सीएम जयराम बोले, बख्शे नहीं जाएंगे कोताही बरतने वाले ठेकेदार व कर्मी

योजनाओं के कार्यान्वयन के प्रति ‘प्रो-एक्टिव’रवैया अपनाने को कहा

सीएम जयराम बोले, बख्शे नहीं जाएंगे कोताही बरतने वाले ठेकेदार व कर्मी

- Advertisement -

शिमला। सीएम जय राम ठाकुर ( CM Jai Ram Thakur)ने प्रदेश के सभी अधिकारियों को विकासात्मक योजनाओं के प्रभावकारी कार्यान्वयन के प्रति ‘प्रो-एक्टिव’ रवैया अपनाने के निर्देश दिए हैं ताकि निर्धारित समय में चल रही परियोजनाओं के कार्यों को पूरा किया जा सके और वांछित लक्ष्यों को भी प्राप्त किया जा सके। उन्होंने कहा कि ऐसी परियोजनाओं को प्राथमिकता के आधार पर पूरा किया जाना चाहिए, जिनमें 60 प्रतिशत से अधिक कार्य हो चुके हैं।



यह भी पढ़ें: अब अपने परीक्षा केंद्र में ऑनलाइन व ऑफलाइन परीक्षाएं करवा सकेगा लोक सेवा आयोग

उन्होंने कहा कि कार्यों में तेजी लाने के समय गुणवत्ता पर किसी भी प्रकार से समझौता नहीं किया जाएगा तथा कोताही बरतने वाले ठेकेदारों अथवा कर्मचारियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। ‘हिम विकास समीक्षा’ की प्रथम बैठक की अध्यक्षता करते हुए सीएम ने कहा कि यह राज्य सरकार( state Govt) की ऐसी अभिनव पहल है, जिससे विकासात्मक परियोजनाओं के कार्यों की प्रगति की लगातार समीक्षा की जा सकेगी तथा इससे विकास कार्यों में तेजी भी आएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 21 विभागों के लिए 103 मुख्य कार्यनिष्पादन संकेतक निर्धारित किए गए हैं, जबकि 26 विभागों के लिए ऐसे चार संकेतक बनाए गए हैं।

सीएम ने कहा कि सरकारी विभागों के कार्यों की समीक्षा के लिए यह एक ऐसा तंत्र विकसित किया गया है, जिससे अलग-अलग विभागों की समीक्षा करने की बजाय अब सभी विभागों का एक साथ आकलन संभव हो सकेगा। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों में तेजी लाने के लिए पारम्परिक तरीकों की बजाय अब ऑनलाइन रिपोर्टिंग अपनाई जा रही है, जिससे कार्यों के निष्पादन में तेजी आई है और पारदर्शिता भी बढ़ी है।

जय राम ठाकुर ने लोक निर्माण विभाग को भी अपने कार्यों की निगरानी रखने के लिए प्रबंधन का ऐसा सूचना तंत्र विकसित करने के निर्देश दिए, जिसमें विभाग के सभी कार्य ऑनलाइन दर्शाए जा सकें। उन्होंने कहा कि वन अधिनियम तथा वन संरक्षण अधिनियम के मामलों को शीघ्र निपटाने पर विशेष बल दिया जाना चाहिए ताकि वन स्वीकृतियां के कारण विकासात्मक परियोजनाओं को आरम्भ करने में विलम्ब न आए। उन्होंने परियोजनाओं को समयबद्ध आधार पर पूरा करने के साथ-साथ निर्माण कार्यों में गुणवत्ता बनाए रखने पर भी विशेष ध्यान दिए जाने की आवश्यकता पर बल दिया। सीएम ने कहा कि हिमाचल प्रदेश सिक्किम राज्य के उपरांत ऐसा दूसरा प्रदेश है, जहां लोगों को घर-द्वार पर स्वच्छ पेयजल की सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग को जल जनित रोगों की रोकथाम के लिए विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करवाना सुनिश्चित बनाना चाहिए।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

चंबा: सीने से बज रही थी सीटियां, डॉक्टरों ने फेफड़े से निकाली ये चीज

डिनर पार्टीः ध्वाला ने लगाए ठुमके, जयराम और सुरेश भारद्वाज ने डाली नाटी

नाहन: नाले में गिरी गाड़ी, एक युवक की मौत, दो घायल

विदेशों में आतंकवादी घटना में मरने वालों के आश्रितों को नौकरी देगी सरकार

मंडी एयरपोर्ट के रास्ते में कोई बाधा नहीं, दो सप्ताह में होगा एमओयू

हिमाचल में नहीं अवैध खनन का कारोबार, सिर्फ मिलती हैं शिकायतें

हिमाचल: SJVN लिमिटेड ने निकाली 230 अप्रेंटिस पदों पर भर्ती, बिना इंटरव्यू होगा चयन

हरिपुरधार में बर्फ में स्किड हुई बस , मची अफरा तफरी

मंडी के होटल से पुलिस ने चिट्टे के साथ धरे चार, नाबालिग भी  शामिल  

विस Live : आउटसोर्स से नियुक्तियों पर पुनर्विचार करेगी सरकार, लग सकती है रोक

कार की टक्कर से घायल हुए पुलिस जवान ने पीजीआई में तोड़ा दम

सानिया मिर्जा की बहन ने किया पूर्व क्रिकेटर अजहरुद्दीन के बेटे से दूसरा निकाह, देखें तस्वीरें

90 वर्षों के पश्चात माता पंचालिका का मंदिर की हुई प्रतिष्ठा

रावी में फंसा शराबी, आधे घंटे तक चला रेस्क्यू आपरेशन

धवाला बोले - मंत्री बनने की इच्छा मेरी भी, वैसे कईयों ने सिलवा लिए नए कोट

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है