Covid-19 Update

1171
मामले (हिमाचल)
876
मरीज ठीक हुए
09
मौत
8,20,014
मामले (भारत)
12,495,228
मामले (दुनिया)

पीरियड्स को लेकर ये धारणाएं गलत, देखें कहीं आप भी तो नहीं सोचते ऐसा

पीरियड्स को लेकर बहुत समय से चल रही हैं ये बाते

पीरियड्स को लेकर ये धारणाएं गलत, देखें कहीं आप भी तो नहीं सोचते ऐसा

- Advertisement -

नई दिल्ली। पीरियड्स (Periods) को लेकर हर जगह पर अलग-अलग धारणाएं हैं। कुछ लोग इसे अच्छा मानते हैं वहीं कुछ लोगों का मानना ये भी है कि पीरियड्स में लड़कियों को रसोई में नहीं जाना चाहिए। या इससे ही मिलती जुलती कई कहानियां लोग पीरियड्स से जोड़ कर बनाते हैं तो वास्तिवकता से एक दम अलग हैं। ऐसे में हम आपको बताने जा रहे हैं कि पीरियड्स से जुडी किन धारणाओं को आपको नहीं मानना चाहिए। जानिए पीरियड्स को लेकर हर जगह किस तरह अलग-अलग धारणाएं हैं। देखें कहीं पीरियड्स को लेकर आप भी तो ऐसा नहीं सोचते,..


कुछ लोगों का कहना है कि पीरियड्स में गंदा खून निकलता है। पीरियड में निकलने वाला खून नसों में बहने वाले खून से अलग होता है यह बात बिल्कुल सच है, लेकिन यह गंदा नहीं होता है। यौनी से निकलने वाला खून, वेजाइना के टिश्यू, सेल्स, एस्ट्रोजन हॉर्मोन के कारण ओवरी में जो खून और प्रोटीन की परत बनती है, उसके टुकड़े खून के रूप में बाहर निकलते हैं। ओवरी में जमा यह खून पीरियड के दौरान बाहर निकल जाता है, क्योंकि यह शरीर के लिए गैरजरूरी होता है।

पीरियड में अचार छूने से खराब होता है ? पीरियड के दौरान महिला अचार छू ले तो वह खराब हो जाता है। ऐसी मान्यता काफी समय से है लेकिन यह बिल्कुल गलत है। दरअसल अचार तब खराब होता है जब कोई गीले हाथों से उसे छू ले। ये किसी के साथ भी हो सकता है।

पीरियड के दौरान महिला प्रेग्नेंट नहीं हो सकती : पीरियड के दौरान गर्भाधारण की गुंजाइश कम होती है लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है कि महिला पीरियड के समय प्रेग्नेंट नहीं हो सकती। सेक्स के दौरान अगर स्पर्म वजाइना के अंदर रह जाए, तो अगले सात दिनों तक प्रेग्नेंसी के पूरे चान्सेस होते हैं।

पूरे एक सप्ताह चलना चाहिए पीरियड : दरअसल, यह सब एस्ट्रोजन पर निर्भर करता है, जो एक प्रकार का हॉर्मोन है। यह शरीर की कई चीजों को कंट्रोल करता है, जैसे बाल, आवाज, सेक्स की इच्छा आदि। एस्ट्रोजन के कारण, हर महीने ओवरी में खून और प्रोटीन की एक परत बनती है। शरीर में एस्ट्रोजन हॉर्मोन की मात्रा के हिसाब से खून और प्रोटीन की परत बनती है। यह थोड़ी मोटी भी हो सकती है और पतली भी। जिन महिलाओं के यह परत मोटी बनती है पीरियड के दौरान उनका ज्यादा खून निकलता है, जिनके कम उनका खून कम निकलता है। मतलब एक सप्ताह तक पीरियड होना जरूरी नहीं है।

पीरियड मिस मतलब महिला गर्भवती : यह सच है कि गर्भधारण पर पीरियड नहीं होते हैं लेकिन पीरियड नहीं होने के पीछे सिर्फ यही एक कारण नहीं है। मतलब गर्भवती होने के अलावा भी कई कारण हैं जब पीरियड नहीं होते या मिस हो जाते हैं। जैसे- स्ट्रेस, खराब डाइट और हॉर्मोनल चेंजेस की वजह से भी कई बार पीरियड मिस हो जाते हैं।

