Covid-19 Update

35,812
मामले (हिमाचल)
28,045
मरीज ठीक हुए
572
मौत
9,221,998
मामले (भारत)
60,102,811
मामले (दुनिया)

बंदर से ऐसा मोह कि परिवार विदेश में छोड़ यहीं टिक गया ये शख्स, अब बनवा रहा महल

बंदर से ऐसा मोह कि परिवार विदेश में छोड़ यहीं टिक गया ये शख्स, अब बनवा रहा महल

- Advertisement -

नई दिल्ली। जानवरों के साथ इंसान का मोह नया नहीं है। ऐसे कई किस्से हमारे सामने आते रहते हैं जिनमें लोग अपने पालतू जानवरों के लिए क्या कुछ नहीं करते और ये जानवर भी मालिक से बहुत प्रेम करते हैं। असम के स‍िलचर में ऐसा ही एक किस्सा सामने आया है जहां एक मालिक अपने पालतू बंदर के लिए महल (Palace) बनवाना चाहता है। मिंटू बाबू नाम का यह बंदर मालिक को बहुत प्रिय है। इसके लिए इस शख्स ने कारोबार ही नहीं अपना जीवन तक समर्पित कर दिया है। दो साल से दोनों साथ हैं और इनकी कहानी भी काफी दिलचस्प है।

यह भी पढ़ें: पशु चोरी के आरोप में भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाले तीन लोग

 

शुभ्रांशु शेखर नाथ नाम के इस शख्स का पूरा परिवार कनाडा (Canada) में रहता है। आज से 24 साल पहले शुभ्रांशु शेखर भी कनाडा में इंजीन‍ियर के रूप में काम करते थे। व‍िदेश से भारत आकर उन्हें अपने स्थायी घर स‍िलचर में म‍िंटू बाबू का साथ म‍िला, ज‍िसके बाद उनका व‍िदेश वापस जाने का मोह ही छूट गया। अब शुभ्रांशु शेखर म‍िंटू बाबू को साथ में लेकर समाज में बदलाव लाना चाहते हैं।

यह भी पढ़ें: सोनभद्र हत्याकांड के पीड़ितों से मिलने जा रहीं प्रियंका का काफिला रोका

 

यहीं नहीं, वह म‍िंटू बाबू की शादी भी करवाना चाहते हैं इसके ल‍िए वह मैक‍ि नाम की बंदर‍िया भी ले आए हैं। कनाडा से शुभ्रांशु शेखर का परिवार जब भारत (India) आएगा तब धूमधाम के साथ म‍िंटू बाबू की शादी की जाएगी। शुभ्रांशु शेखर, म‍िंटू बाबू और मैक‍ि की शादी के बाद उन्हे महल उपहार में देना चाहते हैं। उसके बाद वह भगवान रामचंद्र की भांत‍ि एक व‍िशाल वानर सेना बनाकर, उन्हें प्रश‍िक्षण देकर, जंगल से भटककर शहर में घुस आए वानरों को न‍ियंत्रण में लाने का प्रयास करेंगे ज‍िससे वानर बराक घाटी में सुरक्ष‍ित रहें।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है