विद्या उपासक भर्ती: हाईकोर्ट ने चयन समिति को जारी किया कारण बताओ नोटिस

चयनित विद्या उपासक की नियुक्ति को भी रद्द करने के दिए आदेश

विद्या उपासक भर्ती: हाईकोर्ट ने चयन समिति को जारी किया कारण बताओ नोटिस

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश हाईकोर्ट (High court) ने राजकीय प्राथमिक पाठशाला नहारण तहसील करसोग (Karsog) में विद्या उपासक की भर्ती (Vidya Upasak recruitment) में धांधली पाते हुए तत्कालीन चयन समिति को कारण बताओ नोटिस जारी करने के आदेश पारित किए। कोर्ट ने चयनित विद्या उपासक की नियुक्ति को भी रद्द करने के आदेश पारित किए।


यह भी पढ़ें: दो महीने में दूसरी बार गिरा पीडब्ल्यूडी का डंगा, लाखों का नुकसान

न्यायाधीश धर्म चंद चौधरी व न्यायाधीश ज्योत्स्ना रिवाल दुआ की खंडपीठ ने चयन समिति के चेयरमैन गोपाल चंद तत्कालीन एसडीएम करसोग जो वर्तमान में डीसी किनौर तैनात हैं सहित भुवनेश्वरी गुप्ता तत्कालीन बीईईओ करसोग, कीरत राम तत्कालीन ओफ्फिसिएटिंग सीएचटी जीपीएस पलोह, गंगा राम तत्कालीन ग्राम पंचायत प्रधान तेबण व तुलसी राम तत्कालीन उप प्रधान ग्राम पंचायत तेबन को उक्त भर्ती में रिजल्ट शीट (Result Seat) से छेड़छाड़ करने का दोषी पाते हुए उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने से पहले उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करने के आदेश पारित किए।

मामले के अनुसार 23 जुलाई, 2002 को राजकीय प्राथमिक पाठशाला नहारण तहसील करसोग में विद्या उपासक की भर्ती हेतु उपरोक्त चयन समिति ने 23 प्रतिभागियों के साक्षात्कार लिए व परिणाम भी उसी दिन घोषित किया गया। प्रतिवादी मीरा देवी का इस पद के लिए चयन कर लिया गया। सूचना का अधिकार आने के बाद प्रार्थी दिला राम ने चयन का रिकार्ड मांग लिया। दस्तावेज मिलने पर प्रार्थी ने पाया कि रिजल्ट शीट में उसके व चयनित अभ्यर्थी के अंकों में छेड़छाड़ की गई है। प्रार्थी ने मामले की जांच हेतु 28 फरवरी, 2009 को डीजीपी के समक्ष प्रतिवेदन किया। कोई कार्रवाई न होने पर 29 जून, 2009 को उसने शिक्षा सचिव के समक्ष जांच की गुहार लगाई। एसपी मंडी ने मामले की जांच कर 18 अगस्त, 2009 को जांच रिपोर्ट सौंपी, जिसमें कटिंग की बात तो सामने आई परन्तु कटिंग को केवल गलती सुधार का मामला बता दिया।

प्रार्थी ने जांच से असंतुष्ट होकर 28 जनवरी, 2010 को फिर से प्रधान सचिव सतर्कता, डीजीपी व प्रधान सचिव शिक्षा को जांच के लिए प्रतिवेदन दिया। जब इस पर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई तो प्रार्थी को हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाने पर मजबूर होना पड़ा। कोर्ट ने मामले का रिकॉर्ड देखने पर पाया कि रिजल्ट शीट में प्रार्थी व चयनित अभ्यर्थी मीरा के अंकों में कटिंग व टेम्परिंग पाई और कहा कि यह केवल गलती सुधार का मामला नहीं है। दस्तावेज की छेड़छाड़ से यह प्रतीत होता है कि चयन समिति ने चयन में गड़बड़ी की और प्रतिवादी को गलत ढंग से नियुक्त कर दिया। कोर्ट ने मीरा देवी की नियुक्ति को खारिज करते हुए कहा कि बेशक वह अब नियमित हो चुकी है, परंतु जब उसकी नियुक्ति शुरुआत में ही गैरकानूनी है तो उसे पद पर बने रहने का कोई अधिकार नहीं है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

सीएम को बुद्धिज्म कल्चरल स्टडी विवि का शिलान्यास करने के लिए किया आमंत्रित

हिमाचल उपचुनावः धर्मशाला व पच्छाद सीटों पर इस दिन डाले जाएंगे वोट

विधानसभा चुनाव : महाराष्ट्र-हरियाणा में 21 को वोटिंग, 24 को आएंगे नतीजे

सत्ती बोले, पौंग बांध विस्थापितों के पुनर्वास को अधिकारियों की समन्वय समिति गठित हो

ऊना पुलिस ने आधी रात को दी ढाबों व अहातों में दबिश

सुप्रिया श्रीनेत को कांग्रेस ने नियुक्त किया राष्ट्रीय प्रवक्ता

दिल्ली किसान घाट पर प्रदर्शन करने पहुंचें उत्तर प्रदेश के किसान, ये हैं मांगे

सऊदी अरब में हमले के बाद अमेरिका ने लगाया ईरान पर बैन, सेना तैनात

दर्दनाक हादसाः लुढ़कते ही लगी गाड़ी में आग, घायल चालक ने कूदकर बचाई जान

महाराष्ट्र और हरियाणा में चुनाव तारीखों का आज हो सकता है ऐलान

हिमाचल पर्यटन नीति-2019 अधिसूचित, वेब पोर्टल पर लें जानकारी

एनसीसी समूह की साइकिल रैली रवाना, राज्यपाल ने हरी झंडी दिखाई

होटलों की जीएसटी दरों के युक्तिकरण का हिमाचल को होगा फायदा

गोवा में हुई जीएसटी परिषद की बैठक में बिक्रम ठाकुर ने रखी यह बात

गुरकीरत सिंह बोले-वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ बयानबाजी अनुशासनहीनता

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है