देशभर में गूंजी कुमार विश्वास की कविता ‘है नमन उनको’, सुनकर हो जाएंगे भावुक

यूट्यूब पर भी काफी छाई कविता

देशभर में गूंजी कुमार विश्वास की कविता ‘है नमन उनको’, सुनकर हो जाएंगे भावुक

- Advertisement -

नई दिल्ली। देशभर में आजादी (freedom) का 73 वीं जश्न मनाने की तैयारियां चल रही हैं, साथ ही स्वतंत्रता सेनानियों (Freedom fighters) को याद किया जा रहा है। देशभर में आजादी के तराने गूंज रहे हैं। इसी मौके पर कवि (poet) कुमार विश्वास ने एक ऐसी कविता सुनाई जिसे सुन सभी भावुक हो गए। कवि कुमार विश्वास की यह कविता ‘है नमन उनको’ यूट्यूब पर भी काफी छाई हुई है। बता दें इस कविता को कुमार विश्‍वास ने कई मंचों पर सुनाया है और जहां भी उन्होंने ये कविता सुनाई वहां मौजूद श्रोताओं की आंखें नम हो गईं। हालांकि यूट्यूब (Youtube) पर कुमार विश्‍वास ने इस कविता को बीते साल अगस्‍त में अपलोड किया था जिसके अब तक 45 लाख से ज्‍यादा व्युअर हो गए हैं।


यह भी पढ़ें :-बिग बॉस 13: प्रोमो शूट की तस्वीरें आईं सामने, दिखा सलमान का अलग अंदाज

ये हैं कविता के बोल :

है नमन उनको, कि जो यश-काय को अमरत्व देकर
है नमन उनको कि जो देह को अमरत्व देकर
इस जगत में शौर्य की जीवित कहानी हो गये हैं
है नमन उनको कि जिनके सामने बौना हिमालय
जो धरा पर गिर पड़े पर आसमानी हो गये हैं

पिता जिनके रक्त ने उज्जवल किया कुलवंश माथा
मां वही जो दूध से इस देश की रज तौल आई
बहन जिसने सावनों में हर लिया पतझर स्वयं ही
हाथ ना उलझें कलाई से जो राखी खोल लाई
बेटियां जो लोरियों में भी प्रभाती सुन रहीं थीं
पिता तुम पर गर्व है चुपचाप जाकर बोल आये
है नमन उस देहरी को जहां तुम खेले कन्हैया
घर तुम्हारे परम तप की राजधानी हो गये हैं
है नमन उनको कि जिनके सामने बौना हिमालय ….

हमने लौटाये सिकन्दर सर झुकाए मात खाए
हमसे भिड़ते हैं वो जिनका मन धरा से भर गया है
नर्क में तुम पूछना अपने बुजुर्गों से कभी भी
उनके माथे पर हमारी ठोकरों का ही बयां है
सिंह के दाँतों से गिनती सीखने वालों के आगे
शीश देने की कला में क्या अजब है क्या नया है
जूझना यमराज से आदत पुरानी है हमारी
उत्तरों की खोज में फिर एक नचिकेता गया है

है नमन उनको कि जिनकी अग्नि से हारा प्रभंजन
काल कौतुक जिनके आगे पानी पानी हो गये हैं
है नमन उनको कि जिनके सामने बौना हिमालय
जो धरा पर गिर पड़े पर आसमानी हो गये हैं
लिख चुकी है विधि तुम्हारी वीरता के पुण्य लेखे
विजय के उदघोष, गीता के कथन तुमको नमन है
राखियों की प्रतीक्षा, सिन्दूरदानों की व्यथाओं

देशहित प्रतिबद्ध यौवन के सपन तुमको नमन है
बहन के विश्वास भाई के सखा कुल के सहारे
पिता के व्रत के फलित माँ के नयन तुमको नमन है
है नमन उनको कि जिनको काल पाकर हुआ पावन
शिखर जिनके चरण छूकर और मानी हो गये हैं
कंचनी तन, चन्दनी मन, आह, आँसू, प्यार, सपने
राष्ट्र के हित कर चले सब कुछ हवन तुमको नमन है

है नमन उनको कि जिनके सामने बौना हिमालय
जो धरा पर गिर पड़े पर आसमानी हो गये

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

मौसम की मारः  824 सड़कें अभी भी बंद, एचआरटीसी को 452 करोड़ का घाटा

बीच मानसून सत्र कल हमीरपुर क्यों आ रहे सीएम जयराम ठाकुर- जानिए

कैबिनेट की बैठक खत्म, इन मुद्दों पर हुई चर्चा-यह लिए निर्णय

चुइंगम खाने से इंकार किया तो पत्नी को दिया तीन तलाक, मामला दर्ज

धारा 118 पर  राठौर बोले, प्रदेश को दूसरे राज्य के पूंजीपतियों के हाथों बिकने नहीं देंगे

पार्टी कार्यक्रम से नदारद रहने वाले "सुधीर" अभी धर्मशाला से कांग्रेस प्रत्याशी नहीं

हिमाचल में आई प्राकृतिक आपदाओं के लिए केंद्र ने मंजूर की अतिरिक्त सहायता राशि

मानसून सत्रः भाखड़ा बांध विस्थापितों को लेकर जयराम की बड़ी घोषणा

सदन में बोले जयरामः बरसात में हुईं 63 मौतें, 626 करोड़ का नुकसान-केंद्र से मांगेंगे मदद

सिंघा बोले- बारिश से तबाही आम आपदा नहीं, बल्कि राष्ट्रीय आपदा- केंद्र करे मदद

प्राइमरी स्कूल में 8 साल की छात्रा से जलवाहक ने की छेड़छाड़-गिरफ्तार

सीएम जयराम के PSO का FB अकाउंट हुआ हैक, डाली 'पाकिस्तान जिंदाबाद' वाली पोस्ट

हिमाचल: बाढ़ में फंसी मलयालम एक्ट्रेस, खाने के पड़ गए थे लाले-पढ़ें पूरी खबर

महेंद्र ठाकुर बोलेः विधायक होते पुलिस ने पीटा, जेल में डाला-क्या भूल गई कांग्रेस

मेजबान की मजबूरीः धर्मशाला में कांग्रेस के कार्यक्रम के बीच पढे़ं सुधीर शर्मा की पाती

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है