Covid-19 Update

3744
मामले (हिमाचल)
2402
मरीज ठीक हुए
17
मौत
24,11,547
मामले (भारत)
20,850,291
मामले (दुनिया)

‘खातरी’ की खातिर आईपीएच मंत्री ने खुद उठाई कुदाली और बेलचा

आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने धर्मपुर से शुरू किया जल स्त्रोतों का सफाई अभियान

‘खातरी’ की खातिर आईपीएच मंत्री ने खुद उठाई कुदाली और बेलचा

- Advertisement -

मंडी। अस्तित्व की जंग लड़ रहीं खातरी को बचाने की खातिर आईपीएच मंत्री महेंद्र ठाकुर ने खुद कुदाली और बेलचा उठाया। प्राचीन खातरी के भीतर जाकर जमा गाद को निकाला। बता दें कि आईपीएच मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर (IPH Minister Mahender Singh Thakur) ने खुद कुदाली और बेलचा उठाकर प्राकृतिक व दूसरे जल स्त्रोतों (Water Sources) के सफाई अभियान (Cleaning Campaign) की शुरूआत की।


यह भी पढ़ें: सुंदरनगरः एक माह पहले बीएसएल नहर में कूदे युवक का मिला शव

 

उन्होंने अपने गृह विधानसभा क्षेत्र धर्मपुर के कोट गांव के जल स्त्रोत की सफाई की। यहां उन्होंने प्राचीन खातरी के भीतर जाकर उसमें जमा गाद को कुदाली से खोदा और फिर बेलचे से तरकारी में भरकर बाहर निकाला। इसके बाद उन्होंने गांव की बावड़ी के पास जाकर उसमें ब्लीचिंग पाउडर (Bleaching Powder) डाला और उसके आस पास फैली गंदगी को साफ किया। मंत्री को खुद काम करता देख अधिकारी भी सफाई अभियान में जुट गए। वहीं, स्थानीय लोगों ने भी इस कार्य में अपना पूरा योगदान दिया।

महेंद्र सिंह ठाकुर ने बताया कि देश के पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने जल संग्रहण पर काम करने का आहवान किया है और उसी दिशा में हिमाचल प्रदेश में इस कार्य को शुरू किया गया है। उन्होंने बताया कि हिमाचल प्रदेश के चंगर क्षेत्र में पहले के जमाने में जल संग्रहण के लिए खातरियां बनाई जाती थी जो आज उचित रख रखाव न होने के कारण मिटती जा रही हैं।

उन्होंने कहा कि इन खातरियों का दोबारा से इस्तेमाल हो सके, इसके लिए इनकी सफाई का अभियान छेड़ा गया है। वहीं प्रदेश के जितने भी प्राकृतिक जल स्त्रोत हैं उन सभी की सफाई करने का आदेश संबंधित विभाग और पंचायतों को दे दिया गया है। उन्होंने लोगों से भी इस कार्य में बढ़चढ़ कर अपना सहयोग देने की अपील की है।

जल संग्रहण में मिसाल बनेगा हिमाचल

महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) जल संग्रहण के मामले में एक मिसाल बनकर उभरेगा। आज हिमाचल पड़ोसी राज्यों की प्यास भी बुझा रहा है और वहां के खेतों पर हरियाली भी ला रहा है। आने वाले समय में यह सिलसिला और बढ़ेगा। महेंद्र सिंह ठाकुर ने बताया कि प्रदेश के जितने भी नदी नाले हैं उनके संकरे स्थानों पर जल संग्रहण की योजना बनाई जा रही है और इसके लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं, ताकि वर्षा के जल को अधिक से अधिक मात्रा में संग्रहित किया जा सके।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

loading...
loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

















सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है