अनिल अंबानी पर अब भी है एक लाख करोड़ से ज्यादा कर्ज, प्रॉपर्टी बेचने की नौबत

अगर 60 फीसदी प्रॉपर्टी बेच दी तो भी रहेगा 48 हजार करोड़ से ज्यादा का कर्ज

अनिल अंबानी पर अब भी है एक लाख करोड़ से ज्यादा कर्ज, प्रॉपर्टी बेचने की नौबत

- Advertisement -

नई दिल्ली। बड़े भाई मुकेश अंबानी की मदद से 462 करोड़ रुपए के कर्ज से मुक्त हुए अनिल अंबानी (Anil Ambani) पर अभी भी एक लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का कर्ज (Debt) है। मार्च, 2018 तक अनिल धीरूभाई अंबानी समूह (ADAG) के ऊपर ब्याज की देनदारी भी करीब 10 हजार करोड़ रुपये के पास थी। हालांकि, समूह ने अपनी संपत्तियां बेचकर करीब 60 फीसदी कर्ज चुका देने की योजना बनाई है।


इस वित्त वर्ष के कर्ज का अभी समूह का आधिकारिक आंकड़ा नहीं आया है, लेकिन कुछ अनुमानों के मुताबिक सितंबर, 2018 तक अनिल धीरूभाई अंबानी समूह (ADAG) का कर्ज बढ़कर करीब 1।72 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच गया है। गौरतलब है कि अनिल अंबानी ने स्वीडन की दूरसंचार उपकरण बनाने वाली कंपनी एरिक्सन को 550 करोड़ रुपये के बकाए का भुगतान कर दिया है। लेकिन ये पैसे उन्होंने अपने बड़े भाई मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) से लेकर चुकाए हैं। अगर कंपनी ऐसा करने में विफल रहती तो आरकॉम (RCOM) के चेयरमैन अनिल अंबानी को 3 महीने जेल की सजा काटनी पड़ सकती थी। ऐसे में मदद के लिए बड़े भाई मुकेश अंबानी सामने आए।


यह भी पढ़ें: अनिल अंबानी अवमानना के दोषी, अब 453 करोड़ नहीं दिए तो जेल जाने का खतरा

संपत्त‍ि बेचने के बाद भी रहेगा 48 हजार करोड़ से ज्यादा का कर्ज

अगर ADAG समूह ने अपनी संपत्त‍ि बेच दी तो भी उसका कुल कर्ज घटकर 48,645 करोड़ रुपये रह जाएगा। अकेले समूह की दूरसंचार कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशंस (RCOM) पर ही 38 बकाएदारों का करीब 47,000 करोड़ रुपये का कर्ज है और वह डेट रीस्ट्रक्चरिंग प्रक्रिया से गुजर रही है। कंपनी अपना स्पेक्ट्रम, फाइबर, टेलीकॉम टावर, आदि बेचकर करीब 25,000 करोड़ रुपये जुटाने की उम्मीद कर रही है। इसी तरह इस कंपनी की नवी मुंबई (Navi Mumbai) स्थित 125 एकड़ प्रॉपर्टी को बेचने से करीब 10,000 करोड़ रुपये मिल सकते हैं।


यह भी पढ़ें: अनिल अंबानी के मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश से छेड़छाड़ करने वाले दो अफसर बर्खास्त

जियो ने बरबाद किया आरकॉम को

आरकॉम पहले से ही टेलीकॉम मार्केट में कुछ खास नहीं कर पा रही थी, लेकिन जियो (Jio) के आने के बाद तो यह पूरी तरह बर्बाद ही हो गई। खुद उनके बड़े भाई मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो इंफोकॉम ने आरकॉम के एसेट (Essets) खरीद की योजना बनाकर उसे राहत देने की कोशिश की थी, लेकिन यह मामला परवान नहीं चढ़ पाया क्योंकि टेलीकॉम विभाग ने कहा कि जियो को आरकॉम का कर्ज भी चुकाना होगा।


हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

ऊनाः झड़प के दौरान सिख परिचालक की खुली पगड़ी, लोगों ने किया हंगामा

आनंद महिंद्रा से क्या भरोसा लेकर बाहर आए जयराम ठाकुर

बड़ी खबर: पंजाब से बरामद हुआ 21 जून से लापता ऊना के सैनिक का शव, श्रीनगर में था तैनात

मिट्टी का तेल छिड़ककर 40 वर्षीय महिला ने खुद को लगाई आग

वन रक्षक की लिखित परीक्षा की तारीख घोषित, प्रवेश पत्र हुए जारी

Big News: बेरोजगारों के लिए खुशखबरी, प्रशिक्षु को प्रतिमाह मिलेगा 2400 रुपए वजीफा

इस दिन होगी टीजीटी पंजाबी व ऊर्दू की परीक्षा, बोर्ड ने जारी की डेटशीट

कुल्लू : 200 मीटर गहरी खाई में गिरी कार, दो भाईयों सहित तीन की मौत

नालागढ़ में धोखाधड़ी: 9 हजार रुपए लेकर थमा दी 2 लाख की गड्डी, गिरफ्तार

कुल्लू: डिस्‍पेंसरी में दवा पीने से 5 स्‍कूली बच्चे हुए बेहोश, हालत नाजुक

चंबा: कार खाई में गिरने से 2 की मौत,3 घायल

नालागढ़ में नाबालिग स्‍कूली छात्रा से जीजा ने किया रेप

बड़ी दुर्घटना: 200 मीटर गहरी खाई में गिरी कार, 4 बच्चों समेत 6 की मौत, 4 जख्मी

फर्जी दस्‍तावेज लेकर पीएनबी बैंक में नौकरी ज्‍वाइन करने पहुंची महिला, धरी गई

बड़ी खबर: फ़तेहपुर के जंगलों में आसमान से गिरा 'बम', धमाके के बाद भड़क उठी आग

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है