Covid-19 Update

19,844
मामले (हिमाचल)
16,932
मरीज ठीक हुए
279
मौत
7,708,947
मामले (भारत)
41,551,565
मामले (दुनिया)

अब मिलेगी किन्नौर के चिलगोजा व स्पीति के सीबकथॉर्न को नई पहचान

अब मिलेगी किन्नौर के चिलगोजा व स्पीति के सीबकथॉर्न को नई पहचान

- Advertisement -

हिमाचल सरकार प्रदेश के हरित आवरण को बढ़ाने व पर्यावरण संरक्षण( Environment protection) को प्राथमिकता दे रही है, जिसके लिए वन विभाग( Forest department) के माध्यम से अनेक योजनाएं चलाई जा रही हैं। वन विभाग की विभिन्न योजनाओं के सफलतापूर्वक कार्यन्वयन से प्रदेश के हरित आवरण में वृद्धि दर्ज की गई है। राज्य के हरित आवरण को बढ़ाने के साथ लोगों को आजीविका उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से प्रदेश में ‘हिमाचल प्रदेश वन पारितंत्र प्रबंधन और आजीविका सुधार परियोजना’ शुरू की गई है, जिसके सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं। जापान इंटरनेशनल कॉपरेशन (जाइका) एजेंसी द्वारा वित्त पोषित इस परियोजना पर वन विभाग द्वारा 800 करोड़ रुपये व्यय किए जा रहे हैं। 10 वर्षीय इस परियोजना का मुख्य लक्ष्य प्रदेश में वन वृद्धि, जैव-विविधता संरक्षण, संस्थागत क्षमता के सुदृढ़ीकरण के साथ ग्रामीण लोगों की आर्थिकी में सुधार करना है। इस परियोजना के लिए वर्ष 2020-21 के लिए 41.78 करोड़ रुपये आबंटित किए गए हैं। प्रदेश के 12 हजार हेक्टेयर वन भूमि पर विभिन्न प्रजातियों के एक करोड़ से अधिक पौधे रोपित करने का लक्ष्य इस वित्त वर्ष में निर्धारित किया है, जिसे पूरा करने के लिए जाइका परियोजना के अंतर्गत एक करोड़ 35 लाख पौधे प्रदेश भर में विभिन्न नर्सरियों में तैयार किए गए हैं।

 

औषधीय पौधों को बढ़ावा दिया जाएगा

परियोजना प्रदेश के 6 जिलों किन्नौर, शिमला, बिलासपुर, मंडी, कुल्लू और लाहुल स्पीति के 18 वन मंडलों के 16 वन परिक्षेत्रों में कार्यान्वित की जा रही है। परियोजना में स्थानीय लोगों की भागीदारी सुनिश्चित करने के उद्देश्य से 81 ग्रामीण वन समितियां गठित की गई है। इस परियोजना के अंतर्ग जनजातीय क्षेत्र किन्नौर के चिलगोजा और स्पीति के सीबकथॉर्न (छरमा) जैसे औषधीय पौधों को बढ़ावा दिया जाएगा। इन प्रजातियों के 35 हजार पौधे रोपित करने के लिए संबंधित वन मण्डल अधिकारियों को लगभग 10 लाख रुपये की राशि उपलब्ध करवाई जाएगी।
इस परियोजना के अन्तर्गत खराब वन क्षेत्रों को सघन वन बनाने हेतु पौधरोपण, चारागाह सुधार के कार्य, मिट्टी एवं जल संरक्षण हेतू कार्य, वनों का आग से बचाव, खरपतवार नष्ट करने के कार्य, जैव विविधता गलियारा पर प्रायोगिक परियोजना, जैव विविधता गणना के लिए बुनियादी अध्ययन, सामुदायिक आजीविका सुधार गतिविधियां, औषधीय पौधों पर आधारित आजीविका सुधार गतिविधियां शुरू की जाएगी, जिसके लिए राज्य स्तर पर हिम जड़ी-बूटी समिति का भी गठन किया जाएगा।

 

