Covid-19 Update

34,346
मामले (हिमाचल)
26,777
मरीज ठीक हुए
528
मौत
9,140,312
मामले (भारत)
58,985,500
मामले (दुनिया)

मंगलसूत्र की तुलना ‘चेन से बंधे कुत्ते’ से करने को लेकर गोवा की प्रोफेसर पर FIR दर्ज

एफआईआर राष्ट्रीय हिंदू युवा वाहिनी के गोवा यूनिट के राजीव झा ने करवाई है

मंगलसूत्र की तुलना ‘चेन से बंधे कुत्ते’ से करने को लेकर गोवा की प्रोफेसर पर FIR दर्ज

- Advertisement -

गोवा। गोवा लॉ कॉलेज (Goa law college) की एक असिस्टेंट प्रोफेसर शिल्पा सिंह (Shilpa Singh) के खिलाफ जानबूझकर धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप में FIR दर्ज हुई है। एफआईआर राष्ट्रीय हिंदू युवा वाहिनी के गोवा यूनिट के राजीव झा ने करवाई है। दरअसल, शिल्पा ने अप्रैल में फेसबुक पर पितृ-सत्ता और सिद्धांतों को चुनौती देते हुए मंगलसूत्र की तुलना ‘चेन से बंधे कुत्ते’ से की थी। बतौर रिपोर्ट्स, असिस्टेंट प्रोफेसर शिल्पा सिंह ने इस साल 21 अप्रैल को सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर यह पोस्ट लिखा था। उनके इस पोस्ट के बाद पोंडा, साउथ गोवा के रहने वाले राजीव झा ने उनके इस पोस्ट के खिलाफ गोवा पुलिस में FIR दर्ज करवाई।

प्रोफेसर ने मांगी पुलिस से सुरक्षा; ABVP पर लगाया आरोप

झा ने आरोप लगाया कि शिल्पा सिंह ने हिंदू धर्म को लेकर सोशल मीडिया पर अपमानजनक कमेंट किए हैं और धार्मिक भावनों का मजाक उड़ाया है। इधर शिल्पा सिंह ने भी पुलिस से सुरक्षा मांगी, उन्होंने कहा कि उन्हें सोशल मीडिया पर धमकी भरे मैसेज आ रहे हैं और उनकी जान को खतरा है इसलिए उन्हें सुरक्षा दी जाए। इस मामले में शिल्पा सिंह के खिलाफ ABVP ने भी कॉलेज में शिकायत की थी, जिस पर कॉलेज ने कोई भी एक्शन लेने से मना कर दिया। ABVP ने आरोप लगाया था कि प्रोफेसर शिल्पा सिंह एक धर्म विशेष के खिलाफ समाज में नफरत के विचार फैला रहीं हैं, ABVP की मांग थी कि उन्हें तुरंत हटाया जाए। शिकायतकर्ता राजीव झा ने कहा कि वो ABVP के मामले के बारे में जानते हैं, लेकिन वो इसमें पार्टी नहीं है। उन्होंने ये शिकायत निजी क्षमता पर दर्ज कराई है।

नया पोस्ट कर मांगी माफी; बोलीं- मेरी बातों को गलत तरीके से लिया गया

नॉर्थ गोवा के एसपी उत्कृष्ठ प्रसून ने मामले पर कहा कि शिकायत के आधार पर प्रोफेसर शिल्पा सिंह और राजीव झा के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। वहीं, अपनी फेसबुक पोस्ट पर बवाल मचने के बाद प्रोफेसर शिल्पा सिंह ने माफी भी मांगी, उन्होंने लिखा कि ‘मेरी बातों को गलत तरीके से लिया गया, मैं उन सभी महिलाओं से खेद प्रकट करती हूं जिन्हें मेरी पोस्ट से दुख हुआ। उन्होंने आगे लिखा कि बचपन से ही मैं हमेशा ये सवाल सोचती थी कि शादी के बाद मैरिटल स्टेटस का सिम्बल सिर्फ महिलाओं के लिए क्यों जरूरी है, पुरुषों के लिए क्यों नहीं। ये देखकर निराश हूं कि मेरे बारे में गलत विचार फैलाए गए कि मैं एक ‘अधार्मिक’ और भगवान से नफरत करने वाली नास्तिक हूं, जबकि ये सच्चाई से कोसों दूर है।’

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whatsapp Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है