Covid-19 Update

38,995
मामले (हिमाचल)
29,753
मरीज ठीक हुए
613
मौत
9,390,791
मामले (भारत)
62,314,406
मामले (दुनिया)

प्रदेश में #Corona इलाज को उपकरण दवाइयों का पर्याप्त भंडार, नहीं होगी स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी

स्वास्थ्य सचिव ने दी जानकरी, बोले 25 नवंबर से शुरू होगा एक सक्रिय रोगी पहचान अभियान

प्रदेश में #Corona इलाज को उपकरण दवाइयों का पर्याप्त भंडार, नहीं होगी स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश सरकार कोरोना महामारी से निपटने के लिए पूर्णतः सक्षम है और स्वास्थ्य विभाग (Health Department) के पास पर्याप्त संख्या में वेंटिलेटर, पल्स ऑक्सीमीटर, ऑक्सीजन सिलेंडर और आवश्यक दवाइयों का भंडारण है। यह बात शनिवार को स्वास्थ्य सचिव (Health Secretary) अमिताभ अवस्थी ने कही। उन्होंने कहा कि देश व प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की स्थिति में बहुत से ऐसे मामले भी आ रहे हैं, जहां संक्रमित लोगों में कोरोना वायरस (Coronavirus) बीमारी के लक्षण बहुत कम हैं या नहीं के बराबर हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी जा रही है। किसी भी व्यक्ति को होम आइसोलेशन में भेजते समय यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि उस व्यक्ति के घर में होम आइसोलेशन के बारे में जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार सभी सुविधाएं उपलब्ध होने चाहिए और उस व्यक्ति की देखभाल के लिए हर समय एक व्यक्ति उपलब्ध होना चाहिए।

यह भी पढ़ें: नगर निगम बनने से बढ़ेगा #Mandi में विकास और सुविधाओं का दायरा

अमिताभ अवस्थी ने बताया कि हर व्यक्ति को होम आइसोलेशन (Home isolation) के लिए भेजते समय एक कीट प्रदान की जा रही है, जिसमें आवश्यकतानुसार सभी प्रकार की दवाइयां एवं एक पल्स ऑक्सीमीटर भी प्रदान किया जा रहा है। व्यक्ति पल्स ऑक्सीमीटर का उपयोग करते हुए अपने ऑक्सीजन लेवल की जांच स्वयं कर सकता है। यदि उसमें कोई भी कमी पाई जाती है या कोरोना का कोई भी लक्षण पाया जाता है तो उस व्यक्ति को यह परामर्श दिया जाता है कि वह शीघ्र ही स्वास्थ्य कार्यकर्ता को सूचना प्रदान करे, ताकि उसे उचित उपचार उपलब्ध करवाया जा सके। स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि प्रदेश में वेंटिलेटर उपयुक्त संख्या में उपलब्ध हैं और इन्हें प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में आवश्यकतानुसार स्थापित किया गया है। मरीजों में कोरोना के लक्षणों की गंभीरता को देखते हुए अलग-अलग स्वास्थ्य संस्थानों में उचित उपचार उपलब्ध करवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में प्रदेश में कुल 6,381 सक्रिय रोगियों में से 5,673 रोगी होम आइसोलेशन में पंजीकृत कर नियमित स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर रहे हैं।

25 नवंबर से प्रदेश भर में शुरू होगा हिम सुरक्षा अभियान

उन्होंने बताया कि 25 नवंबर, 2020 से एक सक्रिय रोगी पहचान अभियान “हिम सुरक्षा” प्रदेश भर में चलाया जाएगा, जिसके तहत स्वास्थ्य कार्यकर्ता घर-घर जाकर लोगों की कोविड-19, तपेदिकए कुष्ठ रोग और गैर संचारी रोग जैसे शुगर एवं रक्तचाप इत्यादि के लक्षणों की सूचना एकत्रित करेंगे और आवश्यकतानुसार उनकी आगे जांच कर उचित उपचार उपलब्ध करवाया जाएगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है