Covid-19 Update

44,405
मामले (हिमाचल)
35,403
मरीज ठीक हुए
711
मौत
9,608,418
मामले (भारत)
66,501,425
मामले (दुनिया)

गौ सेवा समिति जामली धाम का प्रयासः गाय के गोबर से बने दियों से रोशन होंगे गौ भक्तों के घर

हमीरपुर गौ सेवा समिति जामली धाम ने गौ भक्तों को बांटे गोबर से बने दीये

गौ सेवा समिति जामली धाम का प्रयासः गाय के गोबर से बने दियों से रोशन होंगे गौ भक्तों के घर

- Advertisement -

हमीरपुर गौ सेवा समिति जामली धाम ने गौ भक्तों को बांटे गोबर से बने दीये दिवाली पर लोगों के घरों में शांति बने, लक्ष्मी का वास हो और पर्यावरण भी दूषित न हो इसके लिए हमीरपुर गौ सेवा समिति जामली धाम के द्वारा प्रयास किया गया है और इसी के चलते पहली बार हमीरपुर जिला में राजस्थान के स्वदेशी गौशाला भीलवाड़ा की ओर से दस हजार गाय के गोबर से बने हुए दीपक गौ भक्तों को निशुल्क बांटे गए है। साथ ही गौ सेवा समिति जामली धाम हमीरपुर ने इस साल से गाय के गोबर के दीपक बनाने का भी निर्णय लिया है। आगामी दिनो में हमीरपुर में ही गाय के गोबर से बने दीपक उपलब्ध हो सकेंगे।

यह भी पढ़ें: #Vocal_for_Local हुआ ऊना, हाथों-हाथ बिक रहे मिट्टी के दिये व बांस के उत्पाद

गौ सेवा समिति जामली धाम के अध्यक्ष रसील सिंह मनकोटिया ने बताया कि जामली धाम में राष्ट्रीय गौ सेवा आयोग भारत सरकार के आदेशों के अनुसार इस बार सभी गौ भक्तों के घरों में दिवाली के दिन देशी गाय के गोबर से बने दीपकों से दिवाली मनाई जाएगी। दस हजार दीपक मंगवाए गए और उन्हें बांटा गया है। दिवाली पर्व पर गोबर से बने दीपक जलाने से घर में शांति और लक्ष्मी का निवास हो, इसके लिए गौ सेवा समिति प्रयास कर रही है साथ ही गोबर के दीपक जलाने से पर्यावरण भी दूषित नहीं होगा। गौशाला के सदस्य ने बताया कि गाय के गोबर को खेतों में ही इस्तेमाल करते है लेकिन अब गाय के गोबर के दीपक बनाने के लिए काम होगा जो कि बढिया होगा। स्थानीय निवासी ने बताया कि गाय के गोबर से बने हुए दीपकों से प्रदूषण भी नहीं होगा और जलने के बाद इसकी खाद के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है जिससे गौशाला का यह बढ़िया कदम है।

गौरतलब है गौसेवा समिति जामली धाम में सत्तर के करीब गउओं को रखा गया है और उनकी देखभाल बढिया ढंग से की जाती है। जामली धाम में गउओं के गोबर से खाद के अलावा गौमूत्र का प्रयोग करने के लिए भी किसानों को प्रेरित किया जाता है ताकि प्राकृतिक खेती को बढ़ावा दिया जा सके। जामली धाम के द्वारा गौ संरक्षण के लिए भी पिछले कई वर्षों से बेहतर काम किया जा रहा है और यहां पर गउओं की देखभाल की जा रही है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

 

 

 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है