20 फीट बर्फ में रोहतांग दर्रा पार कर मनाली पहुंचे 3 युवक

पैदल यात्रियों के लिए रास्ता भी बनाया

20 फीट बर्फ में रोहतांग दर्रा पार कर मनाली पहुंचे 3 युवक

- Advertisement -

कुल्लू। लाहुल (Lahul) की चंद्रा घाटी के युवाओं ने रोहतांग दर्रा (Rohtang Pass) पैदल पार कर मनाली (Manali) दस्तक दी है। इन युवाओं ने 20 फीट मोटी बर्फ की परत को लांघ कर न केवल रोहतांग में कदमताल की शुरुआत की है बल्कि पैदल यात्रियों के लिए रास्ता भी बना दिया है। सर्दियों में इस साल भारी बर्फबारी (Heavy Snowfall) होने से रोहतांग दर्रे में बर्फ के ऊंचे पहाड़ खड़े हुए हैं। लाहुल के युवा महेश, अशोक, प्रदीप व उप प्रधान मनोज ने आज यह कारनामा कर दिखाया और पैदल चलकर रोहतांग फतेह कर दिया। इससे पहले कोकसर ओर डिम्फुक के युवा रोहतांग में रास्ता बनाते रहे हैं, लेकिन पिछले कुछ सालों से इन दोनों गांव के ग्रामीण सर्दियों में मनाली का ही रुख कर रहे हैं।


यह भी पढ़ेंः फिर बिगड़ेगा मौसम कब होगी बारिश और बर्फबारी पढ़ें

अब डिम्फुक व कोकसर के युवाओं की जगह सिसु गांव के युवा रास्ता बनाने व कदमताल शुरू करने की पहल करने लगे हैं। युवाओं का कहना है कि वो रात 2 बजे सिसु से रोहतांग की ओर निकले। उन्होंने बताया कि लाहुल के अंतिम गांव कोकसर में 7 फीट से अधिक बर्फ जमा है। युवाओं ने सुबह 7 बजे रोहतांग दर्रा फतेह किया और 13 घंटे सफर करने के बाद शाम 3 बजे मनाली में दस्तक दी। इन युवाओं ने बताया कि इस बार भारी बर्फबारी हुई है। जगह-जगह हिमखंड गिरे हैं तथा रिहतांग दर्रे में 20 फीट से अधिक बर्फ जमा हुई है। इन युवाओं ने कहा कि मनाली की ओर से बीआरओ गुलाबा से आगे निकल गया है, जबकि लाहुल की ओर सिसु से भी बीआरओ कोकसर बढ़ रहा है। उन्होंने बताया कि कोकसर व मढी पहुंचने के बाद पैदल राहगीरों की राहें आसान होंगी। केलांग एसडीएम अमर नेगी ने कहा कि प्रशासन शीघ्र ही सिसु कोकसर का दौरा करेगा और हालात सामान्य होने पर कोकसर व मढी में रेस्क्यू पोस्ट तैनात करेगा। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि हालात सामान्य होने के बाद ही पैदल दर्रा पार करें।

नैनगार गांव में न बिजली न पानी

जनजातीय जिला लाहुल स्पीति के नैनगार गांव में 6 फरवरी से बिजली ठप है और 7 फरवरी से पीने का पानी भी नहीं है। भारी बर्फबारी के कारण इस साल घाटी में जगह-जगह समस्याओं का सामना ग्रामीणों को करना पड़ रहा है। आज जिला लाहुल स्पीति से हेलीकॉप्टर उड़ान से नैनगार गांव से कुल्लू पहुंचे छात्र शुभम गाहरु ने बताया कि पूरे घाटी में अभी भी बर्फ का पहाड़ खड़ा है। नैनगार के पास एक पुल भी ग्लेशियर ने ध्वस्त कर दिया है और पुल ग्लेशियर के नीचे दबा हुआ है, जिसकी बजह से कुछ गांव से आने जाने का संपर्क मार्ग भी अवरुद्ध हुआ है। 6 फरवरी से नैनगार गांव अंधेरे में है और 7 फरवरी से पीने के पानी के न होने से ग्रामीण बर्फ पिघला कर पानी पीने के लिए मजबूर हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

स्वतंत्रता सेनानी कल्याण बोर्ड के पूर्व उपाध्यक्ष सुशील रत्न का निधन, कल 11 बजे होगा अंतिम संस्कार

कार से टकराई बाइक, दो युवकों की मौके पर मौत

हिमाचल में लॉजिस्टिक पार्क और ड्राई पोर्ट बनाएगी दुबई की कंपनी, एमओयू पर हुए हस्ताक्षर

कोटखाई: सड़क दुर्घटना में आल्टो सवार बुजुर्ग की मौत, 2 लोग हुए घायल

घुमाने के बहाने नाबालिग को फंसाया फि‍र होटल में किया रेप

ओवरलोडिंग बंद: कम दूरी के यात्री-छात्र परेशान, फूटा गुस्‍सा लगाया जाम

जयराम ठाकुर 80 देशों के राजदूतों को करेंगे संबोधित

हिमाचल: ग्रीष्मकालीन स्कूलों में मानसून की छुट्टियों की अधिसूचना जारी, जानें कब से कब तक

नूरपुर: नहाने गए युवक का शव मिला, हत्‍या की आशंका

केंद्रीय विवि के स्‍थायी कैंपस निर्माण को सरकार गंभीर

धर्मशाला-मैक्लोडगंज रोपवे की डेड लाइन तय,अगले साल इसी महीने तक करना होगा इंतजार

राठौर बोले, बंजार हादसे में गोविंद की क्लीन चिट बस ऑपरेटर को बचा रही

जयराम कैबिनेट की हो गई तारीख तय,अहम मसलों में इन पर होगी चर्चा-जानें

माल रोड पर लंच करने पहुंचे आडवाणी, आम जनों के संग ली सेल्फी

ओवरटेक करते स्कूटी से गिरी महिला, ट्रक के टायर से कुचली

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है