

बीच में एक बड़ा सा गांव है जिसका नाम है
‘नाचने’
वहाँ से बस आती है तो लोग कहते हैं कि
नाचने वाली बस आ गई..
कंडक्टर भी बस रुकते ही चिल्लाता..
“नाचने वाली सवारियां उतर जाएं बस आगे जाएगी..”
इमरजेंसी में रॉ का एक नौजवान अधिकारी जैसलमेर आया –
रात बहुत हो चुकी थी,
वह सीधा थाने पहुंचा और ड्यूटी पर तैनात सिपाही से पूछा – “थानेदार साहब कहाँ हैं?”
सिपाही ने जवाब दिया, “थानेदार साहब नाचने गये हैं.
अफ़सर का माथा ठनका उसने पूछा, “डिप्टी साहब कहाँ हैं..?”
सिपाही ने विनम्रता से जवाब दिया-
“हुकुम डिप्टी साहब भी नाचने गये हैं..
अफ़सर को लगा सिपाही अफीम की पिनक में है, उसने एसपी के निवास पर फ़ोन किया।
;एस.पी. साहब हैं?”
जवाब मिला, “नाचने गये हैं..!!”
“लेकिन नाचने कहाँ गए हैं, ये तो बताइए ?”
“बताया न, नाचने गए हैं, सुबह तक आ जाएंगे।”
कलेक्टर के घर फोन लगाया वहाँ भी यही जवाब मिला, “साहब तो नाचने गये हैं..”
अफ़सर का दिमाग़ ख़राब हो गया, ये हो क्या रहा है इस सीमावर्ती ज़िले में और वो भी इमरजेंसी में।
पास खड़ा मुंशी ध्यान से सुन रहा था तो वो बोला – “हुकुम बात ऐसी है कि दिल्ली से आज कोई Minister साहब नाचने आए हैं।”
इसलिये सब अफसर लोग भी नाचने गए हैं..!

 

 


 

 

 

 

कल मार्केट में पुरानी गर्लफ्रैंड मिल गई…

पूछने लगी कैसे हो?

मैं बोला बस ठीक हूँ…

बच्चों को ट्यूशन लाता ले जाता हूँ,
ऑफिस से लौटते में सब्जी और बाजार का सामान ले आता हूँ,
पत्नी को शॉपिंग करवा देता हूँ,
कभी कभी उसकी डांट भी सुन लेता हूँ।

 

वो बोली:-गलती हो गई रे,तेरे को ही हाँ बोलना चाहिए था।

 

 

 

 

 

 

एक नेता एक गांव में जाता है,…

ग्रामीणों से पूछता है कि तुम्हारी कोई समस्या है तो बताओ ?
गांव वाले कहते हैं : 2 समस्या हैं.
नेता : बताओ ?
ग्रामीण : गांव में डॉक्टर नहीं है….
नेता मोबाईल पर किसी से कुछ बात करता दिखाई देता है और फिर कहता है ये काम तो हो गया, दूसरा बताओ…
ग्रामीण : गांव में
कोई सा भी मोबाइल नेटवर्क नहीं है!

 

 

 

 

 

 

 

कल रात बिजली चली गई थी…

तो मैंने मोमबत्ती जलाई।
थोड़ी देर बाद लाइट आई तो मैंने

मोमबत्ती को बुझाने के लिए फूंक मारी।
बहुत बार फूंक मारने के बाद भी
मोमबत्ती बुझ नहीं पा रही थी,
तो मै बहुत टेंशन में आ गया
सोचा ऑक्सीजन लेवल कम तो नहीं हो गया..
इस विचार से ही पसीना पसीना हो गया
..फिर पत्नी पास आकर बोली
फूंक मारने से पहले मास्क तो हटा लो…।
हे भगवान,, फिर जान में जान आई….
दो गज दूरी, पत्नी है जरूरी…

 

 

 

 

 

 

एक डॉक्टर की बीवी का ऑपरेशन था..

डॉक्टर ने स्वयं ही ऑपरेशन करने का फैसला किया।
उसने दो लेडी डॉक्टर को सहयोग के लिए बुला लिया।
डॉक्टर ने बेहोशी की दवा दी लेकिन बीवी बेहोश नहीं हुई
फिर उसने बेहोशी का इंजेक्शन लगाया
फिर भी उसकी बीवी को कोई असर नहीं हुआ
तब डॉक्टर ने तेज क्लोरोफॉर्म सुंघाने का फैसला किया।
तो डॉक्टर की बीवी बोली :
तुम कुछ भी कर लो जब तक तुम्हारे साथ ये दोनों रहेंगी मैं बेहोश होने वाली नहीं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है