Covid-19 Update

57,296
मामले (हिमाचल)
55,987
मरीज ठीक हुए
962
मौत
10,698,674
मामले (भारत)
101,058,488
मामले (दुनिया)

कल रात को रमेश के पास एक साधू बाबा आए और बोले

कल रात को रमेश के पास एक साधू बाबा आए और बोले

- Advertisement -

हरीश: तुम्हारी आंख क्यों सूजी हुई है ?

पप्पू: कल मैं अपनी पत्नी के जन्मदिन पर केक लाया था।

हरीश: लेकिन इसका आंख सूजने से क्या संबंध है?

पप्पू: मेरी पत्नी का नाम तपस्या है लेकिन केक वाले बेवकूफ दुकानदार ने लिख दिया

हैप्पी बर्थडे समस्या”!

 

 

 

 

 

 

गुप्ता जी : एक बार मैं अपनी सुंदर पड़ोसन के साथ पार्क में गया।

हम एकांत में बैठे।

वो बोली : क्या करें ?
गुप्ता जी : मैंने कहा, एक चुटकुला सुनो।
*चुटकुला*
एक सन्यासी मन्दिर में सो रहा था। रात को एक सुंदरी आकर उसके पास लेट गई।
सुबह को सन्यासी पछताया।
जाकर अपने गुरु से पूछा : बताइए, प्रायश्चित कैसे होगा ?
गुरु ने पूछा : तुमने सुन्दरी के साथ कुछ किया भी था ?
सन्यासी ने कहा : नहीं।
गुरु बोले : दस दिन तक सुबह उठकर घास चरो।
सन्यासी ने पूछा : ऐसा क्यों ?
गुरु ने कहा : इसलिए कि तुम गधे हो।
*(समाप्त)*
गुप्ता जी : मेरी पड़ोसन खूब हंसी। बहुत देर बाद हम दोनों उठकर जाने लगे। जाते-जाते उसने मुझे 100 रुपए दिए।

गुप्ता जी : मैंने पूछा, चुटकला पसंद आया, इसलिए रुपए दे रही हो ?

वो बोली :नहीं
.
*घास खरीदने के लिए…

 

 

 

 

 

यह उन दिनों की बात है, जब हमारी नई-नई शादी हुई थी।

वाइफ पहली बार किचन में घुसी और खाना बनाने लगी।

अचानक मुझे ख्याल आया कि रोटी बनाने वाला चकला बिल्कुल भी आवाज नहीं कर रहा। मगर यह कैसे संभव था? उसकी तीनों टांगे कभी स्लेब पर टिकती ही नहीं थी।
एक टांग छोटी होने से खट-पट होती रहती थी।
जैसे ही मैं किचन में घुसा तो देखा, वाइफ आराम से रोटी बना रही थी
और चकले की तीनों टांग अलग पड़ी थी।
मैंने उससे पूछा : यह क्या किया तुमने?

कुछ नहीं यह ज्यादा खटपट कर रहा था तो मैंने इसकी तीनों टांग तोड़ दी, मेरा यही स्टाइल है।

 

 

 

 

 

 

मेरा दुख़ सुनोगे तो तुम़ भी रो दोगे…

स्कूल टाइम में जो लड़का मुझे छुप छुपकर देखता था
वो बड़ा होकर डॉक्टर बन गया है
अब देखने की फीस लेता है।

 

 

 

 

एक सहेली दूसरी सहेली से- तू बोर हो जाती है तो क्या करती है?

*दूसरी-मैं तो mall में जाकर जी भर के चीजें उठा लेती हूं
फिर Trolley काउंटर के पास छोड़ कर निकल जाती हूं।

 

 

 

 

 

कल रात को रमेश के पास एक साधू बाबा आए और बोले
:

मांग बेटे मांग … तेरे को जो चाहिए वह मांग
फिर तो साधू बाबा ने रमेश को जमकर मारा पीटा और खूब धोया।
रमेश ने साधू बाबा से पूछा मेरे साथ ऐसा क्यों ? मांग पूरी नहीं करनी थी तो मत करते, लेकिन मारा क्यों?
मालूम पड़ा कि उसकी पत्नी राधा ही साधू बाबा बनकर आई थी।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है