Covid-19 Update

281
मामले (हिमाचल)
77
मरीज ठीक हुए
05
मौत
1,58,333
मामले (भारत)
57,46,086
मामले (दुनिया)

Sugar के मरीजों के लिए Himachal ने ढूंढ ली है अचूक दवा, Spiti को भी दिलाएगी नई पहचान

ढींगरी मशरूम से सुदृढ़ होगी जनजातीय क्षेत्र स्पीति की अर्थव्यवस्था

Sugar के मरीजों के लिए Himachal ने ढूंढ ली है अचूक दवा, Spiti को भी दिलाएगी नई पहचान

- Advertisement -

लामाओं, पौराणिक बौद्ध मठों की धरती और बर्फ से आछांदित पहाड़ों की चोटियां हिमाचल के स्पीति क्षेत्र (Himachal Tribal area Spiti) को दुनिया भर के पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बनाती है। अब यह क्षेत्र ओएस्टर (मशरूम) के उत्पादन और निर्यात में अपनी पहचान बनाने के लिए तैयार है। लाहुल-स्पीति के लोगों की आर्थिकी को सुदृढ़ करने में ढींगरी मशरूम (Dhingri Mushroom) नए नगदी उत्पाद के तौर पर उभर कर सामने आया है। वानस्पतिक नाम प्लुरोटस ओस्ट्रीटस के नाम से भी पहचाने जाने वाले इस ढींगरी मशरूम ने स्पीति घाटी के लोगों के लिए आय के नए द्वार भी खोले हैं।  नगदी उत्पाद के तौर पर अपनी जगह बना रहे इस ढींगरी मशरूम से स्पीति घाटी में नए अध्याय का सूत्रपात हुआ है।

250 से लेकर 300 रूपए की दर से  प्रति किलो बिक रहा 

स्पीति के चिचिम गांव के कलजग लादे ने कहा कि मटर की खेती के अलावा अब स्पीति के किसानों ने अपनी आर्थिकी को और अधिक सुदृढ़ करने के लिए ढींगरी मशरूम उत्पादन को अपनाया है। वे 2015 से स्पैटुला के आकार की यह मशरूम प्रजाति उगा रहे हैं एवं अब बागवानी विभाग के अतिरिक्त प्रयासों से विभाग के विषय बाद विशेषज्ञ लोगों को ढींगरी मशरूम उगाने की तकनीक सिखा रहे हैं। लादे प्रतिदिन 150 किलोग्राम ढींगरी मशरूम का उत्पादन कर रहे हैं और काजा के स्थानीय होटलियर्स व होम स्टे (Home Stay) में लगभग 250 रूपए से लेकर 300 रूपए की दर से  प्रति किलो तक बेच रहे है तथा महमानों को उनके पसंदीदा लज़ीज व्यंजन परोस रहे हैं। ढींगरी मशरूम उगाने के लिए अब तक क्षेत्र के 50 किसानों को प्रशिक्षण प्रदान किया गया है और उन्हें कमरे के तापमान के अनुसार ढींगरी मशरूम उगाने के लिए पाॅली बैग भी वितरित किए गए हैं।

गीले भूसे में उगाया जाता है ढींगरी मशरूम


मशरूम का उत्पादन अधिक होने पर जहां इसका उपयोग अचार, मशरूम पाउडर, दवाइयां इत्यादी बनाने में किया जा सकेगा वहीं इससे महिलाओं को उनके घर द्वार पर रोजगार (Employment) के अवसर भी प्रदान होंगे। ढींगरी मशरूम को गीले भूसे में उगाया जाता है। इसका बीज तीस दिन से पुराना नहीं होना चाहिए, बीज की मात्रा 250 से 300 ग्राम प्रति 10 से 12 किलोग्राम गीले भूसे की दर से होनी चाहिए। गीला भूसा और बीज को एक प्लास्टिक के टब में अच्छी तरह से मिलकर पाॅलीथीन बैग में 4 से 6 किलोग्राम गीला भूसा भर दिया जाता है। इसे उगाने में खाद का प्रयोग नहीं किया जाता। यह मशरूम औषधीय गुणों से भरपूर है और प्रोटीन युक्त भोजन बनाने के लिए सबसे उपयुक्त है। ढींगरी मशरूम में उचित मात्रा में विटामिन सी और बी काॅम्प्लेक्स पाई जाती है। इसमें प्रोटीन की मात्रा 1.6 से लेकर 2.5 प्रतिशत तक है। इसमें मानव शरीर के लिए जरूरी खनिज लवण जैसे पोटेशियम, सोडियम, फास्फोरस, लोहा और कैल्शियम भी पाए जाते है।

