Covid-19 Update

34,781
मामले (हिमाचल)
27,518
मरीज ठीक हुए
550
मौत
9,177,840
मामले (भारत)
59,514,808
मामले (दुनिया)

Airforce Chief ने उड़ाया LCA ‘तेजस’, विमानों की दूसरी स्क्वाड्रन वायुसेना में शामिल

Airforce Chief ने उड़ाया LCA ‘तेजस’, विमानों की दूसरी स्क्वाड्रन वायुसेना में शामिल

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) को स्वदेशी तेजस (Tejas) लड़ाकू एयरक्राफ्ट की दूसरी स्क्वाड्रन मिल गई है। इस स्क्वाड्रन का नाम फ्लाइंग बुलेट्स दिया गया है, जिसकी शुरुआत वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल RKS भदौरिया ने खुद विमान उड़ान भर कर की। आरकेएस भदौरिया ने तमिलनाडु के सुलूर एयरबेस पर वायु सेना की 18वीं स्क्वाड्रन को सौंपा। आरकेएस भदौरिया ने वायु सेना स्टेशन सुलूर में 45वीं स्क्वाड्रन के साथ लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट तेजस लड़ाकू विमान उड़ाया।

यह भी पढ़ें: हरभजन सिंह के वर्कआउट VIDEO पर विराट बोले- बहुत बढ़िया पाजी, बिल्डिंग कांप रही है

तेजस के दूसरे स्क्वाड्रन के वायुसेना में शामिल होने से वायुसेना की ताकत बढ़ जाएगी

इसके साथ ही एयरफोर्स चीफ ने सुलूर में स्थित 18वीं स्क्वॉड्रन में तैनात फ्लाइंग बुलेट्स यानी हल्के लड़ाकू विमान एलसीए तेजस को सक्रिय रहने के लिए कहा है। 18वीं स्क्वॉड्रन का ध्येय वाक्य है तीव्र और निर्भय। यानी दुश्मन से तेज और न डरने वाला। गौरतलब है कि एयरफोर्स की 18वीं स्क्वाड्रन अब हल्के लड़ाकू विमान (Light Combat Aircraft) तेजस से लैस होगी। तेजस विमान उड़ाने वाली एयरफोर्स की यह दूसरी स्क्वाड्रन होगी। इससे पहले 45 वीं स्‍क्वाड्रन ऐसा कर चुकी है। वहीं माना जा रहा है कि तेजस के दूसरे स्क्वाड्रन के वायुसेना में शामिल होने से वायुसेना की ताकत बढ़ जाएगी। यह पुराने तेजस से एडवांस हैं।

यह भी पढ़ें: टिड्डी दलों के हमले से कई राज्य परेशान; अब Punjab-Haryana में जारी हुआ अलर्ट

भारतीय वायुसेना ने तेजस को हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड से खरीदा है

तेजस लड़ाकू विमानों के दूसरे स्क्वाड्रन को वायुसेना को सौंपने के अवसर पर भारतीय वायुसेना ने अपने ट्वीट में कहा- वायु सेना प्रमुख, एयर चीफ मार्शल आर के एस भदौरिया ने आज सुबह #LCA तेजस लड़ाकू विमान में वायुसेना स्टेशन सुलूर में उड़ान भरी। वायु सेना प्रमुख आज #मेक-इन-इंडिया तेजस के वायु सेना में दूसरे स्क्वाड्रन #18स्क्वाड्रन के पूर्ण संचालन हेतु वायु सेना स्टेशन, सुलुर की यात्रा पर है। बता दें कि भारतीय वायुसेना ने हल्के लड़ाकू विमान (Light Combat Aircraft – LCA) तेजस को हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) से खरीदा है। नवंबर 2016 में वायुसेना ने 50,025 करोड़ रुपए में 83 तेजस मार्क-1ए की खरीदी को मंजूरी दी थी। इस डील पर अंतिम समझौता करीब 40 हजार करोड़ रुपए में हुआ है। यानी पिछली कीमत से करीब 10 हजार करोड़ रुपए कम है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है