Covid-19 Update

13707
मामले (हिमाचल)
9661
मरीज ठीक हुए
153
मौत
5,908,748
मामले (भारत)
32,784,889
मामले (दुनिया)

Himachal के इस जिला में एक ऐसा मंदिर जो साल के आठ माह रहता है अदृश्य

Himachal के इस जिला में एक ऐसा मंदिर जो साल के आठ माह रहता है अदृश्य

- Advertisement -

रविन्द्र चौधरी /जवाली। हिम के आंचल में बसा हिमाचल कई रहस्यों से भरा पड़ा है। यहां प्रसिद्ध शक्तिपीठों के अलावा कई ऐसे छोटे मंदिर (Temple) है जो अपने आप में अदभुत हैं और अपने आप में कई रहस्यों को छिपाएं हुए हैं। आज हम आपको ऐसे ही एक मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं। यह मंदिर हिमाचल प्रदेश के जिला कांगड़ा (Kangra) में स्थित है। इन मंदिरों की कहानी महाभारत से जुड़ी हुई है। इन मंदिरों की श्रृंखला का निर्माण पांडवों ने अपने अज्ञातवास के दौरान किया था। यह मंदिर साल के आठ महीने पानी में डूबे रहते हैं। ऐसा यहां स्थित पौंग बांध (Pong Dam) के कारण होता है, जिसका पानी चढ़ता-उतरता रहता है।


यह भी पढ़ें: आखिर Himachal में कब तक खुलेंगे मंदिरों के द्वार, पढ़े यहां

 

ब्यास नदी पर बने पौंग बांध की महाराणा प्रताप सागर झील में पठानकोट से 40, धर्मशाला से 70 किमी दूर मेन पौंग की दीवार से 15 किमी दूरी पर ऐतिहासिक स्थल बाथू की लड़ी में इन मंदिरों का निर्माण किया गया था। जो इस समय झील के बीचोंबीच स्थित है। प्राचीन कथाओं के अनुसार पांडवों ने इस पवित्र स्थल का निर्माण करने के उद्देश्य से अपने प्रिय सखा भगवान कृष्ण जी को स्मरण करके एक रात्रि को छह माह के बराबर बना दिया था, ताकि एक ही रात्रि में बाथू की लड़ी (bathu ki ladi) का निर्माण किया जा सके, क्योंकि दिन में अज्ञातवास होने की वजह से पांडव छिपे रहते थे।

 

मंदिर में मौजूद हैं महाभारत काल की वस्तुएं

यह मंदिर साल में करीब आठ माह पौंग झील का स्तर बढ़ने के कारण पानी में डूबा रहता है और मात्र चाह माह तक ही पानी से बाहर रहता है। महाभारत काल (Mahabharata period) में पांडवों द्वारा बनाए गए इन मंदिरो का क्षेत्र राजा गुलेर के अधीन था। उन्होंने इसके रखरखाव की जिम्मेदारी गृहस्थ जीवन से परे की जिदगी जीने वाले वैरागी साधुओं को दे दी थी जो बाद में इन्हीं की गद्दी के रूप में यह मंदिर प्रचलित रहा। इस मंदिर में आज भी पुरानी महाभारत काल की वस्तुएं मौजूद हैं। इस मंदिर के दर्शन के लिए लोग गाडी व बोट दोनों तरीकों से जाते हैं।

यह भी पढ़ें: शुभ विवाह शुभ आंगन, अब इस तरह Brand Ambassador भी बनेंगी बेटियां

 

कई फिल्मी एल्बमों की हो चुकी है शूटिंग

गर्मियों में पूर्ण रूप से पानी के बाहर रहने से इस मंदिर के पूर्णतया दर्शन करके सौभाग्यशाली बना जा सकता है। इस मंदिर के चारों ओर पौंग झील के पानी की मौजूदगी से यह स्थान अति मनमोहक लगता है। इसी के फलस्वरूप इस स्थान पर कई फिल्मी एल्बमों की शूटिंग (Shooting of albums) हो चुकी है। इस बाथू की लड़ी को जाने वाला रास्ता भी काफी दयनीय है। करीब 8 माह तक पानी में समाए रहने के कारण इस मंदिर की नक्काशी भी उखड़नी शुरू हो गई है। इसके साथ निर्मित छोटे-छोटे मंदिर गिरने शुरू हो गए हैं। बाथू की लड़ी को अगर पुरातत्व विभाग (Archeology department) ध्यान दे, तो इसको पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जा सकता है। पर अब यह धरोहर हरसाल पानी के नीचे रहने से खंडहर बनती जा रही है और धीरे धीरे अपने वजूद को खोने लगी है।

यह भी पढ़ें: पांडवों के अज्ञातवास से जुड़े मुरारी देवी मंदिर का रास्ता नहीं हो पाया पक्का

