पाकिस्तान: हिंदू लड़कियों के जबरन धर्मांतरण के आरोपों को हाईकोर्ट ने नकारा

दोनों हिंदू लड़कियों को उनके पति के साथ रहने की इजाजत

पाकिस्तान: हिंदू लड़कियों के जबरन धर्मांतरण के आरोपों को हाईकोर्ट ने नकारा

- Advertisement -

इस्लामाबाद। पाकिस्तान की हाईकोर्ट (High Court) ने दो हिंदू लड़कियों को बंदूक की नोंक पर जबरन धर्मांतरण (Forced Conversion) करने के आरोपों को खारिज कर दिया है। इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने हिंदू लड़कियों- रीना और रवीना को बालिग मानते हुए उन्हें उनकी मर्जी से पति के साथ जाने की इजाज़त दे दी है। कोर्ट ने कहा है कि इन लड़कियों की उम्र 18 साल से ऊपर है, साथ ही उनके जबरन धर्मांतरण को लेकर कोई पुख़्ता सबूत नहीं हैं।


यह भी पढ़ें: पाकिस्तान के सिंध में एक और हिंदू लड़की को किया अगवा, पिता ने दर्ज कराई रिपोर्ट

पिछली सुनवाई के बाद कोर्ट ने एक इस मामले की जांच के लिए पूछताछ आयोग का गठन किया था। रीना और रवीना (Rina and Raveena) के पिता हरी लाल ने आरोप लगाया था कि उनकी बेटियों को बंदूक़ के ज़ोर पर अग़वा (Kidnap) कर लिया गया था। लड़की के पिता ने दावा किया था कि उनकी दोनों बेटियां नाबालिग़ (Minor) हैं, जिनकी उम्र 13 और 15 साल है।

यह भी पढ़ें: पाक में दो हिंदू लड़कियों का अपहरण, जबरन धर्म परिवर्तन कराके हुआ निकाह, भारत ने मांगी रिपोर्ट

बेटियों ने पिता के आरोपों को नकारा

ये घटना होली के एक दिन पहले पाकिस्तान के सिंध प्रांत (Sindh Province) की है। दरअसल एक वीडियो क्लिप सामने आया था, जिसमें रीना और रवीना के पिता हरी लाल कह रहे हैं, ‘वो बंदूक़ लेकर आए और उन्होंने मेरी बेटियों को अग़वा कर लिया। इस बात को आठ दिन हो गए हैं और अभी तक इस मामले में कुछ नहीं हुआ है।’ 26 मार्च को जब ये लड़कियां इस्लामाबाद कोर्ट में हाज़िर हुई तो उन्होंने बताया कि वे बालिग़ हैं। दोनों लड़कियों ने इस्लामाबाद हाईकोर्ट (Islamabad High Court) के मुख्य न्यायाधीश से कहा कि उनकी उम्र 18 और 20 साल हो रही है और उन्होंने अपनी मर्ज़ी से इस्लाम (Islam) धर्म को अपनाया है।

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group … 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है