पीरियड के दौरान गर्म पानी से नहीं नहाना चाहिए : डॉक्टर्स का कहना है कि पीरियड के दौरान गुनगुने पानी से नहाना काफी अच्छा होता है, इससे बॉडी पेन और शरीर में जो एक प्रकार की ऐंठन होती है, वह दूर हो जाती है।

पीरियड के दौरान महिलाएं बाल न धोएं : पीरियड के दौरान बाल न धोने के पीछे सिर्फ भ्रम ही एक कारण है। मेडिकल साइंस में ऐसी कोई वजह नहीं है कि महिलाएं पीरियड में बाल नहीं धो सकतीं। महिलाएं जब चाहें तब बाल धो सकती हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page…

- Advertisement -

loading...
loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

अरुणाचल में Army का बड़ा ऑपरेशन, छह आतंकी मार गिराए, Chinese हथियार हुए बरामद

Gagret बाजार में स्कॉर्पियो ने मारी  Bike को टक्कर, दंपति Seriously Injured

Army Jawan पर नाबालिग से कुकर्म का आरोप, Police के पास पहुंचा मामला

100 साल का सबसे बड़ा स्वास्थ्य-आर्थिक संकट है कोविड-19, बोले RBI गवर्नर

जम्मू-कश्मीर के नौगाम सेक्टर में LoC पर 2 आतंकवादी ढेर

UP STF In Action विकास दुबे गैंग को शरण देने वाले दो ग्वालियर से किए Arrest

हिमाचल में बढ़ सकता है Bus किराया 25 फीसदी , अगली कैबिनेट में जाएगा मामला

ऑक्सीजन पाइप की सुविधा जुड़ेंगे धर्मशाला Hospital के सभी 300 बेड

Corona Breaking: एक डॉक्टर, दो पुलिस कर्मियों और 2 जवानों सहित 31 पॉजिटिव

बारिश-तूफान के बीच एक पेड़ जमींदोज, तीन आए चपेट में, तीन Shops चार कारें क्षतिग्रस्त

PTA टीचर नियमितीकरण मामले में हाईकोर्ट का सरकार से जवाब-तलब

कोरोना अपडेटः Himachal में आज 3 नए मामले, 6 जिलों के 18 हुए ठीक

CM Security से बदले सुशील कुमार अब होंगे ASP शिमला

कैबिनेटः हिमाचल के Colleges में परीक्षाओं की तय हो गई तारीख, और भी बहुत कुछ

Cabinet: सेना और अर्द्ध सैनिक बलों की वर्दी पहनने के इच्छुक युवाओं को तोहफा

loading...
Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

HP : Board

ICSE की 10वीं और ISC की 12वीं परीक्षा का रिजल्ट हुआ आउट: यहां चेक करें

कल दोपहर 3 बजे घोषित होगा ICSE की 10वीं और ISC की 12वीं परीक्षा का रिजल्ट

बड़ी खबरः अब 12 को नहीं होगी D.El.Ed CET प्रवेश परीक्षा, कब होगी-जानिए

हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने TET के लिए आवेदन तिथि बढ़ाई, कल तक कर सकते हैं आवेदन

CBSE ने सिलेबस से हटाए राष्ट्रवाद, Secularism जैसे Chapters,और भी बहुत कुछ

HRD मंत्री का ऐलान: CBSE कक्षा 9 से 12वीं तक के सिलेबस को 30% तक करेगा कम

हिमाचल में B.Ed करने के इच्छुकों के लिए राहत देने वाली है ये रपट, क्लिक करें

UGC के निर्देश : सितंबर के अंत तक करवानी होंगी UG Final Semester की परीक्षाएं, और भी बहुत कुछ, जानें

Kendriya Vidyalaya: फेल नहीं होंगे 9वीं-11वीं के छात्र; बिना परीक्षा के प्रोजेक्ट वर्क के जरिए होंगे प्रोमोट

हिमाचल के स्कूलों में Morning Prayer सभा एक जैसी हो, शिक्षा बोर्ड कर रहा तैयारी

SOS अगस्त व सितंबर की परीक्षाओं के ऑनलाइन पंजीकरण की तिथियां घोषित

CBSE ने टीचर्स के लिए शुरू किए Online कोर्स: यहां देखें डीटेल्स

Himachal में अध्यापकों को 12 तक छुट्टियां; 13 से होगी Online पढ़ाई शुरू

HPU सहित प्रदेश के 17 Colleges को मिलेगा कुल 27 करोड़ का ग्रांट; जानें किसके हिस्से में कितना

HPBOSE: SOS का 10वीं व 8वीं कक्षा का Result Out, दसवीं में  32.07 फीसदी हुए पास


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है