Covid-19 Update

38,327
मामले (हिमाचल)
28,993
मरीज ठीक हुए
602
मौत
9,325,786
मामले (भारत)
61,598,991
मामले (दुनिया)

जल जीवन मिशन के तहत 2022 तक Himachal के हर घर में लगेगा घरेलू कनेक्शन

जल जीवन मिशन के तहत 2022 तक Himachal के हर घर में लगेगा घरेलू कनेक्शन

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश सरकार ने जल जीवन मिशन के तहत अगस्त, 2022 तक राज्य के शत-प्रतिशत घरों को कार्यशील घरेलू नल कनेक्शन (Functional Household Tap Connections) प्रदान करने का लक्ष्य रखा है। यह बात सीएम जय राम ठाकुर ने शुक्रवार को यहां केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत (Union Jal Shakti Minister Gajendra Singh Shekhawat) से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित बैठक में भाग लेते हुए कही। जय राम ठाकुर ने कहा कि 18160 गांवों में से 911 गावों और 3226 पंचायतों में से 13 पंचायतों को एफएचटीसी  (FHTC) के अन्तर्गत शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 12 जिलों में से तीन जिलों को जुलाई, 2021, पांच जिलों को मार्च 2022 तथा अन्य बचे हुए जिलों का अगस्त, 2022 तक इस कार्यक्रम के अंतर्गत शामिल किया जाएगा।

जयराम ठाकुर ने केंद्रीय मंत्री से प्रस्तावित 990 करोड़ की केंद्रीय सहायता देने का किया आग्रह

जयराम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में जल जीवन मिशन (Jal Jeevan Mission) को वर्ष 2019-20 में प्रभावी ढंग से कार्यान्वित करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा 57 करोड़ रुपये की प्रोत्साहन राशि जारी की गई है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री से जल जीवन मिशन के तहत विभाग द्वारा प्रस्तावित 990 करोड़ रुपये की केंद्रीय सहायता देने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन के दिशा-निर्देशों के अनुसार 47000 रुपये की राशि प्रति एफएचसी निर्धारित की गई है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री से प्रदेश की भौगोलिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए इस राशि की सीमा को बढ़ाकर 85000 रुपये करने का आग्रह किया।

यह भी पढ़ें: अनलॉक-2: क्या Himachal में खुलेंगे मंदिर, हो सकेगी बसों की इंटर स्टेट मूवमेंट- जानिए

 

 

2.81 लाख हेक्टेयर क्षेत्र सिंचाई सुविधाओं के अंतर्गत लाया गया

जय राम ठाकुर ने कहा कि पहाड़ी राज्य होने के कारण प्रदेश में अधिकांश योजनाएं ऊठाउ सिंचाई योजनाएं हैं, जिसके परिणामस्वरूप श्रम मजदूरी और सामग्री की लागत अधिक है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री से प्रदेश की भौगोलिक स्थित को ध्यान में रखते हुए सतही लघु सिंचाई योजनाओं की मौजूदा विकास लागत के मापदंडों में 2.5 लाख रुपये प्रति हेक्टेयर से बढ़ाकर बिना सीएडी (CAD) के 4 लाख रुपये तक का संशोधन करने का आग्रह किया। सीएम जयराम ने कहा कि प्रदेश के लगभग 5.8 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में से 3.55 लाख हेक्टेयर क्षेत्र को सिंचाई के लिए चिन्हित किया गया है। उन्होंने कहा कि इसमें 2.81 लाख हेक्टेयर क्षेत्र सिंचाई सुविधाओं (Irrigation facilities) के अंतर्गत लाया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार प्रदेश के किसानों की आर्थिकी को बढ़ाने के लिए अधिकतर क्षेत्रों को सिंचाई सुविधा के अंतर्गत लाने के प्रयास कर रही है।

केंद्रीय मंत्री ने की प्रदेश सरकार की उपलब्धियों की सराहना

केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने प्रदेश में जल जीवन मिशन के प्रभावी कार्यान्वयन पर प्रदेश सरकार की उपलब्धियों की सराहना की। उन्होंने सीएम जयराम ठाकुर को आश्वासन दिया कि जल जीवन मिशन के कार्यान्वयन में धन के अभाव को बाधा नहीं बनने दिया जाएगा। उन्होंने मिशन के तहत प्रदेश सरकार की उपलब्धियों के प्रसार पर भी बल दियाए ताकि अन्य राज्यों को भी इसके लिए प्रेरित किया जा सके।

यह भी पढ़ें: Himachal ने देनदारियां चुकाने को मांगा 540 करोड़ का Loan और 350 करोड़ का अनुदान

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है