दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल के औचक निरीक्षण पर पहुंचे राज्यपाल दत्तात्रेय

मरीजों और तिमारदारों से जाना अस्पताल का हाल

दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल के औचक निरीक्षण पर पहुंचे राज्यपाल दत्तात्रेय

- Advertisement -

शिमला। राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय दीन दयाल उपाध्याय क्षेत्रीय अस्पताल की सफाई व्यवस्था और वहां कार्यरत स्टॉफ के सेवा भाव से  काफी प्रभावित हुए। अस्पताल में औचक निरीक्षण के बावजूद, स्टाफ में न कोई अफरा-तफरी और न ही यहां आने वाले रोगियों व उनके तिमारदारों में किसी भी प्रकार की नाराजगी। व्यवस्था से खुश होकर राज्यपाल ने अस्पताल प्रशासन की पीठ थपथपाई।


राज्यपाल ने आज प्रातः 10 बजे अस्पताल पहुंचे। उन्होंने ओपीडी ब्लॉक जाकर ऑर्थो, चाइल्ड व गाइनी ओपीडी में जाकर व्यवस्था का जायज़ा लिया। प्रदेश के विभिन्न जिलों और शिमला के दूर-दराज क्षेत्रों से आए रोगियों से उन्होंने बातचीत की और चिकित्सा व्यवस्था के संबंध में उनकी प्रतिक्रिया ली। हालांकि, ओपीडी में आए अधिकांश रोगियों ने बैठने के लिए बैंच सुविधा की कमी से राज्यपाल को अवगत करवाया।


यह भी पढ़ें: पच्छाद उपचुनाव : डैमेज कंट्रोल के लिए खुद प्रचार में उतरे सीएम, बडू साहिब गुरुद्वारे में नवाया शीश

 

आर्थो ओपीडी में तैनात डॉ. रविन्दर मोक्टा ने बताया कि यहां प्रतिदिन लगभग 300 के करीब रोगी आते हैं। इसी तरह, चाईल्ड ओपीडी में कार्यरत डॉ चंपा पंवर ने बताया कि यहां करीब 130-150 रोगी जांच के लिए आते हैं। स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ ममता ने बताया कि यहां करीब 100 महिलाएं प्रतिदिन जांच के लिए आती और महीने में अस्पताल में करीब 200 प्रसूति की जाती हैं। बंडारू दत्तात्रेय ने मानसिक स्वास्थ्य डी-एडिक्शन किशोर परामर्श केंद्र, प्रयोगशाला जांच केंद्र, आपरेशन थियेटर में रोगियों को दी जा रही सेवाओं व आधुनिक उपकरणों के बारे में जानकारी हासिल की। उन्होंने अस्पताल प्रशासन से विशेषज्ञ सेवाओं के बारे में जानकारी ली। इसके बाद, राज्यपाल, विभिन्न वार्डों में गए और रोगियों व उनके तिमारदारों से सुविधाओं के लेकर बातचीत की। अस्पताल में खाने की व्यवस्था और
इस अवसर पर, आऊट सोर्स पर कार्यरत सफाई कर्मियों, नर्सिंग स्टॉफ तथा सुरक्षा स्टॉफ ने अपनी समस्याओं से राज्यपाल को अवगत करवाया।

राज्यपाल ने अस्पताल में कार्डियक यूनिट न होने तथा स्वास्थ्य जागरूकता के लिए अलग से केंद्र स्थापित करने का सुझाव दिया। उन्होंने अस्पताल के लिए अलग से रक्तदान वैन उपलब्ध करवाने तथा राजधानी का बड़ा अस्पताल होने के कारण वशिष्ट सेवाओं के लिए रोगी वाहन उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यहां फिज़ियोथेरेपिस्ट के और पद सृजित किए जाने चाहिए। उन्होंने अस्पताल के पुराने भवन का भी अवलोकन किया। उन्होंने अस्पताल प्रशासन की मांग पर कहा कि नया भवन बनाने पर विचार किया जा सकता है। उपयोक्त सभी आवश्यक सुविधाओं पर उन्होंने अस्पताल प्रशासन से विस्तृत रिपोर्ड तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट के आधार पर वह प्रदेश सरकार से बातचीत करेंगे ताकि यहां और सुविधाएं मुहैया करवाई जा सकें।
इस अवसर पर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ जितेन्द्र चैहान तथा वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक डॉ लोकिन्द्र शर्मा ने राज्यपाल को अस्पताल में उपलब्ध सुविधाओं से अवगत करवाया।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

प्रसिद्ध गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण का निधन : दो घंटे स्ट्रेचर पर पड़ा रहा शव, नहीं मिली एंबुलेंस

प्रदेशभर में कांग्रेसियों ने पंडित नेहरू को किया याद

नशे में धुत वाहन चालकों की खैर नहीं, सुंदरनगर पुलिस ने काटे चालान

हरियाणा कैबिनेट विस्तार : छह कैबिनेट और चार राज्य मंत्रियों ने ली शपथ

टारना मार्ग में ट्रक फंसाः यातायात रहा प्रभावित, छात्र व दफ्तर जाने वाले हुए परेशान

अवमानना मामले में राहुल गांधी को राहत, सुप्रीम कोर्ट ने स्वीकार की माफी

सबरीमाला महिला प्रवेश मामला : महिलाओं की एंट्री जारी रहेगी, SC ने बड़ी बेंच को सौंप केस

जवाली : कुल्हाड़ी के वार से महिला‌ को उतारा मौत के घाट, पति-जेठ हिरासत में

Breaking : औट-लुहरी एनएच-305 पर खाई में गिरा वाहन, दो की मौत

जवाली और फतेहपुर के बीयर बार में एक्साइज विभाग की दबिश, रिकॉर्ड जब्त

कांगड़ा सहित 5 जिलों में येलो अलर्ट जारी, भारी बारिश और बर्फबारी की संभावना

जयराम सरकार ने बदले जवाली और धीरा के एसडीएम, इन्हें दी तैनाती

अनुराग की जयराम सरकार को सलाह-सड़कों की दशा सुधारों, फिर आएगा निवेश

हाईकोर्ट के कड़े रुख के बाद हिमाचल में मानवाधिकार आयोग का होगा गठन

बुजुर्ग महिला क्रूरता मामलाः हत्या के प्रयास का मामला हो दर्ज

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है