सांप के काटने पर फटाफट अपनाएं ये उपाय, फिर ले जाएं अस्पताल

मानसून में बिलों के अंदर पानी भरने से सांप छिपने की जगह ढूंढते

सांप के काटने पर फटाफट अपनाएं ये उपाय, फिर ले जाएं अस्पताल

- Advertisement -

नई दिल्ली। मानसून (Monsoon) के मौसम में तरह तरह के कीड़े नजर आते हैं, लेकिन लोगों को इन कीड़ों से अधिक डर सांप (snake) से होता है। सांप बेहद ही जहरीला (Poisonous) और खतरनाक जीव होता है। बरसात के चलते सांप के बिलों के अंदर पानी भरने से सांप छिपने की जगह ढूंढते हैं और इसी कारण वह घरों में भी घुस आते हैं। जिस एरिया में बड़ी घास और गंदगी होती है वहां सांप अधिक होते हैं। इसके अलावा वह नालों में यह सबसे ज्यादा पाए जाते हैं। हर साल मानसून के दौरान देश में लाखों में सांप काटने के मामले सामने आते है। सांप काटने की ज्यादातर घटनाएं गांव में होती हैं क्योंकि बहुत से गांव में सांप काटने का इलाज (Treatment) नहीं होने पर लोग घरेलू उपचार (Home remedies) करते हैं।


यह भी पढ़ें :-जानें कैसे सेल्फी वीडियो से चेक कर सकते हैं अपना ब्लड प्रेशर


सांप काटने के बाद इन बातों का रखें ध्यान

सांप किसी को काट ले तो उसे जल्द से जल्द अस्पताल ले जाएं, लेकिन इससे पहले एक बात का ध्यान जरूर रखें। जब भी कोई सांप किसी को काटे तो सबसे पहले उसका फोटो अपने स्मार्टफोन में जरूर क्लिक कर लें ताकि डॉक्टर्स को उसकी पहचान करने में आसानी हो जिससे वह जल्द-से-जल्द इलाज शुरू की जा सके। दरअसल सर्पदंश के बाद मरीज के इलाज करने में डॉक्टरों को सबसे बड़ी समस्या ये आती है कि उन्हें ये पता नहीं होता है कि किस नस्ल के सांप ने मरीज को काटा है।

इसलिए आमतौर पर मरीज को एंटी स्नेक वीनम का इंजेक्शन लगा दिया जाता है, लेकिन यदि काटने वाला सर्प ज्यादा जहरीला नहीं हो तो इस स्थिति में ये इंजेक्शन नुकसान की वजह भी बन जाता है। इसी समस्या की वजह से चिकित्सक पहले कुछ देर रूककर मरीज के शरीर में हो रहे परिवर्तन का निरीक्षण करते हैं। जिससे उन्हें ये समझने में आसानी होती है कि मरीज को किस सांप ने काटा है। फिर इस बात का पता चलने के बाद ही वो अपनी चिकित्सा को आगे बढ़ाते हैं और मरीज की जान बचा सकते हैं।

जहां सांप ज्‍यादा पाएं जाते हैं, वहां के लोगों को घर में नाजा (NAJA) दवाई रखनी चाहिए। ये एक तरह की होम्योपैथी दवा है जो किसी भी होम्योपैथी मेडिकल स्टोर में उपलब्ध हो जाएगी। दंश वाले स्‍थान को ठंडे पानी से धोएं। ऐसा करने से शरीर को आराम मिलेगा और सांप के काटने से उस जगह पर आपको राहत महसूस होगी। साथ ही सांप काटने वाली जगह पर नींबू के रस से धुलाई करें, इससे इंफेक्‍शन का खतरा कम रहता है।


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

100 मीटर दूरी न पाट पाया भारतीय दूतावास, 8 साल से सऊदी में फंसा है हिमाचली युवक

बीजेपी ने हिमाचल में बढ़ा लिया दस लाख का कुनबा, अभियान को विराम देने आए शिवराज

नूरपुर : डन्नी में खतरा बरकार, बांध में बार-बार भर रहा पानी, प्रशासन मौके पर

सीएम कमलनाथ का भांजा रतुल पुरी 354 करोड़ के बैंक घोटाले के आरोप में गिरफ्तार

मणिमहेश को आज से शुरू होगी हेली टैक्सी, इतना लगेगा किराया

चक्की खड्ड के पास के गांवों में खतरे की घंटी, खाली करने की सलाह

ननखड़ी में बोलेरो खाई में गिरी, एक महिला की मौत-पांच घायल

मानसून सत्रः हिमाचल में बनेगी जल परिवहन नीति, खरीदे जाएंगे स्टीमर

बारिश के जख्मों पर मरहम-पीडब्ल्यूडी, आईपीएच और बिजली बोर्ड को 15 करोड़ जारी

चंडीगढ़-मनाली नेशनल हाईवे 43 घंटों के बाद बहाल, दौड़ी गाड़ियां

सरकार ने किया साफः नहीं भरे जाएंगे फीमेल हेल्थ वर्कर्ज के बेचवाइज पद

चंद्रताल में फंसे 127 पर्यटक रेस्क्यू, काजा मार्ग पर 300 की अभी भी अटकी हैं सांसे

मानसून सत्रः सदन में गूंजा विधायक रायजादा मामला, विपक्ष का हंगामा-नारेबाजी की

हिमाचल विधानसभा का मानसून सत्र शुरू, 31 तक चलेगा

मानसून सत्रः जलरक्षकों को लेकर सरकार ने कही यह बड़ी बात-जानिए

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है