Covid-19 Update

40,518
मामले (हिमाचल)
31,548
मरीज ठीक हुए
636
मौत
9,463,254
मामले (भारत)
63,589,301
मामले (दुनिया)

14 महीने बाद भावुक होकर कुमारस्वामी ने मानी हार, दिया इस्तीफा, अब कमल खिलेगा

14 महीने बाद भावुक होकर कुमारस्वामी ने मानी हार, दिया इस्तीफा, अब कमल खिलेगा

- Advertisement -

नई दिल्ली। कर्नाटक (Karnataka) में एचडी कुमारस्वामी सरकार के विश्वास मत प्रस्ताव पर मंगलवार को वोटिंग हुई। सीएम कुमारस्वामी ने विधानसभा में पेश किया विश्वास प्रस्ताव। फ्लोर टेस्ट में मुख्यमंत्री कुमारस्वामी असफल हो गए हैं। कर्नाटक में मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार गिर गई है। राज्य में भारतीय जनता पार्टी को बहुमत मिला है। जहां कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन को 99 वोट मिले तो वहीं भारतीय जनता पार्टी को 105 वोट मिले।

बहुमत खोने के बाद कुमारस्‍वामी ने अपना इस्‍तीफा राज्‍यपाल वजुभाई वाला को सौंप दिया है। कुमारस्वामी सरकार गिरने के बाद बीजेपी के दफ्तर में जश्न का माहौल है। अब माना जा रहा है कि बीजेपी कर्नाटक के अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा, कर्नाटक के नए ‘स्वामी’ (मुख्यमंत्री) बन सकते हैं। बीजेपी अगले 2 दिनों में राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश कर सकते हैं।सुप्रीम कोर्ट में एक बार फिर इस मामले पर सुनवाई टल गई है। बता दें कि पिछले 15 दिन से एचडी कुमारस्वामी सरकार पर बहुमत साबित करने का संकट है, जो विधानसभा में हो रहे लगातार हंगामे के बीच टलता ही जा रहा है।

यह भी पढ़ें- यह है महिलाओं की सुरक्षा के लिए खास तौर पर बनी रिवाल्‍वर “निर्भीक”

सदन में कुमारस्वामी (H. D. Kumaraswamy) ने कहा कि मैं एक एक्सीडेंटल सीएम (Accidental CM) हूं। मैं अच्छा काम करने के लिए आया था। कांग्रेस-जेडीएस अच्छा काम करने के लिए साथ आई थी। कुमारस्वामी ने कहा कि स्पीकर सर अगर आप दुखी हुए हैं तो मैं आपसे माफी मांगता हूं। मैं कर्नाटक की जनता से भी माफी मांगना चाहता हूं। मैं पिछले 10 दिनों के घटनाक्रम के बारे में बात नहीं करूंगा। कृष्णा बायरेगौड़ा पहले ही कानूनी, संवैधानिक स्थिति के बारे में बात कर चुके हैं।

वहीं सिद्धारमैया (Siddaramaaya) ने कहा कि राज्य की 99 फीसदी जनता जानती है कि बीजेपी हॉर्स ट्रेडिंग (Horse Trading) में शामिल है, और आपको लगता है कि लोगों को इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। अगर आप सरकार बनाते हैं और उन्हें मंत्री बनाते हैं तो आप को क्या लगता है कि लोगों को इसके बारे में पता नहीं चलेगा। आज राजनीति को जो स्तर हो गया है, उस पर शर्म आ रही है। राजनीति में मूल्यों वाले लोगों के लिए कोई जगह नहीं है। लेकिन निराशावादी मत बनो। राजनीति में अच्छे लोग होने चाहिए। सरकारें आती-जाती रहेंगी, लेकिन हमें संविधान बचाने की जरूरत है। होलसेल कारोबार वाली राजनीति शर्मनाक है।

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें… 

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है