कोलेस्ट्रोल को भी करता है नियंत्रित

एंटीबायोटिक के गुण होने के साथ यह मशरूम कोलेस्ट्रोल (Cholesterol) को भी नियंत्रित करता है और शूगर के मरीजों (Sugar patients) के लिए भी उपयुक्त है।ओएस्टर मशरूम सबट्राॅपिकल पर्वतीय क्षेत्रों में 10 से 24 डिग्री सेंटीग्रेड और 55-75 प्रतिशत के बीच वाले तापमान में एक वर्ष में 6 से 8 माह की अवधि के लिए उगाया जाता है। साफ सूखे धान के पुआल को 18 घंटे पानी में भिगोया जाता है और मास्टर स्पाॅन की एक बोतल कुलथ पाउडर के साथ मिलाया जाता है। फिर इस मिश्रण को पाॅलीथीन बैग में भर कर कमरे के तापमान पर रख दिया जाता है। पाॅलीथीन बैग में भरे इस मिश्रण को नियमित रूप से तब तक पानी दिया जाता है, जब तक कि मशरूम उगना शुरू नहीं हो जाते। औषधीय गुणों से भूरपूर यह ढींगरी मशरूम स्पीति घाटी सेे बाहर भी सम्मानीय वातावरण क्षेत्रों में भी उगाया जा सकेगा, जिससे प्रदेश की कृषक आर्थिकी को और अधिक संबल मिलेगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Corona Update: हिमाचल में आज आठ नए मामले, 7 मरीज हुए ठीक

कोरोना ब्रेकिंगः Kangra और मंडी में पांच नए मामले आए सामने, दो मरीज हुए ठीक

Himachal में बल्क ड्रग पार्क को भूमि शर्त में मिले छूट, पूरे देश में लागू होगी एक बीघा योजना

बड़ी खबरः हिमाचल में अलर्ट- कांगड़ा, ऊना, बिलासपुर और सोलन जिलों में High Alert- जानिए क्यों

Kullu में युवक की मौत मामले में बिजली बोर्ड के JE सहित 3 लाइनमैन गिरफ्तार

Himachal में घरेलू फ्लाइट-ट्रेनों में आवाजाही को SOP जारी, क्या होगा जरूरी-क्या नहीं-जानिए

ब्रेकिंगः Himachal में कितना बढ़ेगा बस किराया, 1 जून से चलेंगी निजी बसें या नहीं-जानिए

बदला मौसमः कोटखाई, जुब्बल, चौपाल में Hailstorm, सेब व चेरी की फसल तबाह

हमीरपुर की Corona लापरवाही को सरकार की नालायकी बताकर Rathore ने जड़े धड़ाधड़ आरोप

Shimla : सड़क से फिसलकर नाले में जा गिरी Car, चालक की गई जान

15 कोरोना Positive को Negative बताकर भेजा घर, जांच के आदेश-सरकार ने तलब की रिपोर्ट

Viral Audio Case: निलंबित Health Director डॉ. गुप्ता को Court से नहीं मिली राहत

वीरभद्र बोले, Bindal का इस्तीफा BJP की अंतर्कलह से ध्यान हटाने मात्र का एक असफ़ल प्रयास

पहली बार Plane में बैठकर घर पहुंचे 177 प्रवासी मजदूर, Mumbai से Ranchi उतरी फ्लाइट

Breaking: कोरोना संक्रमण ने सुबह-सवेरे Himachal को लपेटा, सोलन में 3 मामले पॉजिटिव

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

HP : Board

लाॅकडाउन के बीच Employment का मौका, Himachal में एक कंपनी भरने जा रही है 800 से ज्यादा पद

CBSE: 15,000 से अधिक सेंटरों में आयोजित होंगी 10वीं-12वीं की बची हुई परीक्षाएं, जानिए डिटेल

ICSE की 10वीं और ISC की 12वीं की बची हुई परीक्षाएं 1 जुलाई से 14 जुलाई तक

CBSE: अपने ही स्कूलों में बचे हुए सब्जेक्ट्स के Exam देंगे छात्र; जानें कब आएगा रिजल्ट

D.EL.ED CET- 2020 की तिथि घोषित, 21 मई से करें ऑनलाइन आवेदन

सरकार के आदेशों का कड़ाई से पालन करें Private School वरना होगी कड़ी कार्रवाई

CBSE: 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाओं में स्‍टूडेंट्स को पहनना होगा Mask; जानिए नए निर्देश

CBSE ने जारी की 10वीं-12वीं की Pending Exams की डेटशीट, जाने कब शुरू होंगे पेपर

12वीं Geography, कंप्यूटर साइंस और वोकेशनल परीक्षा को लेकर Board का बड़ा फैसला-जानिए

अर्धवार्षिक व प्री बोर्ड परीक्षाओं में प्राप्त अंकों के आधार पर मिलेंगे Practical के अंक

Himachal के सरकारी स्कूलों में 31 मई तक छुट्टियां, आदेश जारी

Corona से बचावः स्कूल शिक्षा बोर्ड ने की "नमस्ते भारत" अभियान की शुरुआत

Himachal में खुल सकते हैं 20 से कम छात्र संख्या वाले School, क्या बोले शिक्षा मंत्री-जानिए

Answer Sheets को केंद्र से ले जाने और जमा करवाने के लिए मिलेगा वाहन भत्ता

अभी घोषित की जा सकती हैं Colleges में जून की छुट्टियां, क्या बोले शिक्षा मंत्री-जानिए


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है