Covid-19 Update

38,435
मामले (हिमाचल)
29,686
मरीज ठीक हुए
604
मौत
9,351,224
मामले (भारत)
61,988,059
मामले (दुनिया)

मंडी में शुरू हुई बालिका गौरव उद्यान योजना, बच्चियों के नाम पर लगेंगे 1 लाख पौधे

मंडी में शुरू हुई बालिका गौरव उद्यान योजना, बच्चियों के नाम पर लगेंगे 1 लाख पौधे

- Advertisement -

मंडी। जिला प्रशासन मंडी ने बच्चियों की सुरक्षा एवं पर्यावरण संरक्षण को समर्पित बालिका गौरव उद्यान योजना (Balika Gaurav Udhyan yojana) का शुभारंभ किया। योजना के तहत जिलेभर में 469 बालिका गौरव उद्यान विकसित किए जाएंगे और उनमें बेटियों के नाम पर करीब 1 लाख पौधे लगाए जाएंगे। शनिवार को सुंदरनगर (Sundernagar) के विधायक राकेश जम्वाल और उपायुक्त आशुतोष गर्ग ने सुंदरनगर की ग्राम पंचायत कांगू से योजना (Yojana) का शुभारंभ किया। यहां जिले का पहला बालिका गौरव उद्यान विकसित कर करीब 300 पौधे लगाए गए। विधायक और उपायुक्त ने बच्चियों और उनके अभिभावकों के साथ मिलकर पौधे लगाए।

यह भी पढ़ें: मौसम: भारी बारिश लगी रंग दिखाने, कहीं पेड़ गिरे तो कहीं मकान- दुकानों में भी घुसा पानी

 

इस मौके विधायक राकेश जम्वाल ने मंडी जिला प्रशासन की इस अनूठी पहल की सराहना करते हुए कहा यह योजना हिमाचल सरकार (Himachal Government) के बच्चियों की सुरक्षा एवं पर्यावरण संरक्षण के प्रति समाज में संवेदनशीलता बढ़ाने के प्रयासों को और मजबूती देने में सहायक होगी। बालिका गौरव उद्यान योजना बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान एवं हिमाचल सरकार की एक बूटा बेटी के नाम मुहिम को और सशक्त करेगी। इसके तहत जिले की हर पंचायत में बेटियों के नाम पर उद्यान स्थापित करने से मुहिम में सामुदायिक भागीदारी तय होगी।

यह भी पढ़ें: भागसूनागः लैंडस्लाइड में गंभीर घायल 8 माह की बच्ची की टांडा में मौत

ग्राम पंचायतें मनरेगा के तहत सुनिश्चित करेंगी उद्यानों की देखरेख: गर्ग

इस अवसर पर डीसी आशुतोष गर्ग ने योजना की जानकारी देते हुए कहा इसके तहत हर पंचायत में निर्धारित स्थल पर संबंधित पंचायत की सभी बच्चियों के अभिभावक बेटियों के नाम पर पौधे (Plants) लगाएंगे। इसमें संबंधित प्रशासनिक अधिकारियों, पंचायत प्रतिनिधियों और स्थानीय लोगों का सहयोग लिया जाएगा। इस प्रकार विकसित उद्यानों की देखरेख ग्राम पंचायतें मनरेगा के तहत सुनिश्चित करेंगी। योजना का उद्देश्य जिला में लिंगानुपात में सुधार लाना और बच्चियों की सुरक्षा एवं पर्यावरण संरक्षण के प्रति समाज में संवेदनशीलता बढ़ाना है।

यह भी पढ़ें: बिग ब्रेकिंगः हिमाचल में अफसरशाही की फेंट के साथ ट्रांसफर पर लगी रोक

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है