हर चौथी महिला है इस रोग से पीड़ित, ईलाज न करने पर हो सकती है जानलेवा बीमारी

होम्योपैथी से किया जा सकता है ईलाज

हर चौथी महिला है इस रोग से पीड़ित, ईलाज न करने पर हो सकती है जानलेवा बीमारी

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारत (India) की हर चौथी महिला ‘पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम’ (polycystic ovary syndrome) यानी अंत:स्रावी तंत्र विकार से पीड़ित हैं। आम होने के कारण इसकी जागरूकता लोगों में नहीं है। लेकिन इसका ईलाज न करने पर यह जानलेवा बीमारी का रूप भी ले सकती है। जानिए इस बीमारी के बचाव और लक्षणों के बारे में..

यह भी पढ़ें- जानें क्या है खतरनाक रोग सिफलिस और इसके लक्षण

लक्षण: अनियमित और दर्दनाक मासिक, चेहरे और शरीर पर बालों का बढ़ना और पतला होना, तेजी से वजन बढ़ने जैसे लक्षणों के साथ पीसीओएस अक्सर आत्म-सम्मान के कम होने का कारण बनता है। इसे यदि अनदेखा किया जाए तो यह बांझपन, मधुमेह, हृदय रोग और एंडोमेट्रियल कैंसर जैसी खतरनाक स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है।

बचाव: पीसीओएस का इलाज होम्योपैथी (Homeopathy) से किया जा सकता है और इससे पीड़ित महिलाएं पीसीओएस मुक्त, स्वस्थ और सामान्य जीवन जी सकती हैं। विश्व पीसीओएस जागरूकता माह (World PCOS Awareness Month) पर टिप्पणी करते हुए डा. बत्रा समूह के संस्थापक और अध्यक्ष एमेरिटस और पद्मश्री डॉ. मुकेश बत्रा ने कहा, ‘महिलाएं किसी भी समाज में स्वास्थ्य देखभाल की रीढ़ हैं। हालांकि, अक्सर वे अपने स्वास्थ्य को अनदेखा करती हैं। एक देश के स्वास्थ्य के लिए जरूरी है कि उसकी महिलाएं स्वस्थ हों।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है