मंडी और सुकेत रियासत के देवी-देवताओं के बीच में छिड़ी जुबानी जंग तेज

मंडी और सुकेत रियासत में अलग-अलग परंपरा से मनाए जाते हैं मेले

मंडी और सुकेत रियासत के देवी-देवताओं के बीच में छिड़ी जुबानी जंग तेज

- Advertisement -

सुंदरनगर। मंडी (Mandi) और सुकेत रियासत के देवी-देवताओं के बीच में छिड़ी जुबानी जंग अब और भी तेज हो गई है। मंडी देवी-देवता कारगार संघ के समर्थन में सुकेत रियासत के ही कई देवी-देवता उतर आए हैं। माहुनाग प्रधान भलाणा यादविंद्र शर्मा, बेसर ठाकुर बाला टिका सुकेत, गंगा राम प्रधान चमेली भगवती बडौल, सुरेंद्र सेन महामंत्री कामाक्षा भगवति जैदेवी कुलमाता राज परिवार सुंदरनगर (Sundernagar), शिव सिंह सेन उपप्रधान कुलमाता जैदेवी व सचिव भूपेंद्र सेन का कहना है कि मेले प्राचीन सभ्यता के अनुसार मंडी और सुकेत रियासत में परंपरागत ढंग से मनाए जाते हैं।

यह भी पढ़ेंः सुंदरनगर देवता समिति का अनशन अनुचित, पहले हो देवी-देवताओं के मान सम्मान की बात

मंडी में जो बड़ादेव कमरूनाग आते हैं, उनका भव्य स्वागत वहां पर होता है व सुंदरनगर में बड़ादेव कमरूनाग का स्वागत होता है। इन दोनों के रथ मोहर अलग-अलग है। जब दोनों बड़ा देव कमरूनाग मंडी व सुंदरनगर सुकेत के वहां पर जाएंगे, तो सुंदरनगर के बड़ादेव कमरूनाग को किस तरह से उनका मान सम्मान होगा। यह एक बहुत ही चिंता का विषय है। हमें किसी भी कारदार संघ से कोई आपत्ति नहीं है कि कौन इसका प्रधान है और कौन बनना चाहता है। इससे उपरोक्त सदस्यों का कोई लेना देना नहीं है।

लेकिन, देव परंपराओं को ध्यान में रखते हुए ऐसे दबंग निर्णयों से देव समाज काफी आहत है, जोकि देव समाज में जबरन थोप कर पदाधिकारी नेतागिरी करने पर उतर आए हैं, जिसे देव समाज किसी भी सूरत में सहन नहीं करेगा। जैसे देवी-देवताओं के आने जाने का रीति रिवाज चलता आया है, वैसे ही सर्वमान्य है। इससे छेड़ छाड़ किसी भी सूरत में सहनीय नहीं होगी। अन्यथा देव समाज के लोग एकजुट होकर इसका जमकर विरोध करेंगे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है