Covid-19 Update

38,435
मामले (हिमाचल)
29,686
मरीज ठीक हुए
604
मौत
9,351,224
मामले (भारत)
61,988,059
मामले (दुनिया)

यहां लोग #Corona से डरते नहीं बड़े प्यार से सुनते हैं उसकी बातें,आखिर कौन है ये

कोल्लम नगर निगम के मैथिलिल वार्ड बीजेपी की प्रत्‍याशी हैं कोरोना

यहां लोग #Corona से डरते नहीं बड़े प्यार से सुनते हैं उसकी बातें,आखिर कौन है ये

- Advertisement -

कोरोना ( #corona)के खौफ ने पिछले कुछ माह से देश ही नहीं दुनियाभर में लोगों को परेशान कर रखा है। इससे बचने के लिए हर कोई एहतियात बरत रहा है। हाल यह है कि हर कोई कोरोना के नाम तक से घबरा जाता है और भगवान से यह दुआ करता है कि उसे कोरोना न हो। इस सब बातों से हटकर हमारे देश एक जगह ऐसी भी है जहां पर कोरोना का नाम बड़े प्यार से लिया जाता है। इतना ही नहीं लोग कोरोना की बात बड़े ध्यान से सुनते भी है। पड़ गए न असमंजस में, तो हम आप को हबता देते हैं कि यह कोई और नहीं केरल(Kerala) के कोल्लम नगर निगम( Kollam Municipal Corporation) के मैथिलिल वार्ड में एक महिला है और उसका नाम है कोरोना थॉमस । हाथ जोड़कर मुस्‍कराते हुए जब कोरोना अपना परिचय लोगों को देती है और लोग उससे बात करते हैं और उसकी बात सुनते हैं।

चुनाव प्रचार के दौरान मास्‍क और ग्‍लब्‍स पहनकर घर-घर जाती हैं

दर असल कोरोना थॉमस अगले माह होने वाले निकाय चुनावों में कोल्लम नगर निगम के मैथिलिल वार्ड बीजेपी की प्रत्‍याशी हैं। चुनाव प्रचार के दौरान कोरोना मास्‍क और ग्‍लब्‍स पहनकर घर-घर जाती हैं और लोगों से संपर्क साधती हैं। 24 वर्षीय कोरोना थॉमस लोगों को सैनिटाजर देती हैं और अपने पक्ष में वोट मांगती हैं। जनसभा के दौरान सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन हो, वह इसे भी सुनिश्चित करती हैं। कोरोना कहती है जब कोरोना वायरस संक्रमण की शुरुआत हुई और यह संक्रामक रोग दुनियाभर में तबाही मचाने लगा तब उन्‍हें अपने नाम को लेकर संकोच हो ता था। ‘गो कोरोना’ और ‘किल कोरोना’ जैसे नारों ने उन्‍हें परेशान कर दिया। हालांकि बाद में यही नाम उनके लिए आशीर्वाद बन गया। वह कहती हैं, ‘मेरे नाम के कारण हर कोई मुझे प्रचार के दौरान पहचान जाता है और याद रखता है। मैं जहां भी जाती हूं, लोग खुशी मिश्रित हैरानी के साथ मुझे बुलाते हैं। मुझे आशा है कि यह नाम मतदाताओं को चुनाव के दिन मुझे याद रखने और उन्हें मेरे पक्ष में वोट देने में मदद करेगा।’

पिता थॉमस फ्रांसिस ने रखा नाम

कोरोना थॉमस ने बताया कि उनके पिता थॉमस फ्रांसिस ने उनके और उनके जुड़वां भाई के लिए दो ऐसे नाम चुने, जो अलग हटकर थे। बेटी के लिए जहां उन्‍होंने कोरोना नाम चुना, वहीं बेटे का नाम कोरल थॉमस रखा। तब उन्‍होंने जो सोचकर बेटी का नाम कोरोना रख था, उसका आशय प्रकाशपुंज से था। तब उन्‍होंने शायद ही सोचा था कि कोरोना नाम का वायरस दुनिया में तबाही मचाएगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है