Covid-19 Update

19,357
मामले (हिमाचल)
16,461
मरीज ठीक हुए
269
मौत
7,602,414
मामले (भारत)
40,747,420
मामले (दुनिया)

Himachal बनेगा बागवानी राज्य, खर्च होंगे 100 करोड़, 170 हेक्टेयर क्षेत्र में लगाए जाएंगे फलदार पौधे

Himachal बनेगा बागवानी राज्य, खर्च होंगे 100 करोड़, 170 हेक्टेयर क्षेत्र में लगाए जाएंगे फलदार पौधे

- Advertisement -

शिमला। हिमाचल प्रदेश को बागवानी राज्य बनाने के लिए प्रदेश सरकार ने एशियन विकास बैंक द्वारा वित्त पोषित एचपी शिवा परियोजना (HP Shiva project) तैयार की है। इस परियोजना से बागवानी के माध्यम से प्रदेश के लोगों की आर्थिकी मजबूत होगी। सरकार के प्रयासों व इस परियोजना को धरातल पर उतारने की बागवानी विभाग ने प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। प्रदेश सरकार द्वारा तैयार किए गए इस पायलट प्रोजेक्ट को पहले निचले हिमाचल (Himachal) के चार जिलों में लागू किया जा रहा है, जिनमें बिलासपुर, मंडी, कांगड़ा और हमीरपुर जिले शामिल हैं। चयनित जिलों में परियोजना को लागू करने के लिए 17 समूह गठित किए गए हैं, जिनके अन्तर्गत बिलासपुर में चार, मंडी में छह, कांगड़ा में पांच व हमीरपुर जिला में दो समूह गठित किए गए हैं। एक समूह में 10 हैक्टेयर क्षेत्र को शामिल किया गया है। चिन्हित जिलों में परियोजना के अंतर्गत लगभग 170 हैक्टेयर क्षेत्र में फलदार पौधे रोपित किए जाने हैं।

100 करोड़ रुपये होंगे खर्च

एचपी शिवा परियोजना के अंतर्गत चिन्हित क्षेत्रों में लगभग 100 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। दो साल चलने वाले इस पायलट प्रोजेक्ट (Pilot project) के माध्यम से लगभग 500 परिवारों को बागवानी गतिविधियों से जोड़ा जाएगा। परियोजना के अंतर्गत लगभग 2.50 लाख फलदार पौधे लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इनमें संतरा, लीची, अमरूद, अनार इत्यादि फलदार पौधे शामिल हैं। लॉकडाउन के दौरान बागवानी विभाग ने फल पौधरोपण स्थलों को तैयार कर लिया है। जुलाई व अगस्त माह में इन विभिन्न प्रजातियों के फलदार पौधों को प्रस्तावित स्थलों पर रोपित किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: उड़ान-2: सितंबर के बाद Chandigarh To Sanjauli, जुब्बड़हट्टी के चक्कर से मिलेगा छुटकारा.

 

फल उत्पादन के लिए नए क्षेत्रों को प्राथमिकता

इस पायलट प्रोजेक्ट के अंतर्गत उन क्षेत्रों को विकसित करने को प्राथमिकता दी गई है, जहां अभी तक फल उत्पादन नहीं होता। इसके अतिरिक्त ऐसे स्थानों को भी परियोजना में शामिल किया गया है, जहां जंगली जानवरों से प्रभावित किसानों ने खेती-बाड़ी करना छोड़ दिया है, ताकि इन क्षेत्रों के लोगों को बागवानी से जोड़कर आर्थिक रूप से सक्षम बनाया जा सके।

वर्ष 2021-22 में शुरू होगा मुख्य प्रोजेक्ट

एशियन विकास बैंक द्वारा वित्त पोषित एचपी शिवा परियोजना के पायलट प्रोजेक्ट के सफल कार्यन्वयन के बाद परियोजना का मुख्य प्रोजेक्ट वर्ष 2021-22 में आरंभ किया जाएगा, जिस पर लगभग 1000 करोड़ रुपये खर्च किए जाने प्रस्तावित हैं। परियोजना के प्रथम चरण में प्रदेश के लगभग 25 हजार परिवारों को बागवानी गतिविधियों से जोड़ा जाएगा।

यह भी पढ़ें: Kangra में 3 से 6 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए शुरू होगा अभिनव पायलट प्रोजेक्ट

यह है परियोजना का उद्देश्य

बागवानी मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर (Horticulture Minister Mahendra Singh Thakur) ने बताया कि एचपी शिवा परियोजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश को फल राज्य के रूप में विकसित करना हैए ताकि प्रदेश के साथ-साथ लोगों की आर्थिकी को भी सुदृढ़ किया जा सके। उन्होंने बताया कि अभी तक प्रदेश के लगभग 25 प्रतिशत क्षेत्र में ही बागवानी की जाती है। उन्होंने कहा कि परियोजना में ऐसे क्षेत्रों को भी शामिल किया गया हैए जहां पर लोगों ने खेती करना छोड़ दिया है।

