Covid-19 Update

44,405
मामले (हिमाचल)
35,403
मरीज ठीक हुए
711
मौत
9,608,418
मामले (भारत)
66,501,425
मामले (दुनिया)

घर खर्च निकालने के लिए चिकन बेच रहा नेशनल Gold Medalist, नहीं मिल रही सरकार से मदद

घर खर्च निकालने के लिए चिकन बेच रहा नेशनल Gold Medalist, नहीं मिल रही सरकार से मदद

- Advertisement -

नई दिल्ली। अपनी प्रतिभा के दम पर नेशनल लेवल तक जाने और देश के लिए गोल्ड मेडल (Gold Medal) जीतने वाले खिलाड़ी लॉक डाउन में अपना घर चलाने के लिए मुर्गा बेचने के लिए मजबूर हैं। घर में इस समय खाने-पीने की बड़ी किल्लत है लेकिन इस खिलाड़ी को सरकार की तरफ से भी कोई मदद नहीं मिल पा रही है। हम बात कर रहे हैं झारखंड के सरायकेला-खरसावां (Saraikela) जिले के गोल्ड मेडलिस्ट तीरंदाज अनिल लोहार (Gold Medalist Archor Anil Lohar) की। देश के लिए गोल्ड लेकर आने के बाद भी यह गरीबी में जिंदगी जीने को मजबूर हैं। कोरोना के चलते घर में पानी की भी किल्लत है ऐसे में वह पीने के पानी के लिए घर में कुआं खोद रहे हैं।

यह भी पढ़ें: भारत को पाव-आधे पाव Atom Bomb की धमकी देने वाले Pakistan के बड़बोले मंत्री को हुआ कोरोना

घर पर खोद लिया 20 फ़ीट गहरा कुआं

सरायकेला स्थित गम्हरिया प्रखंड के पिण्ड्राबेड़ा निवासी अनिल लोहार को कोरोना काल में पीने के पानी के लिए दिक्कत आ रही थी उन्हें एक स्कूल में लगे हैंडपंप से पानी लाना पड़ता था लेकिन, इसके बाद उन्होंने खुद अपने घर में कुआं खोदने की बात सोची। वह पिछले 25 दिन से खुदाई कर रहे हैं, अब तक वह करीब 20 फ़ीट गहरा कुआं खोद चुके हैं।

यह भी पढ़ें: J&K: सुरक्षाबलों ने शोपियां में मार गिराए 4 आतंकवादी, 24 घंटे के अंदर 9 Terrorist ढेर

नेशनल तीरंदाजी प्रतियोगिता में जीता था गोल्ड मेडल

वहीं, उनकी तीरंदाजी की बात करें तो अनिल लोहार कोरोना से पैदा हुए हालातों के बाद भी तीरंदाजी कर रहे हैं। गौर हो, उन्होंने पिछले साल मार्च में ओडिशा में हुई नेशनल तीरंदाजी प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल जीता था। उन्होंने सरायकेला के रतनपुरा स्थित तीरंदाजी एकेडमी में उन्होंने शुरुआत की थी। उनका कहना है कि उन्हें लगता था कि तीरंदाजी में इतना सफल होने के बाद उन्हें सरकारी नौकरी मिल जाएगी। लेकिन अभी तक उन्हें नौकरी नहीं मिली है। अब घर का खर्चा चलाने के लिए मुर्गे की दुकान खोल ली।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है