 

बोट या गाड़ी के माध्यम से जा सकते हैं मंदिर तक

इस समय भी लोग यहां गाडी या बोट के माध्यम से जाते हैं क्योंकि इन दिनों यह स्थान पूरी तरह से पानी के बाहर है इस स्थान को निहारते हैं और यहां की निर्माण कला को देख कर आश्चर्य चकित होते हैं। अब 20 अगस्त के बाद जब मानसून की बारिश शुरू होगी तो बांध में जलभराव होना शुरू होगा और फिर 20 सितंबर तक यह ऐतिहासिक मंदिर के शीर्ष से भी ऊपर 50 फीट तक पानी आ जाता है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Scholarship Scam: केसी ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट के वाइस चेयरमैन सहित दो को सशर्त जमानत

बड़ी खबर: BJP चीफ बनने के 8 महीने बाद नड्डा ने बनाई अपनी टीम; एक भी हिमाचली नेता शामिल नहीं

PM Narendra Modi के प्रस्थान तक कुल्लू जिला के अधिकारियों-कर्मियों के पैरों में बेड़ियां

#Cabinet_Breaking: एक विभाग का बदला नाम, भरे जाएंगे ये पद-खुलेंगी ITI

लव जेहाद ,धर्मांतरण और गौ हत्या पर विहिप ने Jairam Govt को घेरा

पहले बाहर से मंगवाते थे किसान अनाज, अब पांच गुणा बढ़ गई अन्न की पैदावार

PM मोदी के हिमाचल दौरे की बड़ी अपडेट: रात को लाहुल-स्पीति में नहीं ठहरेंगे; उसी दिन होगी वापसी

सुकेत व्यापार मंडल के प्रदर्शन से पहले PWD ने उड़ती धूल पर किया पानी का छिड़काव

भरमौर में Accident: नाले में गिरी Pickup, युवक की मौके पर गई जान

मधुबनी के तालाब से मछलियों की जगह निकल रही है शराब की बोरियां

गंगा में मिली South America में पाई जाने वाली मछली, वैज्ञानिकों ने जाहिर की ये चिंता

साड़ी के साथ स्पोर्ट्स शूज पहनकर इस लड़की ने किया कमाल का डांस, देखिए Viral Video

पाक PM इमरान खान ने UN में उगला जहर: भारत को धमकाते हुए कहा- RSS को रोको वरना....

Himachal में अब पहली से आठवीं कक्षाओं की भी होंगी Online परीक्षाएं

#Mandi: बल्ह में पति ने शराब के नशे में पत्नी की डंडे से पीट-पीट कर दी हत्या

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board

#HPBose: डीईएलईडी पार्ट वन और टू का रिजल्ट आउट, कितने सफल, कितने असफल- जानिए

छात्र Online देख सकते हैं SOS की प्रेक्टिकल परीक्षा के अंक , feeding का भी विकल्प

D.El.Ed CET स्पोर्ट्स कैटेगरी काउंसलिंग में आधे अभ्यर्थी ही पात्र

#HPBose: SOS मैट्रिक व जमा दो कक्षाओं की प्रैक्टिकल परीक्षा की डेटशीट जारी

तकनीकी विवि में द्वितीय, चतुर्थ और छठे समेस्टर के छात्रों को किया जाएगा Promote

शिक्षकों-गैर शिक्षकों को स्कूल बुलाने के लिए Notification जारी, विभाग ने ये दिए निर्देश

#HPBose: बोर्ड की अनुपूरक परीक्षाओं से संबंधित जानकारी के लिए घुमाएं ये नंबर

D.El.Ed. CET -2020 की स्पोर्टस कोटे की काउंसिलिंग अब 17 को डाइट में होगी

#HPBose: बोर्ड ने D.El.Ed.CET स्पोर्ट्स कैटेगरी काउंसलिंग की तिथि की तय

#HPBose: हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने घोषित किया यह रिजल्ट- जानिए

Himachal के सरकारी स्कूलों में नौवीं से 12वीं के #OnlineExam आज से शुरू

#HPBose: D.El.Ed. CET स्पोर्ट्स कैटेगरी की काउंसलिंग स्थगित- जाने कारण

#HPBose_ Dharamshala: बोर्ड ने घोषित किया यह रिजल्ट, वेबसाइट में देखें

बड़ी खबर: हिमाचल में सितंबर के बाद स्कूल खुलने के संकेत; छात्रों के #Syllabus को लेकर भी बड़ा फैसला

Himachal: तकनीकी शिक्षा बोर्ड विद्यार्थियों को अगली कक्षा में करेगा प्रमोट, इनकी होंगी परीक्षाएं



×
सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है