बागवानों के हित में उठाए गए विभिन्न कदम

प्रदेश सरकार (State Govt) ने बागवानों के हित में अनेक कदम उठाए हैं, जिसके अन्तर्गत फल फसलों को ओलों से बचाव के लिए लगभग 12.50 लाख वर्ग मीटर ओला अवरोधक जालियां उपलब्ध करवाई गई हैं। सेब के बागीचों में परागण हेतु 46.265 मधुमक्खी के बक्से उपलब्ध करवाए गए हैं। फल फसलों को बीमारियों व कीट-पतंगों से बचाने के लिए 225 मीट्रिक टन कीटनाशक अनुदान दरों पर फल उत्पादकों को उपलब्ध करवाए गए हैं। बागवानों को फलों की तुड़ाई एवं अन्य प्रशिक्षण की सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है। सेब, चेरी व गुठलीदार फलों की पैकिंग का विशेष प्रशिक्षण दिया जा रहा है। फलों की पैकिंग के लिए लगभग 3.5 करोड़ बक्सों की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा फल विधायन के लिए बागवानों से 8.3 मीट्रिक टन स्ट्रॉबेरी खरीदी गई है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Himachal: बदलने लगा मौसम, ठंडी होने लगी रातें-मैदानी क्षेत्रों में अभी भी निकल रहा पसीना

हिमाचलः जयराम सरकार ने बदले ये BDO, किसे कहां भेजा-जानिए

#Himachal में सात जिलों के DC बदले : आदित्य नेगी को शिमला, देबश्वेता बनिक को सौंपा Hamirpur

आपके पास हैं 5-10 रुपए के खास सिक्के तो आप भी बन सकते हैं लखपति, पढ़िए पूरी खबर

इस शहर में रहते हैं सिर्फ 2 लोग फिर भी करते हैं #Corona से बचाव के नियमों का पूरा पालन

बिना कुछ खाए भी कई साल तक जिंदा रह सकता है यह अजीबोगरीब जीव

Gurugram में मीटिंग के बहाने युवती से किया गलत काम, जान से मारने की धमकी भी दी

School तो खुले पर छात्रों की हाजिरी ना के बराबर, अभिभावक नहीं दिखा रहे दिलचस्पी

पंगा लेने वाली #KanganaRanaut पहुंची पालमपुर, Shanta को दिया भाई की शादी का न्योता

Himachal की इस ITI में पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर हो रही एडमिशन

HPU प्रशासन की नीतियों के खिलाफ ABVP ने किया "शव प्रदर्शन"

हिमाचल में आज अब तक 135 ने जीती #Corona से जंग, चार की गई जान

मणिकर्ण के कसोल में Police ने नेपाली से पकड़ी Charas

#Conductor भर्ती प्रकरणः जांच रिपोर्ट आने के बाद जयराम सरकार परीक्षा बाबत लेगी निर्णय

नवाज शरीफ का दामाद Karachi में गिरफ्तार, मरियम बोलीं - कमरे का दरवाजा तोड़कर घुसी पुलिस

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board

जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा 6 का #Entrance_Exam अब 7 नवंबर को

स्कूलों के बाद अब Colleges खोलने की तैयारी, नवंबर से आएंगे Practical विषयों के छात्र

TET Exam में इन अभ्यर्थियों को मिली छूट, बिना आवेदन दे सकेंगे परीक्षा, बस करना होगा ये काम

#Himachal में School खोलने की तैयारी में सरकार, क्या रहेगा प्लान पढ़े यहां

Big Breaking: हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने टैट परीक्षा का शेड्यूल किया जारी- जानिए

#HPBose: 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षाओं के छात्रों को बड़ी राहत- पढ़ें खबर

हिमाचल में 100% मास्टर जी लौट आए #School, बनने लगा स्टूडेंट्स के लिए माइक्रो प्लान

SMC शिक्षकों को बड़ी राहत, #Supreme_Court ने हिमाचल हाईकोर्ट के फैसले पर लगाई रोक

गोविंद ठाकुर बोले- #Himachal में स्कूल खोलने हैं या नहीं, 9 को होगा फैसला

शिक्षा विभाग ने तैयार किया #Himachal में स्कूल खोलने का प्रस्ताव; जानें क्या है योजना

D.El.Ed CET 2020: 12 से 23 अक्टूबर तक होगी स्क्रीनिंग, अभ्यर्थी करें ऐसा

Himachal में 530 हेड मास्टर और लेक्चरर बने प्रिंसिपल, पर वेतन बढ़ोतरी को करना होगा इंतजार

बिग ब्रेकिंगः हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने आठ विषयों की TET परीक्षा का Result किया आउट

#HPBose: बोर्ड ने छात्र हित में लिया फैसला, 30 तक बढ़ाई यह तिथि

पहली से आठवीं कक्षाओं के छात्रों की ऑनलाइन परीक्षाओं की Datesheet जारी



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है