759 हेक्टेयर भूमि में लगाए जाएंगे पौधे

परियोजना में शामिल जिलों के प्रत्येक वार्ड के लिए एक सूक्ष्म योजना बनाई गई है और इस वर्ष 40 सूक्ष्म योजनाएं कार्यान्वित की जाएंगी। वर्ष 2020-21 के लिए 150 सूक्ष्म योजनाएं बनाने का लक्ष्य रखा गया है। इन योजनाओं के अन्तर्गत प्रत्येक वार्ड में 10 युवाओं को रोजगार प्रदान किया जाएगा। ग्रामीण वन समितियों द्वारा बनाई गई सूक्ष्म योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए इस परियोजना के अन्तर्गत 759 हेक्टेयर भूमि में पौधे रोपित किए जाएंगे। मानव वन्य प्राणी संघर्ष सम्बन्धी मामलों से निपटने के लिए 16 त्वरित कार्रवाई दल गठित किए गए हैं। प्रदेश की जैव विविधता की गणना के लिए सेटेलाइट और ड्रोन की मदद से सर्वेक्षण करवाए जा रहे हैं। प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों की आजीविका में सुधार हेतु ‘जड़ी-बूटी सैल’ का गठन कर उसे वन समृद्धि जन समृद्धि योजना से जोड़ा जाएगा। जिसका मुख्य उद्देश्य लोगों को रोजगार प्रदान करने के साथ-साथ प्रदेश की वन सम्पदा का संरक्षण करना भी है। प्रदेश की जड़ी-बूटियों की भौगोलिक संकेतक (जीआई) टैगिंग करने के साथ इनका प्रसंस्करण कर मार्केटिंग के लिए विशेष प्रबंधक भी नियुक्ति किए जाएंगे। प्रदेश के लोगों की सहभागिता बढ़ाने के साथ उनकी आय में वृद्धि करने के उद्देश्य से 11 हिम जड़ी-बूटी सहकारी समितियों का गठन प्रस्तावित है। पशुओं के लिए चारे की कमी न हो इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए फ्रांस की मदद से हाइड्रोपाॅनिक तरीके से चरागाहें विकसित की जाएगी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Una से नई दिल्ली जनशताब्दी एक्सप्रेस के सफर को करना होगा इंतजार

श्री नैना देवी माता के दर्शनों को आएं तो Mask जरूर लगाएं, कहीं ढीली ना हो जाए जेब

सेना भर्ती की संयुक्त परीक्षा पहली नवंबर को, सुबह 3 बजे से मिलेंगे Admit Card

Shanta के बयान पर #BJP की घेराबंदी, कुलदीप राठौर ने कह दी यह बड़ी बात

कल किया था ABVP का समर्थन, आज NSUI का साथ निभाने HPU पहुंचे विक्रमादित्य सिंह

National Scholarship Portal पर छात्रवृति के लिए इन कक्षाओं के छात्र करें जल्द Online Apply

ऊना में Fake M Form बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश, Punjab का युवक भी किया Arrest

सिर्फ ढाई घंटे में पहुंच जाएंगे Delhi से Lucknow, 500 किमी की दूरी कम करेंगी ये #High_Speed_Train

रिलायंस जियो ने लॉन्च किया स्वदेशी वेब ब्राउजर JioPages, आठ भारतीय भाषाओं को करेगा सपोर्ट

तय समय के बाद एंटीबॉडी में कमी आने से बढ़ता है #Corona_Infection का खतरा

चैहड ने प्राकृतिक आवास में जमाया डेरा, रेडियो टैगिंग के माध्यम से किया जा रहा ट्रैक

#Corona Update: हिमाचल में आज 264 लोग कोरोना संक्रमित, पांच की गई जान

राजद्रोह केस में #Kangana को मुंबई पुलिस का समन; 26 अक्टूबर को पेश होने का आदेश

बड़ी खबर: अब पूरी जिंदगी में सिर्फ एक बार पास करनी होगी TET की परीक्षा; 7 साल वाला प्रावधान खत्म

7 माह बाद शिमला-कालका ट्रैक पर चली Special Train. नहीं मिली कोई भी सवारी

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board

जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा 6 का #Entrance_Exam अब 7 नवंबर को

स्कूलों के बाद अब Colleges खोलने की तैयारी, नवंबर से आएंगे Practical विषयों के छात्र

TET Exam में इन अभ्यर्थियों को मिली छूट, बिना आवेदन दे सकेंगे परीक्षा, बस करना होगा ये काम

#Himachal में School खोलने की तैयारी में सरकार, क्या रहेगा प्लान पढ़े यहां

Big Breaking: हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने टैट परीक्षा का शेड्यूल किया जारी- जानिए

#HPBose: 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षाओं के छात्रों को बड़ी राहत- पढ़ें खबर

हिमाचल में 100% मास्टर जी लौट आए #School, बनने लगा स्टूडेंट्स के लिए माइक्रो प्लान

SMC शिक्षकों को बड़ी राहत, #Supreme_Court ने हिमाचल हाईकोर्ट के फैसले पर लगाई रोक

गोविंद ठाकुर बोले- #Himachal में स्कूल खोलने हैं या नहीं, 9 को होगा फैसला

शिक्षा विभाग ने तैयार किया #Himachal में स्कूल खोलने का प्रस्ताव; जानें क्या है योजना

D.El.Ed CET 2020: 12 से 23 अक्टूबर तक होगी स्क्रीनिंग, अभ्यर्थी करें ऐसा

Himachal में 530 हेड मास्टर और लेक्चरर बने प्रिंसिपल, पर वेतन बढ़ोतरी को करना होगा इंतजार

बिग ब्रेकिंगः हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने आठ विषयों की TET परीक्षा का Result किया आउट

#HPBose: बोर्ड ने छात्र हित में लिया फैसला, 30 तक बढ़ाई यह तिथि

पहली से आठवीं कक्षाओं के छात्रों की ऑनलाइन परीक्षाओं की Datesheet जारी



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है