पूर्व प्रदेश महाधिवक्ता मलकियत सिंह चंदेल के निधन पर हाईकोर्ट में फुल कोर्ट रिफरेंस

उनके न्यायपालिका के लिए दिए गए अहम योगदान को याद किया

पूर्व प्रदेश महाधिवक्ता मलकियत सिंह चंदेल के निधन पर हाईकोर्ट में फुल कोर्ट रिफरेंस

- Advertisement -

शिमला। पूर्व प्रदेश महाधिवक्ता व आपराधिक मामलों के विशेषज्ञ वरिष्ठ अधिवक्ता मलकियत सिंह चंदेल के आकस्मिक निधन पर हाईकोर्ट (High Court) में फुल कोर्ट रिफरेंस का आयोजन किया गया। उनके द्वारा न्यायपालिका के लिए दिए गए अहम योगदान को याद किया गया। उन्हें वर्ष 2003 में वरिष्ठ अधिवक्ता बनाया गया था। वे 7 मार्च 2003 से 2 जनवरी 2008 तक प्रदेश महाधिवक्ता रहे। इस अवसर पर बोलते हुए मुख्य न्यायाधीश वी रामासुब्रमण्यन ने कहा कि एमएस चंदेल (MS Chandel) एक बड़े कानूनी विशेषज्ञ होने के साथ-साथ उन्हें सिविल, क्रिमिनल व संवैधानिक मामलों की अच्छी खासी परख थी। वे अपने सादे व्यक्तित्व के लिए जाने जाते थे। मुख्य न्यायाधीश ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए शोक संतप्त परिवार के लिए संवेदना प्रकट की। उन्होंने कहा कि चंदेल के निधन से न्यायिक बिरादरी को काफी क्षति पहुंची है।


यह भी पढ़ें :- फर्जी आईआरडीपी सर्टिफिकेट से हथियाई टीचर की जॉब, धोखाधड़ी का केस

 


बिलासपुर से संबंध रखने वाले मलकियत सिंह चंदेल का जन्म 15 दिसंबर 1933 को हुआ था। उन्होंने गवर्नमेंट डिग्री हाई स्कूल बिलासपुर (Bilaspur) से वर्ष 1951 में मैट्रिक की परीक्षा उत्तीर्ण की थी। उन्होंने रोपड़ गवर्नमेंट डिग्री कॉलेज से स्नातक की डिग्री लेने के पश्चात वर्ष 1957 में पंजाब यूनिवर्सिटी से विधि स्नातक की डिग्री हासिल की थी। उन्होंने वर्ष 1957 से 1959 तक अधीनस्थ न्यायालय घुमारवीं में वकालत की। वर्ष 1959 में उनकी प्रॉसीक्यूशन सब इंस्पेक्टर के पद पर नियुक्ति हो गई। वर्ष 1981 में उन्हें असिस्टेंट एडवोकेट जनरल के पद पर नियुक्त किया गया। वे वर्ष 1991 में डिप्टी एडवोकेट जनरल के पद पर पदोन्नत हुए व 31 दिसंबर 1991 को सेवानिवृत्त हो गए। वर्ष 1992 से उन्होंने पुनः निजी तौर पर वकालत शुरू की।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

भरमौर चौरासी मंदिर में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब, बग्गा में जाम ने निकाला पसीना

किसी कंपनी ने नहीं दिखाई चंबा से गौरीकुंड तक हेली टैक्सी सेवा में रूचि

शिक्षा बोर्ड का फरमानः स्कालरशिप से वंचित रह सकते हैं पुर्नमूल्यांकन परिणाम रद्द छात्र

बॉलीवुड की दंगल गर्ल फातिमा सना शेख मैक्लोडगंज में बिता रहीं छुट्टियां

पंचायत में भ्रष्टाचार की शिकायतों का 15 दिन में होगा निपटारा, भरेंगे सचिवों के 300 पद

मानसून सत्रः सभी सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में इसी वर्ष स्थापित होंगी आईसीटी लैब

पुलिस हिरासत से भागा चिट्टा तस्कर दबोचा, दो पुलिस कर्मी सस्पेंड

शिक्षा बोर्ड भरेगा जेओए (आईटी) के यह तीन पद, कल से करें ऑनलाइन आवेदन

सत्ती का बड़ा आरोपः खनन के काम में लगे मुकेश के पीए, बहस की दी चुनौती

हिमाचल विधानसभा में अब सवालों के प्रतिवेदनों के कागजी दस्तावेज नहीं मिलेंगे !

मानसून सत्रः ग्रामीण विद्या उपासक व पैट वेतन विसंगति पर यह बोले शिक्षा मंत्री

डीसी से मिलीं पंचायत प्रधानः बोलीं-क्वार्टर आने को कह रहा अधिकारी, नहीं होने दे रहा काम

मानसून सत्रः एनपीएस और पेंशन बढ़ोतरी को लेकर सदन में क्या बोले जयराम-जानिए

राठौर बोले, चिदंबरम की गिरफ्तारी सोची-समझी राजनीतिक रणनीति

तीन घंटे की पूछताछ में चिदंबरम ने नहीं किया सहयोग, कोर्ट में पेशी कुछ देर में

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है