तीर्थन घाटी में पेखड़ी फागली में दिखी प्राचीन परंपरा की झलक

विशेष व्यंजन चिलड्डू बनता है पूरे गांव में

तीर्थन घाटी में पेखड़ी फागली में दिखी प्राचीन परंपरा की झलक

- Advertisement -

कुल्लू।बंजार उपमंडल के तहत तीर्थन घाटी ( Tirthan Valley) के पेखड़ी गांव में पेखड़ी फागली उत्सव ( मुखौटा उत्सव) का समापन हो गया। फागली उत्सव (Fagli festival) में पेखड़ी गांववासियों, तीर्थन घाटी के लोगों व बाहरी राज्यों से आए पर्यटकों ने शिरकत की। इस उत्सव में पेखड़ी गांव के सात अलग-अलग परिवार के पुरुष सदस्य विशेष किस्म के प्राचीनतम मुखौटे लगाते है। तीन दिन तक ये गाजे बाजे के साथ हर घर व गांव की परिक्रमा करते हैं।


यह भी पढ़ें : दलाईलामा बोले, तिब्बतियों ने संरक्षित रखा नालंदा परंपरा से प्राप्त प्राचीन भारतीय ज्ञान

अंतिम दिन देव पूजा-अर्चना के पश्चात देवता के गुर के माध्यम से राक्षसी प्रवृत्ति, प्रेत आत्माओं को गांव से बाहर दूर भगाने की परंपरा निभाई जाती है। इस उत्सव में कुछ स्थानों पर स्त्रियों को नृत्य देखना वर्जित होता है क्योंकि इस में अश्लील गीतों के साथ गालियां देकर अश्लील हरकतें भी की जाती है। पहले दिन छोटी फागली मनाई जाती है. जिसमें एक सीमित क्षेत्र तक ही नृत्य एवं परिक्रमा की जाती है और दूसरे दिन बड़ी फागली का आयोजन होता है जिसमे मुखौटे पहने हुए मंदयाले गांव के हर घर में प्रवेश करके लोगों को सुख समृद्धि का आशीर्वाद देते है। इस दिन पूरे गांव में एक विशेष व्यंजन चिलड्डू बनाया जाता है तथा शाम के समय देवता मैदान में भव्य नाटी का आयोजन होता है जिसमें स्त्री व पुरुष साथ साथ नृत्य करते है।

इस बार पेखड़ी फागली उत्सव का फिल्मांकन राष्ट्रीय फैशन एवं टेक्नोलॉजी संस्थान ( National Institute of Fashion and Technology) से आए छात्र-छात्राओं की टीम द्वारा किया गया है जो हिमाचल प्रदेश के सभी जिलों की संस्कृति, रहन सहन, रीति रिवाज व वेशभूषा पर रिसर्च कर रहे है। कुल्लू जिला में इस टीम ने तीर्थन घाटी को चुना है। फ़िल्म मेकर शाश्वत कौशल का कहना है कि उनकी टीम हिमाचल प्रदेश पर्यटन विभाग के प्रॉजेक्ट पर कार्य कर रही है जो हिमाचल के सभी जिलों की संस्कृति का अध्यन करके इसकी लघु फ़िल्म पर्यटन विभाग को पेश करेंगे। तीर्थन संरक्षण एवं पर्यटन विकास एसोसिएशन के प्रधान वरुण भारती का कहना है कि यहां की प्राचीनतम संस्कृति का प्रचार प्रसार डिजीटल प्लेटफार्म पर किया जाएगा ताकि यहां आने वाले पर्यटक भी इससे रूबरू हो सके।
पेखड़ी फाग

हिमाचल अभी अभी की मोबाइल एप अपडेट करने के लिए यहां क्लिक करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

मौसम: भारी बारिश लगी रंग दिखाने, कहीं पेड़ गिरे तो कहीं मकान- दुकानों में भी घुसा पानी

बिग ब्रेकिंगः हिमाचल में अफसरशाही की फेंट के साथ ट्रांसफर पर लगी रोक

भागसूनागः लैंडस्लाइड में गंभीर घायल 8 माह की बच्ची की टांडा में मौत

यहां भरे जाएंगे कॉलेज प्रवक्ता और शास्त्री अध्यापकों के 10 पद, जाने क्या है योग्यता

जमीनी विवाद को लेकर भिड़े दो गुट, एक का फूटा सिर-आधा दर्जन घायल

हादसेः सोलन में जीप तो हमीरपुर में गिरा ट्रक, एक की मौत-दो घायल

दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित का निधन, राहुल बोले- खबर से टूट गया हूं

सत्ती बोलेः घर पर बैठी हुई थीं इंदु, हमने बनाया महिला मोर्चा की प्रदेशाध्यक्ष

विवादों के बीच शिमला में जयराम से मिले ध्वाला, क्या हुई बात-जानिए

शिक्षा बोर्ड ने एसओएस परीक्षाओं के लिए पंजीकरण तिथियों का किया ऐलान

कार से उतरते ही टाटा सूमो से टकराई 4 साल की मासूम, मौत

हिमाचल-हरियाणा समेत चार राज्यों में डोली धरती, जानें कितनी थी तीव्रता

छात्रा को मैसेज कर करता था परेशान, परिजनों ने कॉलेज पहुंचकर की धुनाई

यूपी में राम नाईक की जगह "इस बड़े नाम वाली महिला" को बनाया गया राज्यपाल

कांग्रेस कार्यालय से चंद कदम पर "प्रियंका मसले" पर प्रदर्शन,मोदी-योगी सरकार के खिलाफ नारेबाजी

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है