ये है रियल लाइफ बजरंगी भाईजान, हजारों किमी का सफर कर दिव्यांग लड़की को पहुंचाया घर

मध्यप्रदेश से ट्रेन से पहुंची थी नूरपुर

ये है रियल लाइफ बजरंगी भाईजान, हजारों किमी का सफर कर दिव्यांग लड़की को पहुंचाया घर

- Advertisement -

रविन्द्र चौधरी जसूर। बजरंगी भाईजान (Bajrangi Bhaijaan) फिल्म का नाम तो सुना होगा उस रील लाइफ की स्टोरी को नूरपुर (Nurpur) के चार युवाओं ने रियल लाइफ में खाका पहनाकर नूरपुर के बजरंगी भाईजान बन कर साबित कर दिखाया है। नूरपुर क्षेत्र के राजेश टोनी (सदवा) राजेश शर्मा शिन्दू (ठेहड़), विक्रम (सुलियाली) संजय जम्वाल (सदवा) ने मध्य प्रदेश की 18 वर्षीय दिव्यांग लड़की (Disabled girl) को जो गलती से मध्यप्रदेश से ट्रेन के माध्यम से नूरपुर पहुंच गई थी, को उसके परिजनों से मिलवाया। करीब 18 दिन उक्त दिव्यांग लड़की को बहन की तरह सुरक्षित मंदिर परिसर में रखा फिर उसके बाद लड़की के गांव का पता लगाकर भाइयों का फर्ज निभाते हुए खुद अपने वाहन में 3400 किलोमीटर का सफर तय करते हुए छोड़ने उसके गांव गए। यह चारों युवक सदवा स्थित माता अन्नपूर्णा मंदिर प्रवंधन कमेटी के पदाधिकारी हैं।


माता अन्नपूर्णा मंदिर प्रबंधन कमेटी हर साल मलकवाल स्थित क्षेत्र में मणिमहेश यात्रियों के लिए 22 दिन का लंगर आयोजित करती है। इसी लंगर में यह लड़की पहुंची थी। मंदिर कमेटी पदाधिकारी राजेश टोनी तथा अन्य साथियों ने बताया कि जब लड़की को उसके घर के बारे में पूछा तो वह कुछ ढंग से बता नही पा रही थी। उन्होंने कहा कि लड़की जिस गांव का नाम ले रही थी उसको इंटरनेट पर सर्च करने पर गलत पता सर्च हो रहा था। काफी जदोजहद के बाद युवकों ने उसके गांव की तलाश की। उन्होंने कहा कि इसके बाद स्थानीय पुलिस चौकी की सहायता से मध्यप्रदेश के गांव बड़ागांव तहसील नेरोजबाद जिला उर्मिया में वहां की पुलिस की सहायता ली गई। वहां से पता लगा कि अनिता वेगा उर्फ पारू नाम की लड़की 20 दिनों से गायब है।

राजेश टोनी ने बताया कि लड़की का पता लगने पर कमेटी ने लड़की के घर पर संपर्क कर नूरपुर से ले जाने को कहा लेकिन काफी समय बीत जाने पर भी उसके परिजन लड़की को लेने नही आये। राजेश टोनी ने बताया इस दौरान उनकी बात मध्यप्रदेश के एक पत्रकार अनिल मिश्रा से हुई जिसने आश्वस्त किया कि वह लड़की को स्थानीय पुलिस की मौजूदगी में उसके परिजनों तक पहुंचाने में मदद करेगा। टोनी ने बताया कि हम चार साथी लड़की को उसके परिजनों तक पहुंचाने निकल पड़े तथा सोमवार रात 12 बजे लड़की को उसके परिजनों के सुपुर्द कर दिया। उन्होंने बताया कि उक्त लड़की का घर में एक भाई तथा दादी है लड़की ने मध्यप्रदेश से पठानकोट की ट्रेन पकड़ी तथा पठानकोट स्टेशन पर पहुंच कर बस के द्वारा नूरपुर पहुंची थी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

जयराम ने हमीर उत्सव का किया आगाज, शोभा यात्रा में लिया भाग

हिमाचल: अच्छे दिन जाने वाले हैं! दो दिन बाद फिर बिगड़ेगा मौसम, जानें

पच्छाद उपचुनाव में कांग्रेस की हार पर मंथन, 3 घंटे अलग-अलग हुई बातचीत

हिमाचल: 200 युवाओं को मिलेगा रोजगार, 14500 रुपए होगा वेतन

बुजुर्ग महिला क्रूरता मामले के 8 आरोपियों को हाईकोर्ट से मिली जमानत

CRPF जवान सुपुर्द-ए-खाक, परिजनों ने गुमराह करने का जड़ा आरोप

अब एसएचओ सहित दो कांस्टेबलों की बहाली के विरोध में उतरे लोग

तेलंगाना पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया- कैसे हुआ एनकाउंटर? जानें

90% जल चुकी उन्नाव रेप पीड़िता बहुत नाज़ुक, बचने की संभावना बेहद कम: डॉक्टर

सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ हिमाचल प्रदेश: फैकल्टी पदों पर निकली बंपर वैकेंसी, यहां देखें

राठौर बोले- कांग्रेस की एकजुटता से प्रदेश सरकार परेशान

बारात देखने छत पर खड़े थे लोग, अचानक टूटी रेलिंग, बुजुर्ग महिला की मौत

धर्मशाला में ओबीसी बैंक में लगी आग, हमीरपुर में जली दुकान, लाखों का नुकसान

अपना बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो यहां करें अप्लाई, 72 घंटे में मिलेगा पैसा

हैदराबाद प्रकरण पर बोले जयराम- इस तरह की घटनाओं पर रोक लगाना जरूरी

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है