Covid-19 Update

37,497
मामले (हिमाचल)
28,993
मरीज ठीक हुए
589
मौत
9,309,871
मामले (भारत)
61436,257
मामले (दुनिया)

सुधीर बोलेः ट्रिब्यूनल बंद होने से कर्मचारियों के शोषण के साथ बढ़ेगा तबादला माफिया

सुधीर बोलेः ट्रिब्यूनल बंद होने से कर्मचारियों के शोषण के साथ बढ़ेगा तबादला माफिया

- Advertisement -

धर्मशाला। पूर्व मंत्री सुधीर शर्मा (Former Minister Sudhir Sharma) ने कहा कि सरकार द्वारा जो ट्रिब्यूनल (Tribunal) बंद करने का फैसला लिया गया है, वह सिर्फ राजनीति से प्रेरित है और न्यायोचित नहीं है। ट्रिब्यूनल (Tribunal) बंद होने से ना केवल कर्मचारियों का शोषण बढ़ेगा, बल्कि प्रदेश में तबादला माफिया को और बल मिलेगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस (Congress) सरकार के समय सरकारी कर्मचारियों और अधिकारियों को सस्ता और जल्द न्याय प्रदान करने के उद्देश्य से ट्रिब्यूनल (Tribunal) का गठन किया गया था।

यह भी पढ़ें: दसवीं पुनर्मूल्यांकन से संबंधित मूल प्रमाण पत्र जमा करवाने की तिथि बढ़ी

पिछली बार भी जब धूमल के नेतृत्व में हिमाचल में 2007 में सरकार बनी, तो सबसे पहले कर्मचारियों और अधिकारियों को पहला तोहफा ट्रिब्यूनल (Tribunal) बंद करके दिया, जिस वजह से कर्मचारियों को छोटे-छोटे कार्यों के लिए हाईकोर्ट (High Court) का रुख करना पड़ा। जब वर्ष 2012 में कांग्रेस (Congress) पार्टी की सरकार बनी तो सरकार द्वारा कर्मचारियों के दर्द को समझते हुए इसका दोबारा से शुरू किया।

मौजूदा सरकार की करनी और कथनी में काफी फर्क है, क्योंकि जब विधानसभा के चुनाव हुए तो बीजेपी (BJP) के घोषणा पत्र में यह मुख्य रूप से दर्शाया था कि इस बार इनकी सरकार बनी, तो यह धर्मशाला (Dharamshala) और मंडी (Mandi) में ट्रिब्यूनल (Tribunal) का स्थाई पीठ बनाएंगे। पर एक बार फिर से ट्रिब्यूनल को बंद करने का फैसला लेकर सरकार द्वारा कर्मचारियों के साथ धोखा किया गया। उन्होंने कर्मचारियों को यह भी आश्वासन दिया कि अगली बार हिमाचल में कोंग्रेस की सरकार बनने पर , ना केवल ट्रिब्यूनल (Tribunal) को फिर से गठित किया जाएगा, बल्कि इसे सुचारू रूप से चलाने के लिए और मजबूत बनाया जाएगा।

 

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है